Yeh Rishta Kya Kehlata Hai Written Update 10 December 2019 In Hindi

Yeh Rishta Kya Kehlata Hai Written Update 10 December 2019 में आप सब देखेंगे कि कैसी है कार्तिक नायरा को घर के पीछे बुलाता है और उससे कहता है कि मैं यह चाहता हूं कि तुम्हारे पैरों के निशान इस बोर्ड पर आ जाए और हम दोनों कभी भी एक दूसरे से अलग ना हो पाए नायरा की आंखों में यह सुनकर आंसू आ जाते हैं और वह कार्तिक से कहती है कि तुम्हें क्या लगता है तुम ही मुझसे प्यार करते हो बल्कि मैं भी तुमसे बहुत ज्यादा प्यार करती हूं शायद तुमसे भी ज्यादा इसलिए जीत और तुम क्या समझते हो कि तुम ही मुझे अपने पास रखना चाहते हो बल्कि मैं भी तुम्हें अपने पास रखना चाहती हूं इसलिए वोट पर सिर्फ मेरे ही पैरों के निशान नहीं रहेंगे बल्कि हम दोनों साथ मिलकर इस बोर्ड पर अपने-अपने निशान बनाएंगे ताकि हम दोनों एक दूसरे से कभी भी अलग ना हो सके कार्तिक और नायरा और सपोर्ट पर खड़े हो जाते हैं और अपने पैरों के निशान वोट पर बना देते हैं ।

Advertisement

दादी जब अपने कमरे में होती है तभी उसकी नजर नायरा और कार्तिक पर पड़ जाती है और वह उन दोनों को देखकर अपसेट हो जाती है तभी वहां पर कार्तिक की मां आ जाती है दादी की शक्ल को देखकर कार्तिक की मां दादी से कहती है कि क्या हुआ जी मैं आपको सुबह से ऐसे ही देख रही हूं आप कुछ परेशान से लग रही हैं आप मुझे बता सकती हैं पहले तो दादी मना करती है लेकिन उसके बाद कार्तिक की मां को बता देती है कि पता नहीं मुझे क्यों इतनी बेचैनी हो रही है ऐसा लग रहा है कि कुछ गलत होने वाला है कार्तिक की मां दादी को समझाती है कि मुझे लगता है आप कुछ ज्यादा ही सोच रही है इसलिए आप को ऐसा लग रहा है ऐसा कुछ भी नहीं होगा सब कुछ अच्छा ही होगा दादी बताती है कि मैंने नायरा और कार्तिक को देखा वह एक साथ थे कार्तिक की मां दादी से पूछती है कि क्या आपको उन दोनों को साथ देखकर अच्छा नहीं लगा दादी कहती है कि नहीं ऐसा नहीं है मुझे बहुत ही अच्छा लगा उन दोनों को साथ देकर लेकिन पता नहीं मुझे बेचैनी क्यों हो रही है कि आगे बहुत ही ज्यादा गलत होने वाला है

Advertisement

Also Read – Yeh Rishta Kya Kehlata Hai Latest News

कार्तिक की मां दादी को समझाती है कि आप मेरा यकीन मानिए कि ऐसा कुछ भी नहीं होगा दादी कार्तिक की मां से कहती है कि मुझे ऐसा लग रहा है हमने वेदिका का दिल जिस तरह से दुखाया है उसकी सजा कहीं ऐसा ना हो भगवान कार्तिक और नायरा को दें लेकिन मैं यह चाहती हूं कि अगर भगवान उसकी सजा भी दे रहा है तो सिर्फ वह सजा मुझे कार्तिक की मां कहती है कि ऐसा कुछ भी नहीं है हमारी आप कुछ ज्यादा ही सोच रही हैं कार्तिक से अलग होने का डिसीजन किसी और का नहीं बल्कि खुद वेदिका का था किसी ने भी उसे इस डिसीजन के लिए फोर्स नहीं किया यह फैसला उसने खुद लिया था अगर आप ऐसा लग रहा है कि वैदिक आप सेट हो सकती है तो आप कल कोर्ट में तो हम उससे मिली रहे हैं आप वहां पर यू से बात कर लेना लेकिन मुझे ऐसा लगता है वेदिका अब तक तो सब कुछ भूल चुकी होगी।

Advertisement

वेदिका जब कमरे में बेटी होती है कार्तिक के बारे में सोच सोच कर रोने लगती है और पुरानी बातों को सोच कर मुस्कुराने लगती है तभी उसे नायरा और कार्तिक याद आ जाते हैं और वह फिर से रोने लगती है कितनी देर में वेदिका को पल्लवी की बातें याद आने लगती है कि तुझे अपने हक के लिए लड़ना चाहिए था वेदिका जैसे ही वहां पर तलाक के पेपर से देखती है तो और भी ज्यादा रोने लगती है कार्तिक के बारे में सोच सोच कर नायरा और कार्तिक मंदिर में जाते हैं और मंदिर में भगवान के आगे अपने रिश्ते के लिए प्रार्थना करने लगते हैं तभी वहां पर वेदिका उन दोनों को देख लेती है और अपसेट हो जाती है और उसकी आंखों में आंसू आ जाते हैं नायरा और कार्तिक वहां से जब जा रहे होते हैं तभी नायरा को वेदिका वहां पर खड़ी हुई दिखाई दे जाती है नायरा कार्तिक को रोकती है और उसे बताती है कि मैंने यहां पर अभी दीदी का को देखा है लेकिन इतनी देर में ही वेदिका वहां से छुप जाती है कार्तिक नायरा से कहता है कि यहां पर तो वेदिका नहीं है लेकिन नायरा कार्तिक से कहती है कि मेरा यकीन मानो मैंने यहीं पर वेदिका को देखा है।

कार्तिक नायरा से कहता है कि तुम घर जाने के बाद क्यों कर रही हो प्लीज तुम घर मत जाओ मैं तुम्हारे बगैर एक पल भी नहीं रह सकता नायरा कार्तिक से कहती है कि शादी से पहले मैं अपने मायके में रहना चाहती हूं तुम क्या चाहते हो कि मैं अपने परिवार के संग जरा भी टाइम ना बताऊं कार्तिक इसके बाद नायरा से कहता है कि हमें घर जल्दी चलना चाहिए क्योंकि घर पर कायर्व हम दोनों का इंतजार कर रहा होगा वेरी गजब उन दोनों को साथ देखती है तो उसे डॉक्टर पल्लवी की बातें याद आने लगती हैं और वह सोच में पड़ जाती है वंश के दादाजी के घर से फोन आता है और वह सब को बताते हैं कि दादाजी खत्म होने वाले हैं और वह मरने से पहले अपने पोते से मिलना चाहते हैं सारे घर वाले गायों को यह सारी बातें बताते हैं वंश के पिता गायों से कहते हैं कि तुम वंश को लेकर उनके घर चली जाओ क्योंकि आखिर उन्हीं का खून है गायू अपने मन में कहती है कि आखिरकार तुमने मौका देखकर सबके सामने ताना मार ही दिया तभी वहां पर नायरा और कार्तिक आ जाते हैं कार्तिक गायों से कहता है कि अगर उनकी इस तरह से हालत खराब है और वह आखिरी बार वंश को देखना चाहते हैं तो आपको वहां पर जाना चाहिए गाय यू सब से कहती है कि हां मैंने सब की बात सुन ली है और कौन क्या चाहता है जी भी मुझे पता लग चुका है इतना कह कर गई हूं वहां से चली जाती है।

नायरा गायु के पीछे आती है और गायों से पूछती है कि आखिर बात क्या है गायु कहती है कि तुमने सुना ना क्या कहना चाहते थे समझे चाहते हैं कि मैं वंश को लेकर उसके परिवार में चली जाऊं इतना कह कर गई हूं वहां से भी चली जाती है तब वहां पर कार्तिक की चाची नायरा के पास आती है और नायरा को बताती है कि नक्श तुम्हें लेने के लिए जहां पर आ चुका है कायर्व जब जाने की तैयारी कर रहा होता है तभी कार्तिक कायर्व से कहता है कि तुम मम्मी पापा की साइड से ही शादी में रहना लेकिन कायर्व कहता है कि नहीं मैं अपनी मां के साथ ही रहूंगा कार्तिक पूछता है कि ऐसा क्यों कायर्व कहता है कि आपने पहले से मुझसे नहीं कहा इसलिए कार्तिक कहता है कि तो ठीक है वंश मेरी तरफ से आ जाएगा कायर्व कहता है कि वंश भैया शादी तक तो आ जाएंगे।

कार्तिक नायरा कोर्ट में वेदिका का वेट कर रहे होते हैं वकील परिवार वालों को बताता है कि आप चिंता मत कीजिए यह केस ज्यादा नहीं खींच पाएगा क्योंकि इस केस में ना ही कोई मांग है सिंपल केसे और इसके स्कोर खत्म होने के लिए ज्यादा से ज्यादा से 6 महीने का ही वक्त लगेगा सारे घर वाले यह बात सुनकर चौंक जाते हैं और उसे कहते हैं कि इतना टाइम नहीं लगना चाहिए वकील बताता है कि मैं सिर्फ यह आपको यूं ही बता रहा हूं वैसे तो इससे कम वक्त में भी काम हो सकता है आप सब यहां पर आ चुके हैं लेकिन वेदिका अभी तक यहां पर नहीं पहुंची है उन्हें जल्दी पहुंचने के लिए कहिए क्योंकि मुझे कार्तिक और वेदिका से कुछ बात करनी है और वही सब उन्हें कोर्ट में कहने होंगी।

कार्तिक के पिता कार्तिक को अपने पास बुलाते हैं और कार्तिक से कहते हैं कि तुम वेदिका को फोन लगाओ वह अभी तक यहां पर क्यों नहीं पहुंची हमें वेदिका को हमें साथ ही लाना चाहिए था वंश बताता है कि नहीं मैंने उसे फोन करके पूछा था कि मैं उसे घर पर लेने के लिए आ जाऊं लेकिन उसने मुझ से मना कर दिया और कहा कि मैं खुद ही आ जाऊंगी काफी टाइम इंतजार करने के बाद वहां पर वेदिका नहीं पहुंचती डॉक्टर पल्लवी से जब बात की जाती है डॉक्टर पल्लवी भी बताती है कि वेदिका तू यहां से टाइम पर ही निकल गई थी सारे घर वाले वेदिका की चिंता कर रहे होते हैं दादी अपनी घबराहट को लेकर और भी ज्यादा घबराने लगती है तभी वहां पर वकील आता है और घरवालों से कहता है कि कोर्ट में वेदिका जी को टाइम पर पहुंच जाना चाहिए था क्योंकि कोर्ट हमारे टाइम से नहीं चलता बल्कि कोर्ट के टाइम से हम सब चलते हैं।

तभी वहां पर वेरी का कार्तिक और नायरा कहते हुए आ जाती है और सारे घर वालों को देखने लगती और माफी मांगती है और सबको बताती है कि मुझे माफ कर देना मैं टाइम से पहले ही निकल गई थी लेकिन वह रास्ते में मुझे एक रैली मिल गई और मुझे दूसरा रास्ता लेना पड़ा और ड्राइवर तो रास्ते को भूल गया जैसे तैसे गलियों में से हम यहां पर पहुंचे हैं वेदिका शव को कोर्ट में चलने के लिए कहती है तभी वकील कहता है कि एक बार मैं अंदर जाकर पूछ लेता हूं वकील वहां से अंदर चला जाता है दादी के मन में ख्याल आता है कि ऐसा तो नहीं सीधी का सबसे झूठ बोल रही है उसने जानबूझकर लेट किया है मेरी का के दिमाग में कुछ और ही चल रहा हूं नायरा के घर पर कायर्व शादी की डेट निकलवाने की बात करता है और जल्दी की डेट निकालने के लिए पंडित जी से बोल देता है तभी पंडित जी 1 हफ्ते के अंदर ही शादी की डेट निकाल देते हैं लेकिन इतनी देर में नायरा वहां पर पहुंच जाती है और कायर्व से मना कर देती है कि इतनी जल्दी ही शादी नहीं हो सकती सारे घर वाले यह बात सुनकर चौक जाती हैं।

Yeh Rishta Kya Kehlata Hai Written Update in hindi Today Episode

Advertisement