कसौटी जिंदगी की रिटेन अपडेट 30 अक्टूबर 2019 : Komolika kills Prerna

कसौटी जिंदगी की आज का एपिसोड में आप सब देखेंगे कि कैसे प्रेरणा अनुराग के कमरे में जाती हो अनुरागी की हालत को देखकर रोने लगती है और उसके पास जाकर बैठ जाती है और उससे कहती है कि हम मैंने और तुमने वादा किया था कि हम दोनों जब भी कोई फैसला लेंगे तो साथ मिल कर लेंगे लेकिन मैं आज इस बाधा को दूर रही हूं और अकेले ही फैसला ले रही हूं मैं जानती हूं कि यह गलत है लेकिन मैं तुम्हारी सेहत के साथ कुछ भी रिक्स नहीं ले सकती इसलिए मुझे यहां से जाना होगा।

Advertisement

कामोलिका मोहिनी के कमरे के बाहर खड़ी हो जाती है और मोहिनी को देखने लगती है और कहती है कि इसे मैं रोते हुए देख रही हूं तो कितना अच्छा लग रहा है इतने मोहिनी कामोलिका को वहां पर देख लेती हो और उसे अंदर आने के लिए बोल देती है कामोलिका अंदर आ जाती है और वह मोहिनी के पास जाकर बैठ जाती है और उसे चुप कराने लगती है और उनसे कहती है कि अनुराग पूरी तरह से ठीक हो जाएगा मोहिनी कामोलिका को देखकर बहुत ही अलग खुश होने लगती है तभी कामोलिका मोहिनी को पानी पिलाने के लिए लग जाती है।

Advertisement

मोहिनी कामोलिका से कहती है कि तुम्हें कमरे में जाकर आराम कर लेना चाहिए तभी निवेदिता से कहती है कि जाओ इन्हें इनका कमरा दिखा दो कामोलिका जी यह बात सुनकर बहुत ही ज्यादा खुश हो जाती है और उत्सुकता में कह देती है कि अनुराग का कमरा जिसमें अनुराग लेटा हुआ है वह शायद अनुराग का कमरा नहीं है क्योंकि मैंने वहां परतापुर की तस्वीरें देखी है मोहिनी कहती है कि हां वह तापुर का ही कमरा है वह अनुराग का कमरा नहीं है मोहिनी अनुराग के कमरे में जाने के लिए कामोलिका को इजाजत दे देती है तभी निवेदिता कामोलिका को जब वहां से ले जा रही होती है तभी कामोलिका कहती है कि मुझे बदला इससे भी लेना है क्योंकि एंड मौके पर आकर इसमें भी अपना मूड बदल लिया था और मुझे छोड़ कर इसने प्रेरणा को अपना लिया था।

Also Read – कसौटी जिंदगी की रिटेन अपडेट 29 अक्टूबर 2019 : कोमोलिका ने प्रेरणा किया घर से बहार

Advertisement

प्रेरणा अनुराग के कमरे से जब जा रही होती है तभी अनुराग के हाथों में प्रेरणा की धोती अटक जाती है तभी प्रेरणा अनुराग से कहती है कि अनुराग मुझे जाना होगा मेरे लिए जाना बहुत ही ज्यादा मुश्किल है और तुम उसे और ज्यादा मुश्किल मत बनाओ तभी प्रेरणा अपने धोती को निकाल दिया और वहां से चली जाती है वह सीधे मोहिनी और मुल्लों के कमरे में चली जाती है और उनसे कहती है कि मैं इस घर को छोड़कर जाना नहीं चाहती लेकिन यही सही होगा कि मैं यहां से चली जाओ क्योंकि अनुराग के लिए यही सही होगा मोहिनी जवाब सुनकर हैरान हो जाती है ।

प्रेरणा जब वहां से जा रही होती है तभी दरवाजे पर अनुपम मिल जाता है अनुपम को देखकर प्रेन्ना उनसे कहती है कि अनुराग का आप ध्यान रखना अनुपम की आंखों में आंसू आ जाते हैं कामोलिका जैसी अनुराग के कमरे में पहुंचती है तभी वह कमरे को देखकर बहुत ही ज्यादा खुश होने लगती है और पुरानी बातें याद करने लगती है और कहती है कि आखिरकार में पुराने कमरे में लौटी आई प्रेरणा जब अपने कमरे में जा रहे होती है तभी रास्ते में कामोलिका टकरा जाती है कामोलिका जैसे ही प्रेरणा से टकराती है और उससे पूछती है कि हम दोनों एक दूसरे से ढंग से मिल नहीं पाए हैं मेरा नाम सोनालिका है प्रेरणा को अनुराग की बातें याद आने लगती है जब अनुराग ने कहा होता है कि उसने शादी कर लिए सोनालिका से कामोलिका मुझसे पूछती है कि तुम इस घर में क्या काम करती हो प्रेरणा यह बात सुनकर चौक जाती है और उसे बताती है कि नहीं मेरे पापा यहां पर काम करते थे और इतना कहकर वहां से चली जाती है।

प्रेरणा अपने कमरे से बेगू को लेकर नीचे आती है और वहां से निकल जाती है और जाते हुए उसकी आंखों में आंसू आ रहे होते हैं कामोलिका प्रेरणा को जाते हुए देखती है तो बहुत ही ज्यादा खुश हो जाती है और कहती है कि इस घर से और प्रेरणा यहां से निकल चुकी है इस घर में सिर्फ मेरा ही राज होगा और किसी का नहीं मोहिनी सोफे पर बैठ कर मुस्कुरा रहे होती है तभी वहां पर निवेदिता आ जाती हो और अपनी मां से पूछती है कि मां क्या हुआ आप इतनी मुस्कुरा क्यों रही है मोहिनी कहती है कि घर में नौकरों से कह दूं जिस चीज को प्रेरणा ने हाथ लगाया है उसको बाहर फेंक दें चाहे वह कितनी भी महंगी क्यों ना हो। निवेदिता कहती है कि सब कुछ मैं संभाल लूंगी आप अपना ख्याल रखिए।

मोहिनी निवेदिता के जाने के बाद कहती है कि जो होता है अच्छे के लिए होता है प्रेरणा अभी घर से निकल चुकी है और अनुराग की जिंदगी में सोनालिका आ चुकी है सोनालिका बहुत ही ज्यादा अच्छी है मेरे बच्चे के लिए प्रेरणा अपने बैग को लेकर जब वहां से जा रही होती है तभी वहां पर कामोलिका आ जाती है गाड़ी को लेकर और प्रेरणा के पीछे खड़ी हो जाती है और कहती है कि क्या मैं गाड़ी से टक्कर मार दूं चलो मन में ख्याल आया ही है तू ऐसा कर ही देती हूं कामोलिका उस गाड़ी को प्रेरणा की तरफ से ले जाने लगती है।

Advertisement