Nazar Written Update 28 November 2019 In Hindi

Nazar Written Update 28 November 2019 Today Episode एपिसोड में आप सब देखेंगे कि कैसे अंश सारे घरवालों के नजरों में गिरने की कोशिश करता है और घर से जाने की कोशिश करता है तभी वहां पर निशान तेजी आ जाते हो और अंश को को बंदी बना लेते हैं और उसके कमरे में बंद कर देते हैं तभी थोड़ी देर के बाद वहां पर भी आ जाती है और अंश के आसपास सर्कल पाताल केतकी से बना देती है जिसकी वजह से अंश वहां से निकलना पाए पिया अंश से कहती है कि मैं जानती हूं कि तुम यह सब जानबूझकर कर रही हो अंश कहता है कि यह बात तुम्हें अपने पापा से पूछ लेना चाहिए कि उन्हें से सब कुछ जानते हुए कि अगर मैं मोहना को उस ताबूत में कैद कर देता हूं तो मेरे पास मोहना की सारी बुराइयां आ जाएंगे लेकिन उन्होंने यह जानते हुए भी मुझे नहीं रोका और मुझे यह सब करने पर मजबूर किया।

पिया यह सब बातें सुनकर चौक जाती है और अंश से कहती है कि मैं यह जानती हूं कि तुम यह सब जानबूझकर कर रही हो तुम्हारे अंदर कोई भी बुराई नहीं आई है अंश कहता है कि मैं सच कह रहा हूं मैं आप पहले जैसे अंश नहीं रहा हूं बल्कि आम में बदल चुका हूं पिया अंश को अपने गले से लगा लेती है और कहती है कि मैं जानती हूं कि तुम बदले नहीं हूं बल्कि तुम यह सब क्यों कर रहे हो मुझे अभी बता दूं अंश कहता है कि मैं यह सब जानबूझकर नहीं कर रहा हूं यह तुम्हारी गलतफहमी है जैसे ही पिया अंश को गले से लगा लेती है तभी अंश पर करने लगता है और उसकी आंखों में आंसू आ जाते हैं तभी थोड़ी देर के बाद अरोरा कहता है कि मैं पिया को अपने पास इतना नहीं ला सकता है जिससे मैं कमजोर हो जाऊं।

मेरा प्यार ऐसा नहीं है कि प्यार की वजह से मैं प्यार को अपने आप से ही दूर कर दूं इसलिए मुझे पिया की नजरों में गिरना ही होगा और पिया को अपने आप से दूर करना ही होगा अंश पिया के सामने हरकतें करना शुरू कर देता है और पिया को धक्का दे देता है और पिया से कहता है कि मुझसे दूर हट जाओ और मुझे यहां से अभी निकालो मैं यहां नहीं रह सकता पिया कहती है कि जब तक तुम मुझे बात नहीं बता देते कि आखिर तुम यह सब क्यों कर रहे हो तब तक मैं तुम्हें यहां से जाने नहीं दूंगी अंश पिया से कहता है कि अगर तुम्हें जरा सी भी मेरी परवाह है तो तुम मुझे अभी यहां से जाने दोगी पिया कहती है कि मुझे तुम्हारी परवाह है इसलिए मैं तुम्हें यहां से जाने नहीं दूंगी।

Also Read – Nazar Written Update 28 November 2019 In Hindi

पिया वहां से चली जाती है परी आदि के कमरे में जाती है आदि से कहती है कि हम दोनों को पापा के कमरे में चलना चाहिए तभी दोनों पापा के कमरे में चले जाते हैं पापा को बढ़ा हुआ देख दोनों ही अपसेट हो जाते हैं इतनी देर में आती और परी आगे बढ़ते और सर कल मैं जो पाताल केतकी होता है उसकी वजह से वह दोनों अंदर नहीं जा पाते अंश दोनों से कहता है कि तुम दोनों इस पाताल केतकी के अंदर नहीं आ सकते लेकिन मुझे यहां से निकलना ही होगा क्या तुम दोनों मेरी मदद करोगे तभी दोनों मदद करने के लिए राजी हो जाते हैं अंश से कहता है कि पिया के कबर्ड में इस जंजीर की चाबी है तुम दोनों जाओ और उसका बर्ड से चाबी को लेकर मेरे पास आ जाओ और चाबी को मुझे दे देना।

परी और आदि वहां से निकल जाते हैं आदि परी से कहता है कि तुम यहीं पर रुक ना मैं जब तक कावट से उस चाबी को लेकर आता हूं परी कहती है कि नहीं मैं भी तुम्हारे साथ चलती हूं आदि कहता है कि नहीं तुम्हें यहां पर रहकर नजर रखनी होगी कि कहीं कोई कमरे में तो नहीं आ रहा है परी वहीं पर कड़ी नजर रखने लगती है आदि जैसे ही कमरे में जाता है तभी वह अपना रूप बदल लेता है वह कोई और नहीं बल्कि दिलरुबा होती है दिलरुबा के हाथों में परी के बाल होते हैं दिल वालों को लेकर मोहना के पास चली जाती है।

निशांत जी जब अपने ऑफिस में होते हैं तभी वहां पर सेबी आ जाती है और निशांत जी को बताती है कि त्रिकोण धातु अपनी जगह से गायब है निशांत दीजिएगा चुनकर जाते हैं तभी सेवीसी कहते हैं कि क्या तुमने ध्यान से देखा है वहां पर तिलक और धातु नहीं है सेवी बताती है कि हां मैंने वहां पर ध्यान से देखा है तेरे को और धातु वहां पर नहीं है मैंने वहां पर और धातु के सही उत्तर पर धातु को रखा था लेकिन अब वहां पर नहीं है निशांत जी कहते हैं कि पता नहीं हो क्या रहा है हम नमन को जब दिलरुबा के संग ढूंढने के लिए गए थे तो दिलरुबा ने हमें बताया था कि नमन मिल चुका है और वह कुछ टाइम के लिए वहां पर रहना चाहता है यह भी बताती है कि दिलरुबा भी उस टाइम से पता नहीं कहां चली गई है दिखाई नहीं दे रही।

दिलरुबा मोहना के पास जाती है तभी मोहना दिलरुबा से पूछती है कि जो मैंने तुमसे कहा था क्या तुमने वह किया दिलरुबा मोहनाको त्रिकूट धातु दे देती है और परी के बाल भी दे देती है तभी मोहना खुश हो जाती है और दिलरुबा से कहती है कि सिर्फ और धातु की मदद से अब मैं जो करने वालों हूं वह कोई सोच भी नहीं सकता तभी उसे बाहर को दिल करदा तू पर बांध देती है तभी वह दिलरुबा को बताती है कि त्रिकूट धातु के अंदर जो तीर है अगर इस त्रिकोण धातु के ऊपर जिसका भी बाल है यह सीधे उसको ही जाकर लगेगा तभी दिलरुबा जब जाती है और कहती है कि इसका मतलब यह तीव्र सीधे परी को जाकर लगेगा।

मोहना कहती है कि हां यह त्रिकोण धातु तीर सीधे परियों को जाकर लगेगा और परी की मौत हो जाएगी दिलरुबा यह बात सुनकर चौक जाती है परी आंधी को जब ढूंढ रही होती है तभी आदि के कमरे में जाती है थोड़ी देर के बाद ही आदमी को सा जाता है और वह कहता है कि मैं यहां पर क्या कर रहा था इतनी देर में परी कमरे में आती है और आदि से कहती है कि तुम यहां पर क्या कर रहे हो तुम तो मां के कमरे में गए थे आधी कहता है कि मैं कल तुम्हारे संग गया था तभी परी कहती है कि तुम मेरे प्रसाद पापा के भी कमरे में गए थे तो उन्होंने हमसे यह नहीं कहता कि हम जाएं और मम्मा के कमरे में से कबर्ड मैसेज चाबी को लेकर उनके पास लेकर चले आधी कहता है कि मैं तो पापा के पास भी नहीं गया था पर यह बात सुनकर परी कहती है कि अगर तुम नहीं थे तो आखिर वह कौन था।

आदि और परी अंश के कमरे में जाते हैं तभी अंश को कहते हैं कि हम चाबी को ले आया अंश उन दोनों से कहता है कि इन दोनों तारों को खोल दो तभी दोनों ताले खोल दिए जाते हैं अंश आगे बढ़ने की कोशिश करता है लेकिन पाताल केतकी के वजह से वह सर कल से बाहर नहीं निकल पाता थोड़ी देर के बाद वह अपना दामन शुरू रखता है और तकलीफों को झेलते हुए उस सर्कल से बाहर निकल जाता है तभी आती और परी उसे संभाले लगते हैं अंश उन दोनों से कहता है कि तुम्हें यहां पर एक घर वालों का ध्यान रखना होगा और जो भी बातें हम दोनों के बीच में हुई है कोई भी किसी को कुछ भी नहीं बताएगा परी और आदि कहते हैं कि लेकिन आप कब तक आ पाएंगे लेकिन अंश इस बात का कोई भी जवाब नहीं देता और कहता है कि तुम सब का ख्याल रखना मैं चलता हूं।

पिया निशांत जी को सारी बातें बता देती है कि मैं जानती हूं कि अंश जी सब जानबूझकर कर रहा है निशांत जी के पास अचानक पंडित जी का फोन आ जाता है तभी पंडित जी निशांत जी को सारी बातें बता देते हैं कि मोहना ताबूत से निकल चुकी है निशांत जी यह बातें पिया को बताते हैं तभी पिया यह बात सुनकर जाग जाती है और कहती है कि मैं जानती थी कि अंश जो भी कर रहा है वह जानबूझकर कर रहा है अब मुझे पता चला कि उसे अच्छी तरीके से पता है कि मोहना लौट कर जरूर आएगी और उस पर हमला करेगी और मुझे चाहता है कि कोई भी उसके पास ना रहे ताकि किसी को कोई भी खतरा ना हो पाए और वह आराम से मोहना से सामना कर सके।

पिया अंश से मिलने के लिए वहां से निकल पड़ती है पिया जैसे ही अंश के कमरे में जाती है वहां पर जाकर देखती है कि अंश वहां से निकल चुका है पिया कहती है कि मैं जानती हूं कि वह कहां पर मिलेगा अंश छत के जरिए नीचे कूदने की कोशिश कर रहा होता है पिया इतनी देर में वहां पर पहुंच जाती है और अंश को रोकने की कोशिश करती है अंश कहता है कि मुझे पिया तुम छोड़ दो मैं यहां नहीं रहना चाहता पिया कहती है कि मैं जानती हूं कि तुम यह सब जानबूझकर कर रहे हो अंश कहता है कि यह बात तो तुम अपने पिता से पूछो कि आखिर मैं यह सब क्यों कर रहा हूं क्योंकि मोहनाको उन्होंने मुझसे कैद करवाया था और उसकी सारी बुराइयां मेरे अंदर आ चुकी है पिया कहती है कि तुम झूठ बोल रहे हो क्योंकि तुमने वह ढंग से कील अखाड़ा ही नहीं तुम होना कैद कैसे हो सकती हो और मोहना की सारी बुराइयां तुम्हारे अंदर कैसे आ सकती हैं पिया अंश को रोकने के लिए अभी दैविक शक्तियों का इस्तेमाल करती है अंश को पेड़ से बांध देती है तभी अंश अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करता है और उन पौधों को वहां से हटा देता है और आजाद हो जाता है और वहां से भागने की कोशिश करता है तभी पिया अंश को गले से लगा लेती है अंश अपने आप को संभालता है और पिया को उसी पेड़ से बांध देता है और कहता है कि जब तुम सब कुछ जानती हो और मैं किसी की जान खतरे में नहीं डाल सकता इसलिए मुझे मजबूरी में जहां से जाना ही होगा अंश इतना कहकर वहां से चला जाता है।

Add Comment