नजर – 24 अक्टूबर 2019 – सीरियल स्टोरी

nazar 24 October 2019 upcoming twist in hindi

नजर सीरियल के आज के एपिसोड में आप सब देखेंगे कि कैसे पिया जैसे ही उस मोबाइल को लेकर कमरे में जाती है इतने में वहां पर देवा जाता है पिया को ढूंढते हुए तभी पिया अलमारी के पीछे छुप जाती है और वहां पर जो लीड रखी होती है उसे लेकर उस रिकॉर्डिंग को सुनने लगती है देव उस कमरे में आकर कहता है कि पिया चुपने से कोई फायदा नहीं है जितना तुम शादी के लिए लेट करोगी उतना ही अंश की जान खतरे में पड़ती जाएगी|

पिया जब उस रिकॉर्डिंग को सुन रही होती है देव पिया को ढूंढ लेता है उस अलमारी को गिरा कर पिया के बगल में जाता है और पिया से कहता है कि पिया छुपने से कोई फायदा नहीं है तो मैं शादी तो यह करनी ही होगी वरना जितना तुम इस शादी के लिए लेट करोगी उतना ही अंश की जान खतरे में पड़ती जाएगी पिया को अपने पिता की बातें याद आने लगती हैं निशांत जी ने पिया से कहा होता है कि जब तक मैं वहां पर नहीं आ जाता तब तक तुम्हें यह नाटक करना ही होगा वरना सारे घरवालों की जान खतरे में पड़ सकती है|

पिया देव की बात मान जाती है और साथ चलने के लिए राजी हो जाती है परी और आदि जब कमरे में होते हैं आदि परी से कहता है कि सारे घर वाले मां को ढूंढ रहे हैं मां यह शादी नहीं करना चाहती हमें मां की हेल्प करनी होगी इसके लिए हमें यहां से निकलना होगा तभी परी आगे बढ़ती है आधी परी को रोकता है और परी से कहता है कि हम इस लक्ष्मण रेखा को पार नहीं कर सकते देव ने हमें मना किया है परी कहती है कि रामेश्वर लक्ष्मण रेखा को पार नहीं कर सकते तो क्या हुआ लेकिन खिड़की के रास्ते भाड़ तो जा सकते हैं तभी परी आदि को अपनी चोटी से पकड़ती है और बाहर ले जाती है|

वहां पर परी और आधी को निशांत जी दिखाई दे जाते हैं तभी दोनों निशांत जी के पास आते हैं और उनसे पूछते हैं कि नानू पापा आप जहां पर क्या कर रहे हैं आप भी मां की हेल्प करने के लिए यहां पर आए हैं तभी निशांत अध्यक्ष दीवार के बारे में उन दोनों को बताते हैं कि यहां पर एक अध्यक्ष दीवार है जिसके वजह से मैं अंदर नहीं जा पा रहा हूं आदि कहता है कि मैं इस दीवार को पार कर सकता हूं मैं तो किसी भी दीवार के पार जा सकता हूं निशांत जी आदि को समझाते हैं कि तुम ऐसा नहीं कर सकते|

आदि निशांत जी से कहता है कि नहीं नानू पापा मैं ऐसा कर सकता हूं आदि जैसे ही उस दीवार को पार करने के लिए आगे बढ़ता है तभी वह दीवार आदि को पीछे फेंक देती है निशांत जी आदि को संभाले लगते हैं और आधी को बताते हैं कि इस दीवार को तुम पार नहीं कर पाओगे तभी आदि नानू पापा से कहता है कि मेरी बात सुनो मेरे पास एक तरीका है निशांत जी आदि से पूछते हैं कि ऐसा कौन सा तरीका है तभी आधी कहता है कि मेरे पास जैसे दीवार को पार करने की शक्ति है वैसे ही धरती के अंदर जाने की भी सकती है|

निशांत जी आदि की बातों को सुनकर हैरान है जाते हैं इतने में आदि अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करता है और धरती के नीचे चला जाता है और अंदर की तरफ आ जाता है आदि निशांत जी से कहता है कि अब नानू पापा आप इस रास्ते से अंदर आ सकते हैं और उधर देव पिया के साथ मंडल जा रहा होता है तभी पिया रुक जाती है देव पिया से कहता है कि पिया टाइम गुजरा ही जा रहा है जितना तुम लेट करोगे उतना ही अंश की जान खतरे में पड़ जाएगी सारे घर वाले पिया से शादी करने के लिए बोल देते हैं तभी प्रिया अपने मन में कहती है कि पापा आप कहां पर रह गए हो मैं अब आगे और लेट नहीं कर सकती|

देव आगे बढ़ता है और मंगलसूत्र निकालकर पिया से कहता है कि पिया अगर तुम मेरी बात इस तरह से नहीं मानोगी तो मुझे मजबूरी में यह कदम उठाना ही पड़ेगा जैसे ही जेल में मंगलसूत्र तुम्हारे गले में बांध दूंगा तभी अंश के साथ जो भी तुम्हारे रिश्ते हैं वह खत्म हो जाएंगे यह बात सुनकर पिया घबराने लगती है इतने में वहां पर धरती के अंदर से बॉक्स निकल कर आ जाता है तभी सारे घर वाले बॉक्स को देख कर चौक जाते हैं इसके बाद उस बॉक्स में से मोना निकल कर आती है मोहना को सारे घर वाले देख कर चौक जाते हैं|

निशांत जी मोहना के पीछे आकर खड़े हो जाते हैं निशांत जी कहते हैं कि एक देवी का सिर्फ एक ही शत्रु होता है और वह है डायन देव मोहना के पास आता है और मोना से कहता है कि यह मामूली सी डायन मेरा क्या बिगाड़ देगी तभी मोहना को गुस्सा आ जाता है देव मुहाना से कहता है कि यह तो यही चाहती है कि इसका बेटा खत्म हो जाए क्योंकि यह अपने बेटे से प्यार ही नहीं करती कोई बात यह क्यों नहीं समझ रहा है कि मेरा और पिया का मिलना कितना जरूरी है अगर मेरी शादी पिया से नहीं हुई तो अंश की जान खतरे में पड़ सकती है|

मोहना देर से कहती है कि तुम सही हो मैं अपने बेटे से प्यार नहीं करती और मुझे उसकी परवाह भी नहीं है लेकिन अंश एक काली शक्ति है इसलिए मैं काली शक्ति की हार नहीं मान सकती और मैं तुम्हें जीतने भी नहीं दूंगी सारे घर वाले निशांत जी को गलत समझने लगते हैं और उन्हें कहते हैं कि आप भी इसी मोना का साथ दे रहे हैं ताकि आप इसके बारे में सब कुछ जानते हैं फिर भी आप इसे यहां पर लेकर आए हैं यह तो चाहती है कि अंश मर जाए|

मोहना गुस्से में आ जाती है और देव को अपने हाथों से हवा में उठा कर उसकी उम्र को खाने लगती है तभी दे मोहना की एनर्जी को अपने अंदर लेने लगता है मोहना यह सब देखकर डर जाती है और देव को छोड़ देती है और देव से कहती है कि यह कैसे हो सकता है तुम तो एकदम हो तुम कैसे दूसरों की एनर्जी ले सकते हो पिया कहती है कि वैसा कर सकता है क्योंकि वह काली शक्तियों के साथ मिला हुआ है सारे घर वाले यह बात सुनकर हैरान रह जाते हैं और पिया से कहते हैं कि पिया तुम यह क्या कह रही हो पिया उसी रिकॉर्डिंग को सारे घरवालों को सुनाती है तभी सारे घर वाले उस रिकॉर्डिंग को सुन कर चौक जाते हैं|

सेबी जैसे ही सनम की मां पर हथियार से वार करते हैं तभी सामने सनम आ जाती है और सनम के सामने नमन जाता है जिसकी वजह से वह अति आर नमन को जाकर लग जाता है नमन को जैसे यह व हथियार लगता है नमन नीचे गिर जाता है सनम की मां यह सब देखकर सनम से कहती है कि तूने मुझसे झूठ बोला था यह भी एक चुड़ैल नहीं है बल्कि एक इंसान है इसके अंदर से खून निकल रहा है सनम कहती है कि मां मैंने आपसे झूठ बोला था इसमें मेरे पति की कोई गलती नहीं है आपको इंसान पसंद नहीं है इसलिए मुझे मजबूरी में आपसे झूठ बोलना पड़ा कि यह भी एक चुड़ैल है|

सनम सेबी से कहती है कि तुमने हमारे पति की हालत ऐसी कैसे कर दी सेवी कहती है कि मैं तू यह हथियार तुम्हारी मां पर चला रही थी तुम ही सामने आ गई और तुम्हें बचाने के लिए नमन सामने आ गया अब इसमें मेरी क्या गलती है सनम कहती है कि तुम मेरी मां पर हथियार चला ही क्यों रही थी नमन कहता है कि मैं अभी मरा नहीं हूं सनम नमन से कहती है कि नमन अपनी आंखें खोल कर रखना सनम की मां जैसे ही आगे बढ़ती है तभी सनम अपनी मां को रोकती है कि मां इसमें मेरे पति की कोई गलती नहीं है आपको अगर कोई सजा देनी है तो आप मुझे दे सकती हैं|

सनम की मां आगे बढ़ती है और अपने गले में से एक चूड़ी को निकालकर नमन के ऊपर फेंक देती है इसके बारे में जाकर अपना असर दिखाना शुरू कर देती हो और नमन का गांव पूरी तरह से भरने लगता है सनम नमन सेवी यह सब देख कर चौक जाते हैं नमन पूरी तरह से जब ठीक होता है और वह अपनी सास को धन्यवाद करता है सनम कहती है कि मैं आपको तो इंसान बिल्कुल पसंद नहीं है फिर आपने मेरे पति की जान क्यों बचाई|

सनम की मां कहती है कि मैं जानती हूं कि मुझे इंसान पसंद नहीं है लेकिन मैं एक मां हूं और मैंने देखा था कि तुम्हारा पति तुमसे बहुत ज्यादा प्यार करता है और वह अपने प्यार को बचाने के लिए अपनी जान भी दे सकता है इसलिए मैंने इसकी जान बचाई इतने में नमक बहुत ही ज्यादा खुश हो जाता है और सनम की मां को धन्यवाद जब कर रहा होता है तभी वह चुड़ैलों की तरह हवा में उड़ने लगता है सेबी यह सब देख कर चौक जाती है और नमन से नीचे देखने के लिए बोलती है|

नमन कहता है कि बीच में मत दो को अब तो मैं अच्छी तरीके से समझ पाया हूं और मैं अब अपनी सास से बात कर रहा हूं और तुम मुझे बीच में टोंक रही हूं मुझे बिल्कुल तुम्हारी बात नहीं सुननी है 1 मिनट रुक जाओ सेबी नमन से कहती है कि एक बार नीचे तो देख लो फिर पता नहीं तुम कैसे रिएक्ट करोगी अपने पैरों को देखकर नमन जैसा ही है अपना पैर को देखता है तो वह चौक जाता है सनम नमन को देख कर चौक जाती है

 

Also Read – Nazar : 21st October 2019 : Written Update

Add Comment