Nazar Tv Show

Nazar Written Update 25 December 2019

Nazar Written Update 25 December 2019 Today Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे ऑफिसर पिया और अंश को सबके सामने लेकर आते हैं यहां सारे घरवालों को बताते हैं कि यह दोनों वेदश्री को मारने की कोशिश कर रहे थे सारे घर वाले यह बात सुनकर चौक जाते हैं थोड़ी देर के बाद वहां पर निशान तेजी और सेवी सैंटा का रूप रखकर वहां पर आ जाते हैं और सारे घर वाले हैं उन्हें देख कर चौक जाते हैं कि ताली कहती है कि क्या हमने भी बुलाया था वहां पर पुलिस वाले उन दोनों सेंटर से कहते हैं कि आप दोनों यहां पर आने में लेट हो गए हैं पार्टी कब की खत्म हो चुकी है सेंटा कहते हैं कि जब तक हम नहीं आते पार्टी खत्म कैसे हो सकती है जब तक हम बच्चों को गिफ्ट नहीं दे देते ऑफिसर निशांत जी से कहता है कि इस बैग में आकर है क्या तभी इतनी देर में वहां पर बच्चे आ जाते हैं निशान जी और सेवी उन बच्चों को देखकर उन्हें गिफ्ट देने की कोशिश करते हैं

Also Read – Nazar 25 December 2019 Latest News

तभी आ जाना उनके हाथों से बैग नीचे गिर जाता है और सारे गिफ्ट नीचे गिर जाते हैं दोनों जब उन गिफ्ट को उठा रहे होते हैं तभी निशान तेरी उसमें से एक बॉक्स को पिया और अंश के पास खिसका देती है और सारे गिफ्ट में से दो बार होती है जो उन्हें निकाल कर बाहर फेंक देते हैं जिन वालों की वजह से पूरे कमरे में धुआं होने लगता है पुलिस वाले थोड़ी देर के बाद कहते हैं कि आखिर ये धुआं हो किसलिए रहा है थोड़ी देर के बाद वहां से पुलिस वाले देखते हैं कि अंश और पिया वहां से गायब है और बच्चे भी वहां से गायब है पुलिस वाले अंश और पिया को देखने लगते हैं अंश और पिया परी को ले जाकर छत पर खड़े हो जाते हैं पर उनके सामने होती है अंश पिया से मोहना पर चाकू से वार करने के लिए बोल देता है।

मोहना परी का रूप रख देती है और क्या पिया से कहती है कि मम्मा आप मुझ पर बाहर कैसे कर सकती हैं मुझे बहुत ही ज्यादा दर्द होगा पिया इमोशनल हो जाती है अंश पिया को समझाने की कोशिश करता है कि पिया तुम्हें बाहर करना ही होगा पिया तुम बाहर करो यह हमारी बेटी नहीं है मोहना मौके का फायदा उठा रही होती है और हमने चोटी का इस्तेमाल अंश पर करने की कोशिश करती है तभी वहां पर निशान तेजी आ जाते हैं और मोहना को एक जादुई रस्सी से पकड़ लेते हैं और पिया से कहते हैं कि पिया तुम्हें बाहर करना ही होगा अगर तुम परी पर बार नहीं करोगी तो हम पिया के अंदर से मोहना के प्राण नहीं निकाल पाएंगे और वह प्राण प्याले में नहीं आ पाएगी पिया जब बार कर रही होती है तभी वहां पर पुलिस वाले आ जाते हैं और इतनी देर में पिया से कहते हैं कि पिया जी अपनी हथियार नीचे रख दो वरना मैं गोली चलानी होगी अंश पिया से कहता है कि पिया तुम किसी की मत सुनो और इस हथियार को परी पर चलाओ इतनी देर में जब हथियार चला रही होती है तभी अचानक ऑफिसर उस गोली को चला देता है जिसे अंश खुद सामने आ जाता है और अंश के सीने पर गोली लग जाती है अंश उस गोली को खा कर नीचे की तरफ गिर जाता है पिया के हाथों से वह चाकू नीचे गिर जाता है और पिया को देखकर गुस्से में आ जाती है और उस चाकू को उठाकर बरबाद कर देती है परी के अंदर से मुनावारा जाती है निशांत जी मोहनाको प्राण प्याले में बंद कर लेते हैं ऑफिसर यह सब देख कर चौक जाता है परी जब गैरों सोने वाली होती है पिया उसके पास जाती है और उसे संभालने की कोशिश करती है।

थोड़ी देर के बाद वहां पर अंश भी आ जाता है प्रिया अंश को देखकर बहुत ही अदा खुश हो जाती है पिया और अंश अपनी बेटी को गले से लगा लेते हैं और सारे घर वाले ऑफिसर के सामने आते हैं और ऑफिसर से कैसे हैं कि आप तो आपको यकीन हो गया होगा कि पिया ने ऐसा कुछ भी नहीं किया है ऑफिसर कहता है कि मुझे तो कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है कि आखिर यह क्या हो रहा है और डायन चुड़ैल होती भी है मुझे तो अब तक आपकी बातों पर यकीन नहीं है शेखर और सारे घर वाले समझाने की कोशिश करते हैं यह सब आपकी आंखों के सामने हुआ है यह सब जो भी हुआ था वह मोहना ने किया था ऑफिसर कहता है कि आपने जिस को प्राण प्याले में बंद करके रखा है थोड़ी देर बाद प्लीज यह मत कहिए घर की अंश भी उन्हीं के बेटे हैं और मोहना इसकी मां है तभी वहां पर वेदश्री आ जाती है और ऑफिसर से कहती है कि आप सही कह रहे हैं मोहना अंश की ही मां है यह बात सुनकर ऑफिसर भी चौक जाता है और सारे घर वाले जब वेदश्री को इस हालत में देखते हैं तभी बहुत ही ज्यादा खुश हो जाते हैं और उनके पास चले जाते हैं अंश जब वेदश्री को मां कहकर पुकारा होता है तभी ऑफिसर अंश से कहता है कि आप यह कह रहे हैं कि मोहना अंश की मां है तो आप फिर वेदश्री को अपनी मां क्यों बता रहे हैं आपने मुझे बेवकूफ समझ के रखा है वेदश्री बताती है कि नहीं ऑफिसर मैं सही कह रही हूं मोहना अंश की मां है अंश को मोहना ने जन्म दिया है और मैंने अंश को पाला है अविनाश ऑफिसर के पास आता है और ऑफिसर को बताता है कि अब तो आपको यकीन हो गया और आपने भाभी का भी बयान सुन लिया है कि पिया ने उन पर हमला नहीं किया है।

ऑफिसर अविनाश से कहता है कि हां यह तो यकीन हो गया कि वेदश्री के ऊपर जो अटैक हुआ था वह पिया ने नहीं किया था लेकिन अभी भी जानू यादव की लाश की गुत्थी अभी सूजी नहीं है अविनाश कहता है कि ऑफिसर आप ही सोचिए कि जिस तरह से जानू यादव की मौत हुई है उसको तो कोई भी नहीं सॉल्व कर सकता आप भी फाइल में लिखेंगे क्या कोई भी सबूत पिया के खिलाफ नहीं है इसलिए आप पिया को गिरफ्तार नहीं कर सकते इतना सुनकर ऑफिसर कहता है कि मुझे आपकी बातों पर यकीन तो नहीं हो रहा है लेकिन फिर भी मैं यहां से जा रहा हूं इतना कहकर ऑफिसर वहां से चला जाता है अंश और पिया बहुत ही ज्यादा खुश होते हैं और एक दूसरे के साथ होते हैं अंश कहता है कि हमने काफी टाइम से अपने दिल की बात एक दूसरे से नहीं कही है अंश पिया से अपने दिल की बात जब कह रहा होता है तभी वहां पर पिया के दोनों बच्चे आ जाते हैं और उन दोनों को छू लेने लगती है अंश और पिया दोनों से मस्ती करने लगते हैं और उधर दूसरी तरफ सेवी निशांत जी प्राण प्याले को अपने साथ अपने ऑफिस में ले आते हैं और कहते हैं कि हमें इस प्राण प्याले को यहीं पर रखना होगा सेवी कैसी है कि हम यहां पर इसे कैसे रख सकते हैं इसे हम रखेंगे कहां निशांत जी कहते हैं कि मोहना की आधी जान उस ताबूत में कैद है और आधी हमारे पास है और मोहना की चोटी सर्फ के पास है इसलिए हम इस प्राण प्याले को अपने पास ही रखेंगे सेवी कह रही है कि अगर हमें इसे अपने पास रखेंगे तो कोई भी इसे यहां से ले जा सकता है तभी निशांत जी कहते हैं कि इसलिए हमें एक रहस्यमई ताला बनाना होगा।

निशांत जी उस रहस्यमय ताले को बना लेते हैं और सेवी से कहते हैं कि लेकिन हमें इसे लगाने से पहले इसका टेस्ट करना होगा निशांत जी और सेवी वहां से उसे हटाने का टेस्ट करने के लिए वहां से चले जाते हैं प्राण पहले को छोड़कर तभी वहां पर वही ऑफिसर आ जाता है और उस प्राण पहले को खोलने की कोशिश करता है इतनी देर में वापस निशांत जी आते हैं और उस ऑफिसर को रोक लेते हैं और उनसे पूछते हैं कि आप यहां पर क्या कर रहे हैं क्या वहां पर जासूसी करने के लिए आए हैं ऑफिसर कहते हैं कि नहीं मैं यहां पर ना ही कुछ जांच करने के लिए आए हूं और ना ही किसी पर इल्जाम लगाने के लिए मैं तो यहां पर सिर्फ आप से मदद मांगने के लिए आया हूं निशांत जी यह बात सुनकर चौंक जाते हैं ऑफिसर निशांत जी को बताता है कि मेरे पास कुछ टाइम से एक ऐसा चीज है जो अजीब है इसलिए मैं उस केस को सॉल्व करने के लिए आपकी मदद चाहता हूं ऑफिसर उस वीडियो को निशांत जी को दिखाता है वह वीडियो में आदमियों को गाड़ियों के आगे कोई इंसान ढकेल रहा होता है और किसी को लिफ्ट में मार रहा होता है लेकिन वह आदमी दिखाई नहीं देता निशांत जी कहते हैं कि यह आदमी तो अदृश्य है ऑफिसर कहता है कि हां मुझे इस आदमी को पकड़ने के लिए आपकी मदद की जरूरत पड़ेगी मुझे यह जानना है कि किसी को अदृश्य किस तरह से किया जा सकता है।

पिया जब किसी काम के लिए नीचे आती है और देखती है कि कोई लिफ्ट में से हमारे घर में आया है पिया जैसे दरवाजा पर देखने के लिए जाते हैं लेकिन लिफ्ट में कोई भी नहीं होता लेफ्ट खुल रही होती है पिया कहती है कि यह लिफ्ट यहां पर क्यों आई है और यहां पर तो कोई भी नहीं है तभी वहां पर अंश आ जाता है पिया अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करने वाली होती है अंश पिया को रोक लेता है और कहता है कि तुम यह क्या कर रही थी पिया कहती है कि मैं तो डर गई थी इसलिए अपनी शक्तियों का इस्तेमाल कर रही थी अंश कहता है कि इसमें डरने की क्या बात है पिया अंश को बताती है कि लिफ्ट यहां तक आई लेकिन लिफ्ट में तो कोई था ही नहीं अंश कहते हैं कि किसी ने गलती से हमारे फ्लोर का बटन दबा दिया होगा इसमें घबराने की कोई बात नहीं है हम एक कमरे में चलना चाहिए पिया कहती है कि नहीं मुझे किचन में कुछ काम है पहले मैं काम कर लेती हूं फिर कमरे में आती हूं अंश पिया की एक भी नहीं सुनता और उसे कमरे में ले जाता है वहां पर कुर्सी पर कोई अदृश्य आदमी बैठा होता है और झूल रहा होता है अखबार को उठाकर पड़ने लगता है अंश और पिया अपने कमरे में सो रहे होते हैं तभी अंश को कुछ आवाज सुनाई देती है अंश उठ जाता है और कहता है कि क्या यहां पर कोई था मुझे ऐसा लगा हो सकता है यह मेरी गलतफहमी हो यह सोचकर अंश दोबारा सो जाता है लेकिन थोड़ी देर के बाद अंश पर कोई अदृश्य आदमी हमला कर देता है और अंश का गला दबाने लगता है पिया जे सब देखती है और चौक जाती है अदृश्य आदमी अंश को घसीटा हुआ ले जाता है पिया अंश को रोकने की कोशिश करती है।

About the author

Rajeev

Rajeev Kumar Saini