Kasauti Zindagi Ki – Written Update – 19 December 2019

Kasauti Zindagi Ki Written Update 19 december 2019 Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे प्रेरणा जब सोनालिका के गर्दन पर चाकू रखे हुए होती है तभी दरवाजे पर मोहिनी आ जाती है और दरवाजा खोलने के लिए कहती है प्रेरणा सोनालिका से कहती है कि जाओ दरवाजा खोलो और काकी मां को सारी बात बता दूं कि तुमने क्या-क्या किया है सोनाली का डर जाती है और कुछ भी कह नहीं पाती इतनी देर में अनुराग का फोन प्रेरणा के फोन पर आ जाता है और वह सोनालिका को फोन को दिखाते हुए कहती है कि मैं अकेले में जाकर अनुराग से बात करूंगी इतना कहकर प्रेरणा दरवाजे को खुलती है और बाहर चली जाती है मोहिनी प्रेरणा को जाते हुए देखती है उससे पूछती है कि तुमने क्या बोला है प्रेरणा मोहिनी को बताती है कि यह मेरी और सोनालिका की बीच की बात है इतना कहकर प्रेरणा फोन को पिकअप करने के लिए कमरे में चली जाती है मोहिनी सोनालिका के पास आती है और सोनालिका से डरते हो पूछती है कि क्या हुआ प्रेरणा ने तुमसे कुछ कहा तो नहीं लेकिन उसने जो भी कहा है वह सब गलत है सोनालिका मोहिनी से कहती है कि प्रेरणा ने मुझसे ऐसा कुछ भी नहीं कहा है आप मुझे कुछ बताना चाहती है मोहिनी यह बात सुनकर चुप हो जाती है और सोनालिका मोहिनी को बताती है कि नहीं कुछ काम के लिए प्रेरणा यहां पर आई थी इतना कहकर सोनालिका भी कमरे से बाहर निकल जाती है।

Advertisement

Also Read – Kasauti Zindagi Ki 19 December 2019 Latest News

Advertisement

प्रेरणा जब कमरे में होती है अनुराग का फोन उठाने की वाली होती है तभी वहां पर सोनालिका दरवाजे पर खड़ी हो जाती है प्रेरणा अनुराग की बात सुनने के लिए प्रेरणा को सोनालिका आए नहीं मैं नजर आ जाती है वह दरवाजे को प्रेरणा बंद कर लेती है और अनुराग का फोन उठा लेती है सोनाली का दरवाजे को बंद होता हुआ देती है तभी वह गुस्से में आ जाती है और कहती है कि प्रेरणा नहीं है दरवाजा क्यों बंद कर दिया है कहीं ऐसा तो नहीं प्रेरणा अनुराग को मेरे बारे में सब कुछ बता रही हूं लेकिन प्रेरणा इतना बड़ा रिक्स नहीं लेगी लेकिन इन दोनों के बीच में आखिर हो क्या रहा है कौन सी बातें ऐसी हो रही है प्रेरणा फोन को जैसे उठाती है अनुराग प्रेरणा को वीडियो कॉल करने के लिए कहता है प्रेरणा जैसे ही वीडियो कॉल करती है अनुराग प्रेरणा से कहता है कि मैं अब तुम्हें उस आदमी को दिखाऊंगा जिस आदमी ने तुम्हारा एक्सीडेंट किया था तुम्हें वह पहचानना है कि वही आदमी था तुम्हारे एक्सीडेंट करने वाला या फिर वह नहीं था प्रेरणा को अनुराग जब उस आदमी को दिखाता है प्रेरणा उस आदमी को देख कर चौक जाती है और अनुराग को बताती है कि हां यह वही आदमी है जिसने मेरा एक्सीडेंट किया था अनुराग फोन को अपनी जेब में रख लेता है और उस आदमी को मारने लगता है और उससे पूछता है कि आखिर तू बता तुझे यह काम करने के लिए किसने बोला था वह आदमी वहां से भागने की पूरी पूरी कोशिश करता है लेकिन अनुराग से छोड़ता नहीं है तभी रॉनित वहां पर अपनी गाड़ी को लेकर आ जाता है और उस आदमी से इशारों में गाड़ी में बैठने के लिए कह देता है वह आदमी अनुराग को धक्का देकर गाड़ी में जाकर बैठ जाता है।

अनुराग जब उस आदमी को पकड़ने के लिए गाड़ी के पास जाता है और उसे पकड़कर गाड़ी से बाहर निकाल लेता है और उसे मारने लगता है लेकिन अनुराग की नजर जब रॉनित पड़ जाती है तभी वह रॉनित की शक्ल को देखकर उसे पुरानी बातें याद आने लगती है और उसके सिर में दर्द हो जाता है जिसकी वजह से उसका फायदा उठाकर रॉनित उस ड्राइवर को गाड़ी में बैठने के लिए कह देता है वह आदमी मौका पाकर गाड़ी में बैठ जाता है रॉनित गाड़ी को पीछे की तरफ ले रहा होता है तभी पीछे अनुपमा जाता है रॉनित अनुपम को देख कर डर जाता है और ड्राइवर के साथ वहां से भागने लगता है अनुपम जब उसका पीछा कर रहा होता है तभी अचानक अनुपम की नजर अनुराग पर पड़ जाती है और वह अनुराग को संभाले लगता है प्रेरणा फोन पर होती है तभी वह कहती है कि वहां पर कौन है अनुभव फोन को उठाता है और प्रेरणा से कहता है की प्रेरणा घबराओ मत मैं अनुराग के ही साथ हूं और अनुपम फोन को काट देता है अनुराग अनुपम से कहता है कि हमें उस आदमी का पीछा करना चाहिए अनुपमा गाड़ी में बैठते हैं और उसे ट्रक का पीछा करने लगते हैं ट्रक जब आगे चलकर रोड जाम बसता है अनुराग और अनुपम गाड़ी में से निकलकर ट्रक के पास चले जाते हैं और उस ड्राइवर को पकड़ते हैं लेकिन अनुराग जब उस ड्राइवर की शक्ल देखता है तभी वह कहता है कि यह तो वह ड्राइवर नहीं है तुम कौन हो ड्राइवर बताता है कि मैं उसे मिल के पास ही था तभी वहां पर दो आदमी आए और मुझसे कहा उन्होंने की यह गाड़ी की चाबी लो और इस गाड़ी को लगातार भगाना है और मेरी गाड़ी के पीछे एक और गाड़ी आएगी अगर उस गाड़ी ने मुझे पकड़ लिया तो वह मुझे पैसे देंगे वह आदमी अनुराग और अनुपम से पैसे मांगने लगता है अनुराग कहता है कि इसका मतलब उन्होंने हम दोनों को बेवकूफ बना दिया है और ऐसा आदमी को भी इतना कहकर अनुराग और अनुपम वहां से निकल जाते हैं।

Advertisement

मोहिनी कहती है कि मुझे प्रेरणा से बात करनी होगी और वह प्रेरणा का बाहर वेट कर रही होती है प्रेरणा जैसे ही नीचे उतर कर आती है और वहां से जा रही होती है तभी मोहिनी प्रेरणा को रोक लेती है और उससे कहती है कि तुम अनुराग के करीब जाने की कोशिश कर रही हो यह बात मैं अच्छी तरीके से जानती हूं तुम जो कर रही हो ना पहले तो तुमने दिखावे के लिए त्याग की देवी मनकर अनुराग को छोड़कर चली गई थी फिर तुम अनुराग की जिंदगी में वापस आने की कोशिश क्यों कर रही हो प्रेरणा मोहिनी से कहती है कि मैं त्याग की देवी नहीं हूं मैं अनुराग को छोड़कर सिर्फ अनुराग के लिए ही गई थी और आपको ऐसा लगता है कि मैं त्याग की देवी बनकर अनुराग को छोड़ दूंगी तू ही आपकी गलतफहमी है मैं अनुराग को कभी नहीं छोडूंगा क्योंकि वह मेरे बच्चे का पिता भी है मैं अपने बच्चे को उसके पिता का नाम दिलवाकर ही रहूंगी इतना कहकर प्रेरणा वहां से चली जाती है मोहिनी खड़े होकर बस यह देखते ही रह जाती है सोनालिका प्रेरणा की बातें सुन लेती है और सीधे कमरे में चली जाती है और गुस्से में टेबल पर चाकू मारने लगती है और प्रेरणा के बारे में सोच सोच कर और भी ज्यादा गुस्से में आने लगती है रॉनित सोनालिका को फोन करता है और उसे बात करने की कोशिश करता है और वह डिलीवर से कैसा है कि अगर इसे बाहर दी ने मेरा फोन नहीं उठाया तो तुम्हें मैं मार ही डालूंगा इतनी देर में सोनालिका फोन को उठा लेती है और रॉनित सोनालिका से कहता है कि आप यहां पर मत आना यहां पर खतरा है मैं इसी बात के लिए आपको फोन कर रहा था सोनालिका कहती है कि मुझे इतना तेज बोलने वाला पसंद नहीं है मुझे मैं सब कुछ जानती हूं इतना कहकर सोनालिका फोन को काट देती है।

अनुराग और अनुपम एक डिटेक्टिव के ऑफिस में जाते हैं और डिटेक्टिव को प्रेरणा के ऊपर जो हमले हो रहे हैं उसकी जासूसी करने के लिए कहती हैं और उसे कहती है कि यह सारी इनफार्मेशन जल्दी ही लाकर देनी होगी डिटेक्टिव कहता है कि आप चिंता मत कीजिए मैं आपको सारी इनफार्मेशन लाकर दे दूंगा अनुपम जैसे ही वहां से चला जाता है अनुराग डिटेक्ट पर कहता है कि आपको मेरा एक और काम करना होगा प्रेरणा के हस्बैंड के बारे में भी पता लगाना होगा कि आखिर उसका हस्बैंड है कौन और यह बात सिर्फ मुझे बताना इतना कहकर अनुराग वहां से चला जाता है अनुराग रात में प्रेरणा के बारे में सोच रहा होता है कि आखिर प्रेरणा पर अटैक कर कौन सकता है प्रेरणा टेबल पर बैठकर ही सोच रहे होती है कि क्या मुझे अनुराग से बात कर लेनी चाहिए मेरा इतना तो हक है कि मैं अनुराग से बात कर लूं इतनी देर में अनुराग का फोन प्रेरणा के पास आ जाता है अनुराग और प्रेरणा वीडियो चैट पर बात कर रहे होते हैं तभी प्रेरणा अनुराग से कहती है कि तुम मेरा यकीन नहीं मानोगे मैं अभी तुम्हारे पास फोन करने ही वाली थी अनुराग कहता है कि अच्छा प्रेरणा अनुराग से पूछती है कि क्या हुआ उस आदमी का अनुराग बताता है कि मैं जब उस आदमी को पकड़ा ही रहा था लेकिन वह मेरे हाथों से छूट गया लेकिन वहां पर एक और आदमी था जिसे देख कर मुझे ऐसा लगा कि मैंने उसे कहीं तो देखा है और कुछ धुंधली सी पुरानी चीजें याद आने लगी थी और मेरे सिर में काफी तेज दर्द होने लगा प्रेरणा घबरा जाती है और अनुराग से कहती है कि तुम अपना ख्याल भी नहीं रखते हो लेकिन तुम्हें अपना ख्याल रखना होगा अपने लिए नहीं बल्कि तुम्हें मेरे लिए अपना ख्याल रखना होगा अनुराग चौक जाता है और प्रेरणा से कहता है कि तुम ऐसा क्यों कह रही हो कि मैं तुम्हारे लिए अपना ख्याल रखूंगा।

Advertisement