Nazar ~ Written Update ~ 24 December 2019

Nazar Written Update 24 December 2019 Today Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे अंश और पिया पुलिस से बचते हुए जंगल में भाग जाते हैं और एक कुएं के पास आकर बैठ जाते हैं वहां पर पुलिस वाले आते हैं और अंश और पिया को वहां पर जब ढूंढ रहे होते हैं लेकिन वहां पर उन्हें वह दिखाई नहीं देते और वहां से वह चले जाते हैं तभी अंश और भी एक दूसरे से बात कर रहे होते हैं नूरा कहता है कि अगर तुम अपनी शक्तियों पर कंट्रोल कर लेती तो आज हम यहां पर नहीं होते पिया कहती है कि इसमें मेरी कोई गलती नहीं थी मैंने अपनी शक्तियों का इस्तेमाल नहीं किया था तभी अंश कहता है कि अगर तुमने अपनी शक्तियों का इस्तेमाल नहीं किया था तो आखिर उस लाश को दीवार से बाहर निकाला किस नेता यह बात सुनकर पिया चौक जाती है अंश पिया से कहता है कि लेकिन आखिर यह सब कर सकता है क्योंकि हम तो सारे घर वाले लिविंग रूम में ही थे पिया को परी का ख्याल आता है तभी वह अंश को बताती है कि सब लिविंग रूम में नहीं थे बल्कि वहां पर परी नहीं थी

Advertisement

Also Read – Nazar 24 December 2019 Latest News

Advertisement

अंश यह बात सुनकर चौक जाता है और कहता है कि तुम पर शक कर रही हो पिया अंश को बताती है कि जब से हम परी को बचाकर लेकर आए हैं उसका बर्ताव को समझ में नहीं आ रहा है उसका बर्ताव अजीब सा हो गया है मुझे उस पर कुछ सकता है अंश कहता है कि इस बात का पता हम लगाकर ही रहेंगे इसलिए हमें यहां से निकलना होगा पुलिस वाले उधर से निकले हैं तो हमें दर से जाना होगा अंश और पिया वहां से जब जा रहे होते हैं तभी अचानक उन दोनों के सामने अविनाश आकर खड़ा हो जाता है गन को तानकर और उन दोनों से कहता है कि तुम दोनों ने अच्छा नहीं किया है कस्टडी से भागकर मैंने अंश तुम्हें कितना समझाया था कि हम पिया को कानूनी तौर पर भी बचा सकते हैं हम पिया के लिए लड़ते लेकिन तुमने मेरी बात नहीं सुनी और पिया को वहां से भगा लाए लेकिन मैं अब तुम दोनों को नहीं छोडूंगा और पुलिस के हवाले करके ही रहूंगा इससे अच्छा होगा कि तुम दोनों अपने आप को पुलिस के हवाले कर दो अंश अपने चाचा को समझाने की कोशिश करता है और उन्हें बताता है कि हमारा जाना बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि सब की जान बहुत ही अदा खतरे में है हमें पता लग चुका है कि इसके पीछे कौन है लेकिन अभी हम आपको उसका नाम नहीं बता सकते क्योंकि हम खुद कंफर्म करना चाहते हैं।

यह सब सुनकर अविनाश उन दोनों का साथ देने के लिए तैयार हो जाता है और पुलिस को गलत ट्रेक्शन मैं भेजने के लिए हवा में गोली फायर कर देता है जिससे गोली की आवाज सुनकर वहां पर पुलिस वाले आ जाते हैं और अविनाश को नीचे गिरा हुआ देख लेते हैं वहां पर ऑफिसर आता है और अविनाश से पूछता है कि आखिर क्या हुआ है तभी अविनाश बताता है कि मैं पिया और अंश को पकड़ने की कोशिश कर रहा था लेकिन उन्होंने मुझे धक्का देकर यहां से निकल गए हैं पुलिस वाले दूसरी तरफ चले जाते हैं तभी पिया और अंश इस बात का फायदा उठाते हैं और दूसरे रास्ते से वहां से निकल जाते हैं लेकिन जाने से पहले अविनाश उन दोनों से कह देते हैं कि माय पास बस कुछ ही टाइम तक का टाइम है बस तुम्हें थोड़ा सा ही टाइम दे सकता हूं इस बीच में तुम सब कुछ पता लगा लो वरना मैं तुम्हें गिरफ्तार कर लूंगा पिया और अंश उन की बात मान जाते हैं और वहां से चले जाते हैं निशांत जी पता लगाने की कोशिश कर रहे होते हैं कि आखिर घर वालों में से किस के मोहना के आधे प्राण है तभी वहां पर प्रिया और अंश आ जाते हैं निशांत जी उन्हें बता देते हैं अंश से बात को लेकर चौक जाता है पिया अपने पिता को बताती है कि और मोहना की आधी जान किसी और के अंदर नहीं बल्कि परी के अंदर ही है परी के बढ़ता कुछ टाइम से सही नहीं है निशांत जी कहते हैं कि जब तुमने परी का नाम लिया है तो इसका मतलब परी के अंदर ही मोहना के आधे प्राण है।

Advertisement

पिया बताती है कि हां परी नहीं मुझे लगता है मां को ऊपर से नीचे गिराया होगा और उसी ने जानू यादव के प्राण भी खाए होंगे सेवी कहती है कि और परी नहीं सारा इल्जाम आपके ऊपर ही रखा है ताकि आप इस केस में बुरी तरह से फंस जाएं अंश और प्रिया डिसाइड करते हैं कि वह परी पर नजर रखने के लिए वहां पर जाएंगे लेकिन निशांत जी मना कर देते हैं और उन दोनों को बताते हैं कि लेकिन तुम वहां पर जाकर करोगे क्या क्या तुम दोनों परी से सामना कर पाओगे नहीं कर पाओगे और वहां पर आकर जाओगे कैसे पुलिस वाले हर वक्त घर पर नजर रखे हुए होंगे तुम उनके सामने अगर आ जाते हो तो वह तुम दोनों को पकड़ लेंगे सेवी बताती है कि पहले हमें परी के अंदर से मोहना के आधे प्राण बाहर निकालने ही होंगे इसके लिए हमने कुछ सोच कर रखा है निशांत जी बताते हैं कि एक सलूशन है जिसको बस टेस्ट करना है इतना सुनकर निशांत जी सलूशन को टेस्ट करने के लिए लग जाते हैं लेकिन वह सलूशन फेल हो जाता है निशांत जी इस बात को लेकर बहुत ज्यादा परेशान हो जाते हैं थोड़ी देर के बाद वहां पर चेताली का फोन आ जाता है निशांत जी के पास निशांत जी से चेताली कहती है कि मुझे कुछ परी ठीक नहीं लग रही है वह अजीब सा बर्ताव कर रही है उसने पहले कभी भी ऐसा बर्ताव नहीं किया है जिस तरह से बर्ताव करने लगी है तभी अंश फोन पर बात करने के लिए कहता है लेकिन निशांत जी अंश से मना कर देते हैं और अंश को बताते हैं कि वह सकता है पुलिस वालों ने हम सब का फोन ट्रेस करके रखा हो और वह तुम हम सब की बातें भी सुन रहे हो इसलिए हमें घुमा कर बात करनी होगी निशांत जी चेताली को बताते हैं कि परी जरूर अपने मम्मी पापा के लिए परेशान होगी इसलिए हम सबका ध्यान डायवर्ट करने के लिए घर में एक पार्टी रखते हैं इस बात को चेताली पहले समझ नहीं पाती लेकिन शेखर उनकी बात को समझ जाते हैं और चेताली से कहते हैं कि जाओ पार्टी की तैयारी शुरू करो।

निशांत जी पिया और अंश से कहते हैं कि अब तुम उस पार्टी के बहाने घर के अंदर जा सकते हो पिया और अंश घर के अंदर जाने के लिए वहां से निकल जाते हैं पुलिस वालों को यह पता लग जाता है कि अंश के घर पर पार्टी हो रही है पुलिस वाले यह समझ नहीं पाते कि इतनी परेशानी में भी वह पार्टी कैसे कर सकते हैं हमें जाकर देखना होगा या फिर यह एक कोड है हमें सिर्फ डिस्टिक करने के लिए निशांति जी और सेवी रिसर्च कर रहे होते हैं लेकिन उन्हें कुछ भी नहीं मिल पाता निशांत जी परेशान हो जाते हैं इतनी देर में सेवी कहती है कि नमन ने भी अपनी बेटी को यहां पर छोड़ दिया है निशांत जी एक चाकू को निकालते हैं और सेवी को बताते हैं कि यह वह एक ऐसा धातु है जिससे हम मदद ले सकते हैं जो भी लिक्विड हमारे काम का है उसे लिक्विड पर दया जाकर यह धातु चमकने लगेगा निशांत जी उस आंखों को सारे लिक्विड पर तुम आते हैं लेकिन कुछ भी नहीं होता सेवी कह दी है कि इसका मतलब हम वैसे ही सलूशन को निकालने में लगे हुए थे यह तो किसी काम के भी नहीं है लेकिन हम आखिर करेंगे क्या परी के अंदर से मोहना के आधे प्राण निकालने के लिए अचानक डफली के हाथों से एक बॉक्स नीचे गिर जाता है निशांत जी जैसे ही उस बॉक्स को उठाते हैं उस बॉक्स में कुछ और नहीं बल्कि प्राण प्याले होता है निशांत जी कहते हैं कि 1 मिनट प्राण प्याले शायद कुछ हो जाए तभी उस चाकू को प्राण पहले पर रखते हैं तो चाकू चमकने लगता है निषाद जी कहते हैं कि इस प्राण प्याली का जरूर कुछ ना कुछ काम होगा पिया और अंश जैसे उस पार्टी में एक गिफ्ट बॉक्स में पैक हो कर वहां पर पहुंच जाते हैं वहां पर पुलिस वाले भी आ जाते हैं और पिया अंश को इधर-उधर ढूंढने लगते हैं प्रिया अंश अपने फेस पर मास्क पहन कर आ जाते हैं और पार्टी में नाचने लगती हैं पिया कहती है कि हमें परी पर ध्यान देना होगा परी मौका पाकर वहां से निकल जाती है।

पिया और अंश परी का पीछा कर रहे होते हैं पुलिस वाले कहते हैं कि हमें बच्चों से पूछ लेना चाहिए उसकी मां और पापा के बारे में क्योंकि बच्चे कभी भी झूठ नहीं बोलते पुलिस वाले परी के भी पीछे आ जाते हैं पर ही कमरे में जाती है विदेश्री के रूम में और वहां पर जाकर एक कुर्सी पर जाकर बैठ जाती है तब एपीआर अंश कमरे में जाते हैं और वहां पर जाकर देखते हैं कि पर यह कुर्सी पर बैठी हुई है वहां पर जाकर कहती है कि तुम दोनों को मेरे बारे में पता लग चुका है अब तुम यह सोच रहे होगे कि तुम दोनों तो भेज बदलकर जहां पर आए हो और मुझे कैसे पता लग गया तुम दोनों के बारे में तुम जानते नहीं हो कि मैं कौन हूं मैं तुम्हारी मां हूं तो मैंने तुम दोनों को डांस करते हुए देख लिया था और मुझे पता लग गया था कि तुम दोनों इस पार्टी में आए हो जैसे ही तो मुझे पता चला कि घर में पार्टी होने वाली है तो मुझे पता लग गया था कि तुम दोनों कुछ ना कुछ सोच रहे हो और तुम दोनों को मेरे बारे में पता लग गया है इसलिए मैंने विदेश्री को उस जगह पर बंद कर दिया है जैसे ही मैं यह दोनों बटन को दबा दूंगी विदेश्री के प्राण निकल जाएंगे यह बात सुनकर पिया और और आप बहुत ही ज्यादा घबराने लगते हैं और मोहना से कहते हैं कि मोहना ऐसा मत करो लेकिन मोहना फिर भी उस बटन को ऑन कर देती है जिसकी वजह से विदेश्री को करंट लगने लगता है अंश जैसे स्विच को बंद करने के लिए आगे बढ़ता है मोहना अपनी चोटी की मदद से उसे रोक लेती है पिया आगे बढ़ती हो और उस बटन को बंद करने की कोशिश करती है तभी मोहना पिया से कहती है कि अगर तुमने ऐसा किया तो आपने इस मां के साथ साथ तुम भी अपनी जान दे दूंगी लेकिन पिया उस बटन को फिर भी दबाने वाली होती है इतनी देर में अंश मोहना की चोटी को हटाकर उस बटन को दबा देता है जिसकी वजह से अंश को भी करंट लग जाता है मोहना परी का रूप रखकर बाहर आ जाती है बाहर पुलिस वाले परी से पूछते हैं कि तुम कभी भी झूठ नहीं बोलती तुझे बताओ यहां पर तुम्हारे मम्मी पापा है या नहीं तभी परी कैसी है कि मैं मानती हूं कि मैं कभी भी झूठ नहीं बोलती लेकिन मैं मां की बात भी नहीं टाल सकती इसलिए मैं आपको नहीं बताऊंगी कि मेरे मां और पापा दादी जी के कमरे में है पुलिस वाले वहां पर चले जाते हैं ।

Advertisement