Nazar Written Update 6 December 2019 In Hindi

Nazar Written Update 6 December 2019 Today Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे हैं पिया और अंश को आखिरकार पता लग ही जाता है कि मोहना ने परी को एक प्राण प्याले में कैद करके रखा है पिया और अंश उस प्राण प्याले को पाने की पूरी पूरी कोशिश करते हैं आइए देखते हैं कैसे पिया और अंश जैसे उस घर के पास जाते हैं तभी वहां पर जाकर देखते हैं और अंदर चले जाते हैं अंदर जाकर देखते हैं कि उन्हें कुछ भी दिखाई नहीं देता तभी अंश से कहता है कि यहां पर तो ऐसा कुछ भी नहीं है जिससे हमें पता लग पाए कि यहां पर मोहना थी तभी दोनों बाथरूम में चले जाते हैं बाथरूम की सजावट को देखकर अंश और पिया कहते हैं कि अब तो पूरा पक्का यकीन हो गया है कि यहां पर मोहना ही थी।

Advertisement

अंश और प्रिया अलमारी के पास जाते हैं अलमारी को खोल कर देखते हैं लेकिन उस अलमारी में एक मोमबत्ती रखी होती है और उसमें कुछ भी नहीं होता है तभी आंसर पिया कहते हैं कि इसमें तो सिर्फ एक मोमबत्ती है यहां पर तो कुछ भी नहीं है पता नहीं मेरी परी जाने कहां पर है दोनों बाहर आ जाते हैं और बाहर आकर देखते हैं कि जो परी सीसन अरेंज कर रही है अंश जब से सब देखता है तभी वह चौक जाता है तभी परी सीसन से एक तीर बनाती है और उसका यह सारे एक पेड़ की तरफ कर देती है अंश कैसा है कि यह इशारा तो उस पेड़ की तरफ जा रहा है तभी वह पेड़ जमीन के अंदर जा रहा होता है पिया कहती है कि मुझे लगता है परी के प्राण प्राण प्याले में है और मोहना ने उस प्राण प्याले को इसी पेड़ में छुपा के रखा है हमें वह लेना ही होगा।

Advertisement

पिया और अंश जैसे उस पेड़ की तरह देखते हैं तो वह पेड़ जमीन के अंदर जा रहा होता है तभी अंश और पिया उस पेड़ के साथ ही उस जगह पर जाते हैं तभी वह दोनों उस पेड़ के साथ ही दूसरी तरफ से निकल आते हैं वहां पर मोहना खड़ी होती है और मोहना ने उस पेड़ के अंदर से प्राण प्याले को निकाल लिया होता है पिया और अंश मूला के सामने जैसे ही पोस्ट हैं तभी वह उसके सामने खड़े हो जाते हैं मोहना उन दोनों को देख कर चौक जाती है तभी अंश और पिया उसे कहते हैं कि तुझे क्या लगा था कि तू हमारी बेटी को हमसे दूर करें में कामयाब हो जाएगी तभी मोहना कहती है कि तुम मुझसे जीत नहीं पाओगे अंश गुस्से में आ जाता है और मोहना से कहता है कि तुम मुझे यह प्राण प्यारा दे दो मोहना कैसी है कि अगर तुम में हिम्मत है तो तुम ही इसे क्यों नहीं ले लेते।

मोहना आगे बढ़ने लगती है इतना कहकर अंश नीति की तरफ झुक जाता है तभी पिया भागते हुए अंश पर चढ़कर मोहना के सामने आ जाती है और मोहना को रोकने की कोशिश करती है तभी पिया अपने देविक्कू को निकालती है और मोहना पर अटैक कर देती है जिससे मोहना के हाथों में जो प्राण प्यारा होता है वह नीचे गिर जाता है और अंश प्राण प्याले को पकड़ लेता है मोहना इसके बाद गुस्से में आ जाती है तभी वह अंश को अपनी चोटी से पकड़े लेती है पिया प्राण प्याले को अंश से ले लेती है तभी मोहना अंश को गाड़ी ऑफर फेंक देती है अंश गाड़ियों पर जाकर गिर जाता है मोहना उस प्राण प्याले को लेने के लिए पिया की तरफ बढ़ती है तभी अंश को गुस्सा आ जाता है और वह अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करके उस गाड़ी को उठाकर मोहना पर फेंक देता है मोहना उस गाड़ी के नीचे दब जाती है तभी अंश और पिया उस प्राण प्याले को लेकर वहां से चले जाते हैं लेकिन पिया जब पीछे पलटकर देखती है मोहना ने गाड़ी अपने ऊपर से हटा दी होती है और वह मुस्कुरा रही होती है तभी पिया मोहना को देखकर कुछ भी समझ नहीं पाती।

Advertisement

Also Read – Nazar Written Update 5 December 2019 In Hindi

सारे परिवार वाले निशांत जी के कहने पर परी कोनी चले आते हैं तभी वहां पर निशान तेजी आ जाते हैं तभी वह सारे घरवालों को बताते हैं कि परी कोb नील हीम मैं पूर्णिमा तक रख सकते हैं क्योंकि पूर्णिमा के बाद ही नीलहीम काम नहीं करेगा और हम परी को नहीं बचा पाएंगे वेद श्री अंश और पिया के बारे में पूछती है कि उनकी भी कोई खबर नहीं है दोनों मोहना को ढूंढने के लिए गए थे तभी निशांत जी बताते हैं कि जल्द लास्ट टाइम मेरी गुड़िया से बात हुई थी तो गुड़िया ने मुझे बताया था कि उन्हें वह घर मिल चुका है जिस घर को सपनों में देखा करती है लेकिन हम पर टाइम बहुत कम है इसलिए मैं त्रयंबकम राख लेकर आया हूं यह सिर्फ हिम पर्वत पर मिलती है इसको मैं नीलहीम पर डाल दूंगा तू पूर्णिमा तक हम परी को बचा सकते हैं लेकिन उसके बाद परी को हम नहीं बचा पाएंगे उससे पहले हमें परी के प्राण लेने ही होंगे।

निशांत जी जैसा त्रयंबकम राख को नीलहीम पर गिरते हैं तभी वह उल्टा सर करने लगता है और वह पूरा बॉक्स लाल कलर का होने लगता है तभी निशांत जी कैसे हैं कि यह क्या हुआ यह नीलहीम तू अपने आपको खुद ही खत्म कर रहा है अब हम पर ज्यादा टाइम नहीं है निशांत जी जैसे ही सारे घरवालों को यह सारी बातें बताते हैं तभी वह डर जाते हैं और सब कहते हैं कि आखिर क्या हो रहा है यह बॉक्स लाल क्यों हो रहा है तभी निशांत जी कहते हैं कि बस हम पर अब जे बॉक्स लाल होने तक का टाइम है उससे ज्यादा नहीं क्योंकि यह बॉक्स अपने आपको खुद ही खत्म कर रहा है लेकिन पिया और अंश अगर प्राण पहले कोई आपन नहीं लेकर आए और परी के अंदर अपने प्राण नहीं डाले तो सब कुछ खत्म हो जाएगा।

अंश और पिया इतनी देर वहां पर पहुंच जाते हैं और सब को बताते हैं कि हम प्राण प्याला ले आए हैं अंश जैसे प्राण प्याले को लेकर आगे बढ़ता है और नीलहीम मैं जैसे ही उस बॉक्स में डाल रहा होता है तभी पिया उसे रोक लेती है और कहती है कि मुझे कुछ ठीक नहीं लग रहा है मुझे ऐसा लग रहा है कि यह प्राण प्याला असली नहीं है अंश कैसा है कि यह वक्त सोचने का नहीं है हमें परी की जान बचानी है तभी सारे घर वाले पिया को समझाने की कोशिश करते हैं तभी प्रिया अपने पिता से कहती है कि मैंने आते वक्त मोहना को देखा था अगर जे प्राण पहला सही होता तो मोहना में रोकने की कोशिश करती है और रोकने के लिए वहां पर जरूर आती लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ मैंने जब उसे पीछे पलटकर देखा था तो वह मुस्कुरा रही थी ऐसा लग रहा था कि वह हमारी बेवकूफी पर हंस रही है सारे घर वाले पिया की बात नहीं मानते तभी सेवी उस प्राण पहले को लेती है और उस बॉक्स में गिर देती है।

मोहना के सामने अचानक से सब लोग के और भी ज्यादा सरफा जाते हैं मोहना उनसे कहती है कि क्या तुमने अपने साथियों की दशा नहीं देगी कि मैंने आखिर उनके साथ क्या किया है सब लोग के सर्प कहते हैं कि पहले तो हम सिर्फ एक ही सर्प का बदला ले रहे थे लेकिन अब हम सारे सर्पों का बदला लेंगे और तुम्हें यहां से खत्म कर ही देंगे तभी मोहना कहती है कि तो ठीक है तो मैं भी तुम्हारे साथ ऐसा ही करती हूं तभी मोहना अपनी चोटी की मदद से उन सबको गिरा देती है वहां से मौका देकर भाग जाती है तभी वहां पर एक शर्म आता है तभी उन शब्दों को बताता है कि वह सिर्फ जमुना ने मारे थे वह मरने से पहले मुझे बता कर रहे हैं मोहना के लिए सबसे इंपोर्टेंट कोई और नहीं बल्कि प्राण प्याला ही है सर्व फिका कहती है कि अगर मोहना के लिए वो प्राण प्याला इतना ही जरूरी है तो वह प्राण पहला हमें चाहिए।

सेवी जैसे यूज़ प्राण प्याले को उस बॉक्स में गिरती है तभी उस बॉक्स में जो कलर आ रहा होता है लाल कलर का वह तेजी से बढ़ने लगता है तभी सारे घर वाले डर जाते हैं तभी निशांत जी बताते हैं कि इसका मतलब पिया एकदम ठीक कह रही थी जब प्राण प्याला नकली है और इसमें परी के प्राण नहीं थे इसकी वजह से यह लाल रंग तेजी से बढ़ रहा है हमें जल्द ही कुछ करना होगा पिया और भी ज्यादा डर जाती है तभी सारे घर वाले भी बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं तभी वहां पर मोहना पहुंच जाती है सारे घरवालों पर हंसने लगती है और कहती है कि तुम्हें प्राण प्याला नहीं मिला सारे घर वाले मोहनाश के सामने रिक्वेस्ट करने लगते हैं तभी पिया आगे बढ़ती और मोहना के सामने हाथ जोड़कर अपनी बेटी की भीख मांगती है मोहना कहती है कि अब कैसा लगता है तुम महसूस हो रहा है कि कोई जब अपना खत्म हो जाता है तो आखिर कैसा लगता है ।

वेद श्री मोहना से कहती है कि तुमने मुझे जो एक रिश्ते को देखकर यह अंगूठी पहनाई थी उस रिश्ते का तो लिया करो ना कहती है कि जब मैंने यह तुम्हें रिंग पहनाई थी मैं उस रिश्ते को आप भूल चुकी हूं मैं सचमुच उस टाइम बदल गई थी और अपनी जिंदगी की एक नई शुरुआत करने वाली थी लेकिन तुमने सब कुछ खत्म कर दिया और मैं अब किसी को भी नहीं छोडूंगी अगर तुम्हें प्राण प्यारा चाहिए तो प्राण प्याला मेरे पास है मोहना जैसे ही उस प्राण पहले को दिखाती है और उसके प्राण प्याले को नीचे फेंक देती है तभी अंश उसे बचाने की कोशिश करता है लेकिन बचाने में नाकामयाब हो जाता है और वह प्राण पहला नीचे टूटकर बिखर जाता है।

Advertisement