Nazar ~ Written Update ~ 19 December 2019

Nazar Written Update 19 December 2019 Today Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे अंश जब उस ऑफिसर को उसका रूम दिखाने के लिए जाता है और दरवाजा खोलने की कोशिश करता है लेकिन दरवाजा बहुत ही ज्यादा टाइट होता है तभी वह ऑफिसर से कहता है कि दरवाजा जाम हो जाता है यह कभी कबार अंश जोर से उसमें धक्का लगा देता है जिसकी वजह से वह दरवाजा टूट जाता है ऑफिसर यह सब देख कर चौक जाता है ऑफिसर कहता है कि यह भी हवा की वजह से ही हुआ होगा अंश कहता है कि हां यहां पर काफी तेज हवा चलती है इसकी वजह से यह सब हो गया है ऑफिसर कमरे के अंदर जाता है अंश उससे कहता है कि आप आज के लिए इस दरवाजे के बगैर मैनेज कर लीजिए लेकिन मैं कल से आपके कमरे का दरवाजा लगवा दूंगा ऑफिसर इस बात के लिए मान जाता है अंश जाओ उस दरवाजे को झटके से उठाता है ऑफिसर अंश को देख कर चौक जाता है अंश की नजर पड़ती है तभी वह ऑफिसर से कहता है कि दरवाजे बहुत ही ज्यादा भारी है क्या मेरी हेल्प करेंगे ऑफिस हेल्प करने में लग जाता है और दरवाजे को खड़ा कर देता है पिया और सारे घर वाले जब उसे लाश के पास एक कमरे में होते हैं तभी सारे घर वाले कहते हैं कि आखिर पिया तुमने वह टेबल को नीचे क्यों गिरा दिया था पिया कहती है कि मैं सिर्फ उस ऑफिसर को डिस्टिक करने की कोशिश कर रही थी और पता नहीं वह अचानक से टेबल नीचे कैसे गिर गई मुझे ऐसा लगा था कि मुझे तो अपनी शक्तियों पर कंट्रोल ही नहीं है तभी वहां पर अंश आ जाता है और पिया से कहते हैं कि पिया तुम ठीक कह रही हो ऐसा कुछ दिनों तक चलेगा तो मारी सत्य कुछ दिनों तक तुम्हारे कंट्रोल में नहीं रहेंगी यह बात मुझसे प्रतिमाएं ने कही थी।

Advertisement

Also Read – Nazar 19 December 2019 Latest News

Advertisement

अविनाश कहता है कि वह क्या अच्छी बात है हमारे घर में एक ऐसी लाश है जिसको एक काली शक्ति ने मारा है और हमारे घर में एक ऑफिसर है जो हम ऊपर शक कर रहा है और तुम दोनों की शक्तियां है कि जो कंट्रोल में ही नहीं है हम बुरी तरह से फसने ही वाले हैं चेताली कहती है कि हम बुरी तरह से फसने वाले नहीं हैं बल्कि फर्स्ट चुके हैं ऑफिसर जब कमरे में होता है तभी वहां पर मोहना आ जाती है दरवाजे पर खड़ी रह कर उस ऑफिसर को देखने लगती है और कहती है कि मैंने जो सोचा था कि मैं सारे घर वालों को सिर्फ परेशान ही करूंगी लेकिन अब मैं इस ऑफिसर की मदद से बहुत कुछ कर सकती हूं ऑफिसर जैसे ही पीछे पलटकर देखता है तभी मोहना परी का रूप रख लेती है ऑफिसर परी के पास जाता है और परी से कहता है कि आप कौन हो और आपका नाम क्या है पर यह बताती है कि मेरा नाम परी है तभी ऑफिसर उससे उसकी उम्र पूछता है उसे अपनी उम्र सही सही बता देती है और ऑफिसर से कहती है कि मैं और लड़कियों की तरह नहीं हूं कि मैं अपनी उम्र छुपा हूं मैं अपनी उम्र सही बता देती हूं और मैं कभी भी झूठ नहीं बोलती ऑफिसर परी से कहता है कि यह तो बहुत ही अच्छी बात है कि तुम झूठ नहीं बोलती हो क्या तुम मेरी एक मदद करोगी मैं जो भी तुमसे सवाल करूंगा क्या तुम उसके सवालों के सही सही जवाब दोगी परी ऑफिसर से कहती है कि हां मैं आपके सारे सवालों के सही सही जवाब दूंगी।

ऑफिसर परी को अपने पास बैठा था है और उससे पूछने लगता है कि तुम्हें पता है घर में एक चोर आया था क्या तुमने उसे देखा था भागते हुए परी बताती है कि नहीं मैंने उस चोर को भागते हुए नहीं देखा है लेकिन मैं जब कमरे में थी तो मैंने बाहर आवाज सुनी थी मैंने तब इस चोर को देखा था और फिर कहता है कि लेकिन तुमने तो कहा था कि तुमने उस चोर को नहीं देखा है परी कहती है कि आपने मुझसे यह पूछा था कि मैंने उस चोर को भागते हुए देखा है या नहीं लेकिन मैंने तो उसे ज़ोर को लटके हुए देखा है ऑफिसर यह बात सुनकर चौक जाता है और परी से कहता है कि तुमने उस चोर को कहां पर लटके हुए देखा है पर ही उसे बताती है कि जब मैं दादी के कमरे में थी तो मैंने उसे दादी की कमरे की खिड़की के बाहर लटकी हुए देखा था ऑफिसर यह बात सुनकर चौक जाता है परी से कहता है कि क्या तुम मुझे उस जगह को दिखा सकती हो यहां पर तुमने उस चोर को लटके हुए देखा था पर ऑफिसर को दादी के कमरे में ले कर चली जाती है और वहां पर उस खिड़की की तरफ इशारा करके बताती है कि मैंने उस चोर को वहीं पर लटके हुए देखा था ऑफिसर पूछता है कि उसके बाद वह हो गया कहां परी ऑफिसर को बताती है कि मैं जाऊं कमरे में थी तो कमरे में मां गई थी और मां ने मुझे मेरे कमरे में जाने के लिए कह दिया था वह हमेशा मेरे साथ ऐसा ही करती है कुछ भी चीज होती है तो मुझे सिर्फ कमरे में ही भेज देती है कि परी तुम कमरे में जाओ परी तुम कमरे में जाओ उस दिन भी मुझे कमरे में भेज दिया था और दरवाजा अंदर से लगा लिया था उसके बाद मुझे पता ही नहीं कि आखिर हुआ क्या ऑफिसर दादी के बारे में पूछता है तभी परी बताती है कि मुझे दादी के बारे में अभी कुछ भी पता नहीं है क्योंकि जब मैं दादी के गिरने के बाद पहुंची थी तो वहां पर मां थी और मां ने मुझे कमरे में जा करने के लिए बोल दिया था कि परी तुम कमरे में जाओ।

Advertisement

सारे घर वाले उसे लाश को लेकर बहुत ही अदा परेशान होते हैं तभी पिया कहती है कि हम इस लाश को दुखा कर अच्छा नहीं कर रहे हैं हमें इस लाश के बारे में उस ऑफिसर को बता देना चाहिए और सब कुछ एक्सप्लेन कर देना चाहिए अविनाश कहता है कि हम यह नहीं कर सकते वह हमारी बातों पर यकीन नहीं करेगा सारे घर वाले पिया की बातों से सहमत होते हैं अंश भी कहता है कि पिया एकदम ठीक कह रही है हमें इसके बारे में ऑफिसर को बता देना चाहिए लेकिन उससे पहले हमें उस काली शक्ति के बारे में भी पता लगा लेना चाहिए जिसने इसकी ऐसी हालत की है पिया कहती है कि इसकी हालत को देखकर तो ऐसा लग रहा है कि इसकी हालत तो सिर्फ मोहना ही ऐसी कर सकती है मुझे तो लगता है इसकी हालत मोहना नहीं ऐसी की है अंश कहता है कि यह कैसे हो सकता है मैंने तो खुद की गाड़ी थी उनके ताबूत में पिया कहती है कि लेकिन वहां से निकल भी तू सकती है ऐसा तो नहीं वहां से निकल चुकी हो सारे घर वाले और भी ज्यादा परेशान हो जाते हैं उनसे कहता है कि लेकिन हमें इससे पहले लाश को कहीं बाहर ले जाना होगा सारे घर वाले कहते हैं कि लेकिन हम इस ऑफिसर के सामने से इस लाश को कैसे लेकर जाएंगे अंश सारे घरवालों को बताता है कि हम इस लाश को छुपाकर लेकर जाए तू अविनाश कहता है कि यह कैसे हो सकता है तभी अंश बताता है कि झालायन सेफ की मदद से हमें लाश को गायब कर के घर से बाहर ले जाएंगे अंश उसे पूरी बॉडी पर झालायन सेफ बता देता है पिया वेदश्री कि कमरे में जैसे ही जाती है वहां पर उस ऑफिसर और परी को देख लेती है पिया ऑफिसर से पूछती है कि आप यहां पर क्या कर रहे हैं ऑफिसर बताता है कि मैं परी से कुछ सवाल ही कर रहा था बस पिया परी से कहती है कि और उस ऑफिसर से कहती है आप कमरे में जाइए मुझे मां की पट्टियां चेंज करनी है ऑफिसर जब वेदश्री की हाथों को देखता है कटे हुए तभी उसे उस पर शक होने लगता है और कहता है कि यह तो किसी के नाखूनों के निशान है।

ऑफिस अरे इतना देखकर वहां उस कमरे से निकल जाता है पिया वेदश्री को ढक देती है और परी को लेकर कमरे से बाहर चली जाती है और परी से पूछती है कि आखिर ऑफिसर तुमसे क्या पूछ रहा था कुछ उसने पूछा तो नहीं परी बताती है कि अंकल तो मुझसे सिर्फ मेरा नाम और मेरी उम्र पूछ रहे थे मैंने अपने नाम और उम्र बता दी है पिया कहती है कि तुमने अपनी शक्तियों का इस्तेमाल उनके सामने तो नहीं किया था पर ही मना कर देती है तभी पिया परी से कहती है कि परी तुम उससे हमारे घर के बारे में कुछ भी मत बताना और शक्तियों का इस्तेमाल भी मत करना यह बात आदि भैया को भी बता देना अंश और पिया उस लाश को ले जा रहे होते हैं तभी अचानक से बोला सामने दिखाई देने लग जाती है पिया कहती है कि झालायन सेफ का असर खत्म हो रहा है पिया और अंश बॉडी को रास्ते में रख देते हैं अंश भी ऐसे कहता है कि हमें दोबारा इसके ऊपर झालायन सेफ का इस्तेमाल करना होगा पिया कहती है कि हमारे पास ज्यादा नहीं है अंश कहता है कि लेकिन जितना है हमें उसका तो इस्तेमाल करना ही होगा अंश फिर से उस बॉडी पर झालायन सेफ लगा देता है जिसकी वजह से पूरी बॉडी गायब होने लगती है इतनी देर वहां पर वही ऑफिसर आ जाता है पिया और अंश जाते हैं ऑफिसर उस लाश की तरफ बढ़ने लगता है लेकिन वह अपना रास्ता मोड़ लेता है और वह उस स्कूल की तरफ जाता है जिस पर खड़े होकर लाइट को ठीक कर रही होती है अंश कहता है कि आदमी कर क्या रहा है पिया कहती है कि यह तो उसी स्टूल को चेक कर रहा है जिस पर मां ने खड़े होकर लाइट को ठीक कर रही थी।

अंश और पिया कहते हैं कि हमें लाश को ले जाना ही होगा बार मौका अच्छा है हमें बार चलना चाहिए इतनी देर में अंश और पिया उसको हटाने की कोशिश करते हैं तभी अंश की जिम में से चाबी गिर जाती है जिसकी आवाज से ऑफिसर पीछे पलटना और उन दोनों को देख लेता है और उन दोनों से उसी को देखकर पूछता है कि क्या हुआ तुम दोनों कहीं जा रहे हो पिया और अंश बताते हैं कि हां हम दोनों वॉक के लिए जा रहे थे ऑफिसर चाबी को देखकर अंश से कहता है की गाड़ी पर बैठकर कौन सी बुक होती है अंश ऑफिसर से कहता है कि नहीं हम दोनों ने सोचा कि घर में इतना सब कुछ हो रहा है तो हम दोनों एक हॉल में पिक्चर ही देख आते हैं जिसे माइंड भी फ्रेश हो जाएगा ऑफिसर पिक्चर का नाम पूछता है अंश बताता है कि हम तो अभी वहां पर जा रहे हैं वहां जाकर पता लगेगा कि हॉल में कौन सी पिक्चर लग रही है ऑफिसर उस लाश की तरफ बढ़ने लगता है पिया कहती है कि अगर इसने एक और कदम आगे बढ़ा दिया तो यह जरूरी सलाह से टकरा जाएगा ऑफिसर हम दोनों को वहां से जाने के लिए कह देता है और वहां से पीछे पलटकर ऑफिसर जैसे ही जा रहा होता है तभी अचानक वहां पर चेताली और अविनाश आ जाते हैं और वह उस लाश से टकरा जाते हैं और कितने वाले होते हैं तभी ऑफिसर की नजर पीछे चली जाती हो चेताली और अविनाश से पूछते हैं कि क्या हुआ चेताली बताती है कि मैंने आपको बताया था कि मैं हवा से गिरती पड़ती रहती हूं ऑफिसर अविनाश से कहता है कि इनका तो ठीक है लेकिन आप कैसे गिरने वाले थे चेताली कहती है कि हवा की वजह से मेरा साड़ी का पल्लू इनके पैर में आ गया था जिसकी वजह से ही वाली थी ऑफिसर उस जगह पर आ जाता है जिस जगह पर चेतानी और अविनाश गिरने वाले होते हैं और वह चेक करने लगता है अंश को जरा सा किसका देता है जिससे उस ऑफिसर का पैर उस लाश पर नहीं लग पाता ऑफिसर उस जगह को पैर से देखने लगता है पिया सोच में पड़ जाती है कि इस ऑफिसर का पैर इससे क्यों नहीं टकराया।

नमन अपनी बेटी को लेकर बहुत ही ज्यादा परेशान होते आए तभी सेवी नमन से कहती है कि मैं फोन में यह तुम्हारे कमरे के लैंप की तस्वीर डफली को दिखाऊंगी इस तस्वीर को देखकर जरूर उसके पास चली जाएगी सेवी जैसी डफली को हो तस्वीर दिखाती है तभी डफली अचानक से वहां से गायब हो जाती है नमन डर जाता है और कहता है कि यह तो हमारे सामने ही गायब हो गई तभी वह डफली अंदर कमरे में होती है उसे लैंप के पास सेवी कहती है कि जरूर डफली तुम्हारे कमरे में ही होगी तीनों जब कमरे में जाते हैं तो वहां पर यही डफली में दिखाई दे जाती है नमन की आंखों में आंसू आ जाते हैं और डफली के पास जाकर उसे देख कर रो रहा है निशांत जी कहते हैं कि यह खुशी के आंसू है अपनी बच्ची में जादू देखकर नमन कहता है कि नहीं रे मेरी खुशी के आंसू नहीं है मेरे यह परेशानी के आंसू है डफली को गायब होने का जादू आता है अगर वह किसी दिन ऐसी जगह चली गई और वह लौटकर नहीं आई मुझे इस बात से तकलीफ है मैं यह सोच सोच कर बहुत ही ज्यादा परेशान हूं क्योंकि डफली को तो मैं बिल्कुल ही पसंद नहीं हूं तभी नमन डफली को अपनी गोद में उठाता है और उससे कहता है कि तुम्हारे पापा तुमसे बहुत ज्यादा प्यार करते हैं सेवी और नमन जब डफली के साथ खेल रहे होते हैं तभी पिया का कॉल निशांत जी पर आ जाता है और वह मोहना को उसी मंदिर में चेक करने के लिए बोलते हैं और उसी वक्त बताने के लिए कह देती है निशांत जी कहते हैं कि सुबह तक का तो वक्त दो मैं अभी कैसे बता सकता हूं तभी निशांत जी की नजर डफली पर पड़ जाती है तभी वह कहती है कि मेरे पास एक तरीका है यह पता लगाने का निशांत जी के ऊपर कैमरा लगा देते हैं नमन लेकिन यह सब देख कर डर जाता है और निशांत जी से कहता है कि नहीं मैं अपनी डफली को कहीं नहीं भेज सकता अगर वह वापस नहीं आई तू अगर मोहना की नजर पड़ गई तो उसे भी खा जाएगी और मैं डफली को खो नहीं सकता निशांत जी कहते हैं कि ऐसा कुछ भी नहीं होगा नमन तुम हमारी बात पर भरोसा करो नमन कहता है कि आप और सेवी भी तू उस जगह पर जा सकते हैं आपको उसका रास्ता भी पता है निशांत जी कहते हैं कि वहां पर जाने में कोई प्रॉब्लम नहीं है लेकिन हमने उस मंदिर को मंत्रों से बांध के रखा है हम उस दरवाजे को खोलेंगे तो वह सारे मंत्र टूट जाएंगे और मोहना वहां से आसानी से निकल सकती है इसलिए तो हमें डफली की जरूरत है क्योंकि वह बिना दरवाजे को खोले ही अंदर जा सकती है नमन कहता है कि तुम वापस कैसे आएगी सेवी कहती है कि मैं उसके हाथों पर खिलौने बांध दूंगी जिसकी वजह से वह खिलौनों को देखकर यहां पर आ जाएगी।

Advertisement