Nazar Written Update 27 November 2019 In Hindi

Nazar Written Update 27 November 2019 Today Episode एपिसोड में आज सब देखेंगे कि कैसे पिया जब कमरे के बाहर होती है तभी उसे ऐसा लगता है कि अंश बच्चों के साथ तो अच्छा है और वह कमरे के अंदर चली जाती है और अंदर जाकर देखती है कि दोनों बच्चे एक दूसरे से लड़ रहे होते हैं तब यह अंश उन दोनों को देखकर बहुत ही अलग कुसूर होता है तभी पिया बच्चों को रोकने की कोशिश करती है और उन्हें डांट रही है इतनी देर में अंश पिया पर चिल्लाने लगता है कि यह तुमने क्या किया कितने अच्छे सीन चल रहा था तभी पिया अंश से कहती है कि तुम यह क्या कर रहे हो दोनों बच्चे लड़ रहे हो और तुम्हें मजा आ रहा है तभी पिया से अंश कहता है कि तुम इन बच्चों को कैसा बनाना चाहती हो इन घरवालों की तरह जो हमेशा डरे डरे घूमते हैं या फिर अपनी तरह जो हमेशा रोती ही रहती है।

Advertisement

अंश की इन बातों को सुनकर पिया को बहुत ही ज्यादा तकलीफ पहुंचती है और वह रोने लगती है और अंश से जाकर कहती है क्या अंश आखिर तुम यह क्या कर रहे हो मैं जानती हूं कि यह तो सब तुम जान पूछ कर कर रहे हो तब यह बच्चे जैसे ही कुछ कहने वाले होते हैं तभी अंश अपने हाथ को उनकी तरफ करके उन दोनों को रोक देता है तभी क्योंकि अंश ने अपने दिल की सारी बातें उन दोनों बच्चों को बताएं होती हैं और उन दोनों का साथ मांगा होता है और बच्चों से वादा लिया होता है कि इस बारे में किसी को भी कोई भी कुछ भी नहीं बताएगा जिसकी वजह से बच्चे पिया को कुछ भी नहीं बता पाते और चुप रह जाते हैं।

Advertisement

अंश पिया को बुरा भला सुना कर वहां से चला जाता है तभी अंश को रोकने की कोशिश करती और उसके पीछे जाने लगते और उससे पूछती है कि आखिर क्या बात है जो तुम ऐसे कर रहे हो अंश पिया से कहता है कि तुम यह सवाल मुझसे क्यों कर रही हो बल्कि यह सवाल तो तुम्हें अपने पापा से पूछ लेना चाहिए उनके पास ही इस सवाल के सारे जवाब है तभी पिया यह बात सुनकर चौक जाती है और अपने पापा को फोन लगाने के लिए लग जाती है लेकिन उनके पापा का फोन स्विच ऑफ जाता है जिसकी वजह से पिया बहुत ही ज्यादा परेशान होती है निशांत जी और चाबी जैसे ही जंगल में जाते हैं तभी दिलरूबा उन दोनों को वहां पर रोक देती और गुफा के अंदर चली जाती है और गुफा के अंदर जाकर देखती है कि वहां पर नमन होता है दिलरुबा नमन के पास जाती है और उसका मुंह खोल देती है तभी नमन दिलरुबा से वहां से जाने के लिए कह देता है दिलरुबा वहां से जाने से इंकार कर देती है तभी दिलरुबा से नमन कहता है कि अगर तुम यहां से नहीं गई तो वह भी तुम्हें मेरी तरह यहां पर बंदी बना लेगी तभी दिलरुबा कहती है कि आखिर वह कौन है तभी वहां पर मुंह ना आ जाती है और दिलरुबा से कहती है कि एक चुड़ैल को सिर्फ एक आया नहीं पकड़ सकती है।

Also Read – Nazar Written Update 26 November 2019 In Hindi

Advertisement

दिलरुबा मोहनाको वहां पर देख कर चौक जाती है और मोहना से पूछती है कि आखिर तुम यहां पर क्या कर रही हो तभी मोहल्ला दिलरुबा से कहती है कि मैंने तुम्हारे पति को इसलिए बंदी बनाया है ताकि तुम मेरा एक काम कर सकूं दिलरुबा यह बात सुनकर चौक जाती है नमन दिलरुबा को वहां से जाने के लिए कह देता है दिलरुबा वहां से जाने के लिए इंकार कर देती मोहना दिलरुबा से कहती है कि तुम्हें मेरा एक काम करना होगा तभी मैं तुम्हारे पति को छोड़ दूंगी मोहना की बातों में दिलरुबा आ जाती है और मोहना का काम करने के लिए तैयार भी हो जाती है दिलरुबा बाहर जाती है और नमन और सभी से कहती है कि अब हमें यहां से चलना चाहिए निशांत जी दिलरुबा से कहते हैं कि क्यों नमन अंतर नहीं मिला तभी दिलरुबा कहती है कि नमन जी तो अंदर है लेकिन वह भी जहां पर कुछ देर और रहना चाहते हैं वह खुद ही घर पर आ जाएंगे हमें चलना चाहिए तभी से भी कहती है कि हमें तू यहां पर आना ही नहीं चाहिए था।

निशांत जी और सेवी जैसे ही अपने ऑफिस में पहुंचते हैं तभी निशांत जी अपने फोन को चालू कर देते हैं फोन में काफी सारी मिस कॉल पड़ी रहती हैं तभी निशांत जी कहते हैं कि वह इस समय तो पिया की काफी ज्यादा मिस कॉल है मुझे पिया से बात करनी होगी कुछ जरूरी बात जरूर है तभी वहां पर पिया आ जाती है और कहती है कि इसलिए तो मैं यहां पर तुम आपसे मिलने के लिए चली आई हूं निशांत जी पिया को देखकर वहां पर चौक जाते हैं तभी पिया निशा तेजी से पूछती है कि आखिर अंश को हुआ क्या है वह यह सारी हरकतें क्यों कर रहा है तभी निशांत जी पिया से कहते हैं कि लेकिन मैंने तो तुम्हें पहले ही सारी फोन पर बातें बता दी है पिया कहती है कि नहीं मुझे कोई भी फोन नहीं आया निशांत जी कहते हैं कि नहीं मैं नहीं तुम्हें खुद फोन करके सारी बातें बताई थी पिया कहती है कि मुझे कोई भी फोन नहीं आया है निशांत जी पिया से सारी बातें कह देते हैं कि मोहना को कैद करने की वजह से अंश की यह हालत हो रही है मोहना की सारी बुराइयां अंश के अंदर आ चुकी हैं।

अंश आदि के पीछे चिल्लाता हुआ भाग रहा होता है तभी सारे घर वाले यह सब देख कर चौक जाते हैं और अंश को रोकने की कोशिश करते हैं अंश आदि के पीछे पीछे बालकनी में चला जाता है और उसका गला पकड़ कर बालकनी के बाहर उसे खड़ा कर देता है सारे घर वाले अंश को समझाने की कोशिश करते हैं तब वेद श्री पिया को कॉल लगाती है और उसे जल्दी घर आने के लिए बोल देती है पिया बहुत ही बुरी तरह से डर जाती है और निशांत जी और सभी के साथ घर पर पहुंच जाती है और वहां पर देखती है कि अंश आदि को बालकनी के गले से पकड़कर खड़ा हुआ है तभी बिया अंश के पास जाती है और आदि को छोड़ने की मिन्नत करने लगती है लेकिन अंश कहता है कि बच्चे को समझाने का यही एक तरीका है तभी सारे घर वाले कहते हैं कि यह कोई बच्चे को समझाने का तरीका नहीं है अंश कहता है कि यह मेरा बच्चा है मुझे इसे इसी तरह से समझाना है सारे घर वाले कहते हैं कि वह एक बच्चा है अंश कहता है कि यह मेरा बेटा है लेकिन यह मेरे बाप बनने की कोशिश कर रहा थ।

अंश इतनी देर में आदमी को ऊपर से नीचे फेंक देता है सारे घर वाले सब देख कर चौक जाते हैं और जाते हो नीचे भागने लगते हैं इतनी देर में वहां पर परी आ जाती है और अपने चोटी की मदद से आधी को पकड़ लेती है और नीचे रख देती है और पर इतना करके वहां से भाग जाती है और आधी नीचे गैरों से की हालत में लेट जाता है सारे घर वाले बाहर आते हैं और आधी को गैरों से की हालत में देखकर घबराने लगते हैं और आधी को उठाकर कमरे के अंदर ले जाते हैं तभी अविनाश कहता है कि आदि की तबीयत पूरी तरह से ठीक है उसकी सांसे चल रही है बस मुझे लगता है वह गैरो सो गया है हमें इंतजार करना चाहिए विधि कहती है कि मुझे अंश से यह उम्मीद नहीं थी ।

अंश जब बालकनी में खड़ा होता है तभी मोहना दूसरे घर में आ जाती है और अंश से कहती है कि मैं जानती हूं कि तुम मेरी बातें अच्छी तरीके से सुन सकते हो क्योंकि तुम्हारे अंदर मेरा खून दौड़ रहा है तभी मोहना अंश से कहती है कि तुमने एक्टिंग तो अच्छी की थी तुम यह करना चाहते हो कि तुम सारे घरवालों के नजरों में गिर जाओ और सारे घर वाले तुमसे नफरत करने लगी ताकि सारे घर वाले तुम्हें बचाने की कोशिश ना करें और वह कोई भी मुसीबत में ना पढ़ पाए लेकिन तुम्हारे इरादे कामयाब नहीं हो पाएंगे और मैंने तुम्हें सिर्फ 2 दिन का वक्त दिया था और आज दूसरा दिन है और वह दूसरा दिन भी जल्दी ही खत्म होने वाला है अंश यह बात सुनकर डर जाता है और कमरे में अपना सामान पैक करने लगता है तभी वहां पर सारे घर वाले आ जाते हैं और अंश से कहते हैं कि यह क्या बदतमीजी थी तुमने अपने बेटे के साथ यह सब करके अच्छा नहीं किया तभी अंश कहता है कि मैं तुम सब से बहुत ही ज्यादा परेशान हो चुका हूं खासतौर से इनसे जो हमेशा यह कहती हैं कि यह मत करो कि वह मत करो मैं बहुत ही अलग परेशान हो चुका हूं कि सच्चाई के रास्ते पर ही हमें हमेशा चलना चाहिए मैं सच्चाई के रास्ते पर चलकर बहुत परेशान हो चुका हूं सच्चाई के रास्ते पर नहीं चलना है ।

अंश सारे घर वालों को अपना फैसला सुना देता है कि वह इस घर में नहीं रहेगा और बैग को लेकर वहां से जब जा रहा होता है सारे घर वाले अंश को रोकने की कोशिश करते हैं तभी वहां पर निशांत जी आ जाते हैं और अंश पर पाताल केतकी से बाहर कर देते हैं तभी अंश बहुत ही ज्यादा कमजोर होने लगता है और निशांत जी उसे जादुई रस्सी से कैद कर लेते हैं और उसे जंजीर से एक कमरे में बांध देते हैं तभी अंश वहां से घुटने की कोशिश करता है लेकिन वह अपने आप को छुड़ाना ही पता तभी वहां पर भी आ जाती है और अंश से कहती है कि मैं जानती हूं कि यह सब तुम जान पूछ कर कर रहे हो लेकिन मैं यह नहीं जानती कि आखिर तुम यह कर क्यों रहे हो तुम मुझे बता सकते हो अंश कहता है कि यह बात तो तुम्हें अपने पापा से पूछ लेनी चाहिए यह सब कुछ अच्छी तरीके से पता था कि अगर मैं मोहना को कैद कर दूंगा तो सारी बुराइयां मेरे अंदर आ जाएंगे फिर भी उन्होंने मुझे रोकने की कोशिश नहीं की और उन्होंने तू जानबूझकर मुझे मोहना को कैद करने के लिए कहा और जिसकी वजह से मैं आज ऐसा बन चुका हूं तभी पिया कहती है किंतु में से नहीं हूं मैं जानती हूं कि तुम जो भी कर रहे हो जानबूझकर कर रहे हो तभी पिया अंश को अपने गले से लगा लेती है अंश पिया को अपने गले से लगा हुआ देखता है तभी वह कमजोर होने लगता है।nazar today epside full episode

Advertisement