Kasauti Zindagi Ki – Written Update – 6 December 2019

Kasauti Zindagi Ki Written Update 6 december 2019 Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे अनुराग प्रेरणा की सच्चाई जानने के लिए प्रेरणा के घर चला जाता है और वहां पर जाकर प्रेरणा के हस्बैंड के बारे में पता लगाने की कोशिश करता है आइए देखते हैं कैसे अनुराग के घर में जब पार्टी चल रही होती है तभी पार्टी के दौरान वहां पर प्रेरणा और प्रेरणा की मां और से शिवानी भी आ जाते हैं तभी प्रेरणा की मां अनुराग की मां के साथ चली जाती है तभी अनुराग की मां प्रेरणा की मां को सूजन आने लगती है और उनसे कहती है कि आप अच्छी तरीके से जानती है कि आप की क्या औकात है फिर भी आप जहां पर चली जाती हैं वीना मोहिनी से कहती है कि यह बात तो आप अपने बेटे को समझाइए कि उसने हमारे घर पर आकर हमें इनवाइट ही क्यों किया और मुझसे जबरदस्ती क्योंकि कि मैं इस पार्टी में हूं उसने हमसे कहा कि मेरे पति जाने की राजेश अंकल इस कंपनी में काम किया करते थे तो उनका इस कंपनी में बहुत बड़ा योगदान है इसलिए उसने हमें उसने इनवाइट किया है अगर आपको समझाना ही है तो अपने बेटे को समझाइए जो हमारी बेटी के पीछे ही पड़ा रहता है।

Advertisement

मोहिनी से गुस्सा हो जाती है तभी वहां पर निवेदिता आ जाती है और मोहिनी को समझाती है कि आप भी कहां बातें लेकर बैठ गई है पार्टी का माहौल है और इतने सारे लोग आए हैं और आप यहां पर क्या कर रही हैं आप मेरे साथ चलिए वीणा मोहिनी और निवेदिता को कह दी है कि मैं तुम दोनों से एक बात पूछना चाहती हूं जबकि तुम दोनों जानती हो कि तुम सब के लिए इतना कुछ किया है और उसकी पेट में जो बच्चा है वह अनुराग का है उसका तो लिया कर लेती तभी वहां पर शिवानी आ जाती है मोहिनी इस बात को लेकर गुस्से में आ जाती है और निवेदिता से कहती है कि क्या निवेदिता कभी भी अनुराग ने हमसे कहा है कि प्रेरणा की कोख में जो बच्चा है वह उसका है तब यह बात सुनकर शिवानी और बीना गुस्से में आ जाती है।

Advertisement

बिना गुस्से में मोहिनी से कहती है कि मेरे अगर बस में रहेगा तो मैं कभी भी प्रेरणा के बच्चे को आपसे मिल नहीं नहीं दूंगी यह मेरा वादा है तभी इतना कहकर वहां से गुस्से में चली जाती है सोनालिका पार्टी में आ जाती है और वहां पर प्रेरणा को देख लेती है और प्रेम के पास आ जाती है कि चलो मेरे साथ प्रेरणा को लेकर सोनालिका अनुराग के पास आ जाती है अनुराग अपने क्लाइंट से सोनालिका को मिल जाता है और उसे अपनी बताता है प्रेरणा को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है सोनालिका प्रेरणा को अकेले में लेकर जाती है और प्रेरणा को जलाना शुरू कर देती है और उससे कहती है कि अब तुम्हें कैसा लगा जब अनुराग ने मुझे अपनी वाइफ कहा तुम्हें बहुत ही है ना बुरा लगा होगा प्रेरणा कहती है कि तुम्हें क्या लगता है कि तुम मुझे जलाने की कोशिश करोगी तो तुम कामयाब हो पाओगी सोनालिका प्रेरणा से कहती है कि तुमने मुझे बताया था कि अनुराग की वाइफ में हो सकती हूं लेकिन उसके दिल में आज भी तुम्हारे लिए ही प्यार है लेकिन अभी क्या हुआ कल के अखबारों में से अनुराग की वाइफ यानी कि मेरा नाम आएगा और तुम्हें सिर्फ एक फैक्ट्री के तौर पर ही सब लोग जानते हैं यहां तक कि घर वाले भी तुम्हें सेक्रेटरी ही मानते हैं।

अनुराग जब अकेले खड़ा रहता है तब वह कहते हैं कि अब घर पर कोई भी नहीं होगा अब मेरा वहां पर जाना सही होगा मैं वहां पर जाकर पता लगा लूंगा कि आखिर प्रेरणा का हस्बैंड है कौन अनुराग वहां से चुपचाप निकल जाता है तब प्रेरणा जब सोनालिका से बात कर रही होती है तभी उसकी नजर अपनी मां पर पड़ जाती है उसकी मां गुस्से में घर से बाहर जा रही होती है तभी प्रेरणा अपनी मां के पास आती है और उन्हें रोक दिया और उनसे पूछती है कि मैं आप कहां जा रही हैं क्या हुआ वीना प्रेरणा से कहती है कि मेरा यहां पर मन नहीं लग रहा है तभी बिना अपने मन में सोचने लगती है कि मैं प्रेरणा को यह नहीं बता सकती कि अनुराग के सारे घर वाले उसके बारे में क्या सोचते हैं प्रेरणा अपनी मां से कह दी है कि बस 15 मिनट का और काम है मैं भी आपके साथ ही चलती हूं बस थोड़ी देर और रुक जाइए वीना प्रेरणा की बात सुन लेती और वहां रुकने के लिए राजी हो जाती है प्रेरणा इतनी देर में वहां से चली जाती है।

Advertisement

Also Read – Kasauti Zindagi Ki – Written Update – 5 December 2019

वीना शिवानी से कहती है कि जो भी मोहिनी और निवेदिता ने हमसे जो भी बात कही है तुम प्रेरणा को मत बताना क्योंकि प्रेरणा प्रेग्नेंट है तो उसे इस बात को लेकर बुरा लग सकता है लेकिन मैं आज अपने आपसे एक वादा करती हूं कि प्रेरणा कि जब भी बची होगी यह लोग अपनी गलती को मानेंगे और मेरी बच्ची की शक्ल देखने के लिए तरसेंगे जब मैं इन्हें प्रेरणा की बेटी की शक्ल नहीं देखने दूंगी यह मेरा वादा है अनुराग जैसे प्रेरणा के घर पर पहुंचता है वहां पर जा कर देखता है कि वहां पर तो प्रेरणा का भाई भी है अब मैं क्या करूं तभी अनुराग खिड़की से अंदर जाने की कोशिश कर रहा होता है इतनी देर में निवेदिता का फोन अनुराग पर आ जाता है और रात से पूछती है कि आखिर तुम कहां हो अनाउंसमेंट भी करनी है क्लाइंट तुम्हारा वेट कर रहे हैं वह यहां से जाने ही वाले हैं तुम कहां पर हो अनुराग कहता है कि मैं अनाउंसमेंट के लिए कुछ पेपर लेने के लिए ऑफिस आया हूं प्रेरणा यह सारी बातें सुन रही होती है तभी वह निवेदिता से कहती है कि दी लेकिन वह सारे डॉक्यूमेंट तू मैं यहां पर पहले ही ले आई हूं वह पैसों के साथ ही रखे हुए हैं अनुराग कहता है कि निवेदिता दिया प्रेरणा को कह दीजिए कि वह पैसों में से उस कागज को निकाल ले सिर्फ आप प्रेरणा को यह सारी जिम्मेदारी देना निवेदिता प्रेरणा से कह देती है प्रेरणा पैसे वैसे उस कागज को निकालने के लिए कमरे में चली जाती है

अनुराग इतनी देर में कमरे में चला जाता है और तभी वहां पर आ प्रेरणा की भाभी आ जाती है और कहती है कि मैंने यहां पर अभी आवाज सुनी थी तभी प्रेरणा की भाभी खिड़की खुली हुई देती है तब वह कहती है कि आखिर क्यों खुल रही है वहां से चली जाती है अनुराग अलमारी के पास आता है और अलमारी को खोलकर देखने की कोशिश करता है लेकिन अलमारी का लॉक लग रहा होता है अनुराग कहता है कि अलमारी का तो लॉक लग रहा है इसकी चाबी कहां है अनुराग इधर उधर अलमारी की चाबी को ढूंढने के लिए लग जाता है और कहता है कि मैं इतने पास आकर अब हार नहीं मान सकता मैं पता लगा कर ही रहूंगा कि आखिर प्रेरणा का हस्बैंड कौन है मुझे लगता है मैं उसको अच्छी तरीके से जानता हूं मुझे लगता है प्रेरणा जानबूझकर अपने हस्बैंड को मुझसे छुपाने की कोशिश कर रही है।

प्रेरणा पैसों वाले कमरे में जैसे ही जा रही होती है तभी सोनालिका कहती है कि जो अब खेल खेल होने वाला है उसको देखने के लिए अनुराग को जहां पर होना चाहिए आखिर अनुराग है कहां सोनालिका अनुराग को इधर-उधर देखने लगती है प्रेरणा जैसे उस कमरे से पेपर को लेकर बाहर आती है तभी बाबर मोहिनी मिल जाती है मोहिनी ट्रेन रूकती है और उससे कहती है कि आखिर तुम यहां पर क्या कर रही थी और उसके हाथों से उन पेपरों को छीन लेती है और प्रेरणा से कहती है कि आखिर तुम क्या चाहती हो तुम्हें एक बात बताओ जब भी हमारे घर कोई पार्टी होती है तुम अपनी मां को क्यों ले आती हो तुम्हें पता भी है कि तुम्हारी मां ने मुझे कितना बुरा भला सुनाया है तुम अपनी मां को अच्छी तरीके से समझा देना कि मुझसे ऊंची आवाज में बात ना किया करें प्रेरणा यह बात सुनकर चौक जाती है।

मोहिनी प्रेरणा से कहती है कि तुमने जो भी अनुराग के साथ किया वह अच्छा नहीं किया पहले तो तुमने अनुराग को पैसों के लिए छोड़ दिया और वजह से जाकर शादी कर ले तभी प्रेरणा गुस्से में आ जाते हैं और मोहिनी से कहती है कि आप भी अच्छी तरीके से जानती है कि मैं अनुराग से कितना प्यार करती हूं तभी वहां पर सोनालिका आ जाती है और वहां से रास्ता लेकर अपने कमरे में चली जाती है तभी इस प्रेरणा प्रेरणा मोहिनी से कहती है कि आप जानती है कि मैं अनुराग से कितना प्यार करती हूं और जो भी मैंने किया वह सिर्फ आपके लिए ही किया था क्योंकि आपने ही मुझसे कहा था कि मैं किसी भी हालत में अनुराग को चुनाव चाहे उसके लिए मुझे कुछ भी करना पड़े और मैंने जो भी किया अनुराग के लिए किया आपको सोनालिका की अच्छाई तो दिखाई देती है कि उसने अनुराग को बचाया लेकिन मेरी नहीं मैंने भी तो अनुराग को बचाया था अनुराग की खुशियों के लिए ही मैंने मिस्टर बजाज से शादी की थी लेकिन आपको मेरी गलतियां दिखाई देती है सोनालिका कि नहीं और रही बात अनुराग की तो मैं उसे कभी भी नहीं छोडूंगी।

Advertisement