कसौटी जिंदगी की रिटेन अपडेट 25 अक्टूबर 2019 : दुर्घटना के बाद अनुराग लापता

कसौटी जिंदगी की आज का एपिसोड में आप सब देखेंगे कि कैसे अनुराग जैसे गाड़ी चला रहा होता है तभी अनुराग को वहां पर कामोलिका देख लेती है तभी अपनी गाड़ी को अनुराग की गाड़ी के पीछे लगा देती है और सुनसान रास्ते पर आते ही अनुराग की गाड़ी को टक्कर मारने लगती है जिसकी वजह से अनुराग की गाड़ी का बैलेंस बिगड़ने लगता है जिसके बाद अनुराग अपनी गाड़ी का बैलेंस पूरी तरह से खो देता है और अनुराग की गाड़ी खाई में गिर जाती है इसके बाद अनुराग उस गाड़ी से निकल जाता है और बाहर की तरफ गिर जाता है|

Advertisement

कामोलिका कहती है कि मैंने अनुराग तुमसे पहले ही कहा था कि अगर तुम मेरे नहीं हो पाओगे तो मैं तुम्हें किसी और का नहीं होने दूंगी और उधर प्रेरणा शादी के लिए अनुराग का वहां पर मंडप वेट कर रही होती है अचानक से उसे बेचैनी महसूस होने लगती है और उसकी आंखों में आंसू आ जाते हैं और वह अनुराग की फिक्र करने लगती है 1 महीने के बाद प्रेरणा जब देवी की आरती कर रही होती है तभी वहां पर निवेदिता लोहा जाते हैं आरती में शामिल हो जाते है |

Advertisement

प्रेरणा निवेदिता को आरती देती है और उन्हें बताती है कि आपके लिए नाश्ता तैयार है आप नाश्ता कर लीजिए और तापुर को भी बुला लीजिए प्रियंका इतना कहकर वहां से चली जाती है तभी वहां पर मोहिनी आ जाती है और देवी के सामने हाथ जोड़ने लगती है मूलोए मोहिनी से कहता है कि तुम इतनी देर क्यों करती हो मोहिनी मुलायम से कहती है कि क्योंकि मैं वक्त पर जहां पर आकर क्या करूंगी कोई है ही नहीं जो मेरा यहां पर इंतजार करें जिसके लिए मैं वक्त पर आओ|

मूलोए यह बात सुनकर हैरान रह जाता है तभी मोहिनी मूलोए से कहती है कि मैं कुछ कपड़ों का दान करने के लिए मंदिर में जा रही हूं हो सकता है गरीबों की दुआ लग जाए और हमारा और हमारे पास जल्दी लौट आए मोहिनी इतना कहकर नाश्ते की टेबल पर चली जाती है मूलोए अपने मन में कहता है की प्रेरणा अंदर से कितनी टूट चुकी है यह तो मैं ही जानता हूं वह सिर्फ हम सबको हिम्मत दिखा रही है ताकि हम सब टूटे ना|

Advertisement

Also Read –कसौटी जिंदगी की रिटेन अपडेट 24 अक्टूबर 2019 : अनुराग प्रेरणा के गर्भ के बारे में जानने के लिए रोमांचित हैं।

देवउदा सबके लिए जब नाश्ता बना रहे होते हैं तभी वहां पर प्रेरणा आ जाती है और देवउदा से कहती है कि आप क्या बना रहे हैं तभी वह मोहिनी के लिए नाश्ता बना रहे होते हैं प्रेरणा कहती है कि काकी मां इतना तेल का नाश्ता नहीं कर सकती मैं ही उनके लिए कुछ बेसन का बना देती हूं प्रेरणा वहां पर नाश्ता बनाने के लिए लग जाती है सारे घर वाले जैसे ही नाश्ते की टेबल पर बैठते हैं तभी तापुर अनुराग की चेयर पर जब बैठ रही होती है मोहिनी तापुर को रोक लेती है|

मोहिनी तापुर से कहती है कि यह अनुराग की चेयर है निवेदिता तापुर को अपने पास बिठा लेती है मूलोए मोहिनी को समझाता है कि तुम अगर ऐसे ही रिएक्ट करोगी तो प्रेरणा पर क्या गुजरेगी वह एक तो हम सबके सामने अपनी हिम्मत दिखा रही है ताकि सारे घर वाले अच्छी तरीका से रहें और तुम हो कि मोहिनी कहती है कि मेरा बेटा आज वहां पर हमारे साथ नहीं है वह भी सिर्फ उसी की वजह से है क्योंकि उसी ने उसे चुनरी लेने के लिए भेजा था अगर वह उस दिन उसे चुनरी लेने के लिए नहीं भेजती तो वह आज हमारे साथ होता|

मूलोए प्रेरणा के बारे में कहता है कि तुम प्रेरणा के सामने ऐसी कोई भी बात मत करना तेरे नैना प्रेग्नेंट है उसके बच्चे पर क्या असर होगा मोहिनी कहती है कि और मुझ पर जो असर हो रहा है वह मेरा बच्चा मेरे पास नहीं है आपको मेरी चिंता तो है नहीं प्रेरणा की है इतने में वहां पर प्रेरणा आ जाते हैं तभी मोहिनी चुप हो जाती है प्रेरणा जब सबको नाश्ता परोस रही होती है इतने मैं बाहर की तरफ गाड़ी को लेकर अनुराग आ जाता है और घर में आ रहा होता है तभी प्रेरणा को एहसास होने लगता है और वह वहां से देवी के आगे चली जाती है|

प्रेरणा जब देवी के आगे जाती है हवा की वजह से उनके सामने वाला दिया गुजरा होता है प्रेम ना हो उसे को बुझने से रोकने लगती है और उस हवा की वजह से ही प्रेरणा के ऊपर सिंदूर उड़ कर आ जाता है और उसकी मांग भर जाती है प्रेरणा इतने में अपने कमरे में चली जाती हैं और कमरे में जाकर अनुराग और अपनी तस्वीर को लेकर अनुराग के बारे में सोचने लगती है और इमोशनल हो जाती है कभी प्रेरणा लेकर आ सामने जाती है और उस सिंदूर को अपने मुंह पर से पहुंचने लगती है

प्रेरणा देती है कि उस सिंदूर से उसकी मांग बढ़ चुकी है तभी प्रेरणा अपने हाथ को रोक लेती है सारे घर वाले मिलकर जब नाश्ता कर रहे होते हैं तभी डोर बेल बजने लगती है मोहिनी को एहसास हो जाता है कि अनुराग वापस आ चुका है मोहिनी कहती है कि मेरा बच्चा आ गया मूलोए मोहिनी को रोकता है और उससे कहता है कि पुलिस वाले होंगे जरूर अनुराग के बारे में कुछ जानकारी लेकर आए होंगे मैं जा कर देखता हूं तुम नाश्ता करो|

मूलोए जैसा यह दरवाजे को खोलते हैं वहां पर अनुराग होता है मूलोए अनुराग को देखकर इमोशनल हो जाते हैं और अनुराग को गले से लगा लेती हैं इतने में वहां पर सारे घर वाले अनुराग का नाम सुनकर पहुंच जाते हैं मोहिनी अनुराग को देख कर रोने लगती है और उसे गले से लगा लेती हैं और उससे पूछती है कि आखिर तुम इतने टाइम से थे कहां अनुराग सारे घरवालों को बताता है कि मेरा एक्सीडेंट हो गया था मैं अब तक हॉस्पिटल में था|

सारे घर वाले यह बात सुनकर हैरान रह जाते हैं अनुराग बताता है कि मैं जब हॉस्पिटल में था तो मेरी वहां पर एक लड़की ने काफी ज्यादा देखभाल की और उसी की वजह से आज मैं जहां पर हूं और आपके आशीर्वाद की वजह से भी आज मैं जिंदा हूं प्रेरणा इतने मैं वहां पर आ जाती है अनुराग को जिंदा देखकर खुश हो जाती हो और उससे मिलने के लिए नीचे आ रही होती है तभी अनुराग वहां पर कहता है कि मैं उन्हें भारी छुड़ाया तभी वहां पर वह लड़की आ जाती है और वह कोई और नहीं बल्कि कामोलिका होती है| कामोलिकाजैसे ही अंदर आती है तभी वह अनुराग से कहती है कि मैं इतनी जल्दी तुम्हारा पीछा नहीं छोडूंगी सारे घर वाले उसे देख कर चौक जाते हैं|

Advertisement