Nazar Written Update 18 December 2019 In Hindi

Nazar Written Update 18 December 2019 Today Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे अंश अपनी मां को कमरे में देखने के लिए जाता है तभी वहां पर सारे करवा ले खड़े होते हैं अंश कहता है कि आखिर मां की हालत ऐसी कैसी हो गई सारे घर वाले अंश को सारी बातें बता देती है कि मां जब ऊपर लाइट को ठीक कर रही थी तो शायद वह नीचे फिसल गई थी जिसकी वजह से वह कोमा में गई है पिया अपने ऊपर सारा इल्जाम ले लेती है और अंश से कहती है कि यह सारी गलती मेरी ही थी शायद यह सब मेरी वजह से हुआ है मैं जब लाइट गई थी तो मैं टॉर्च ढूंढने के लिए चली गई थी अगर वह वहां पर होती तो यह सब कुछ नहीं हो पाता मैं सब कुछ संभाल लेती लेकिन ऐसा नहीं हुआ यह सब मेरी ही गलती है अंश उससे कहता है कि इसमें तुम्हारी कोई गलती नहीं है पिया को जब कुछ याद आता है तभी वह अंश को बताती है कि मेरी एक बात समझ में नहीं आ रही है जब मैं नीचे थी तो मां की आवाज आई थी तुम हां दुबारा गैरोस क्यों हो गए अंश यह बात सुनकर हैरान रह जाता है और कहता है कि मैं दोबारा गैरोस कैसे हो सकती है पिया कहती है कि हां यह बात मुझे भी कुछ समझ में नहीं आ रही है जब मां की आवाज आई थी तो घर में एक चोर घुस आया था जिसको मैंने बाहर बालकनी में टांग दिया था और थोड़ी देर के बाद जब मैं कमरे में मां को देखने के लिए आई लेकिन मैं तो गैरों से ही थी लेकिन मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा है थोड़ी देर के बाद लिफ्ट खुलने की आवाज आती है सारे घर वाले परेशान हो जाते हैं।

Advertisement

सारे घर वाले नीचे देखने के लिए आती है कि आखिर आया कौन है तभी वहां पर एक टीम सीबीआई की आ जाती है और सारे घर वालों से कहती है कि हमें इस घर की तलाशी लेनी होगी क्योंकि सीसीटीवी कैमरे से हमें पता लगा है कि इसी घर में जानू यादव क्रिमिनल इस घर में घुस कर आया है और किसी ने उसे बाहर जाते हुए नहीं देखा है इसलिए हम सबको लगता है कि वह इसी घर में है इसलिए हमें पूरे घर की तलाशी लेनी होगी सारे घर वाले जल्दी देती है तलाशी लेने के लिए सभी ऑफिसर तलाशी लेने लगते हैं तभी ऑफिसर को उसी चोर के पैरों के निशान मिल जाते हैं ऑफिसर सारे घर को चेक करके सारे घर वालों के सामने आता है और उनसे कहता है कि हमने सारा घर देख लिया है लेकिन हमें वह क्रिमिनल नहीं मिल पाया है ऑफिसर वेदश्री के बारे में पूछते हैं कि वह कमरा किसका है शेखर बताता है कि वह मेरा कमरा है और उसमें जो लेटी हुई है वह मेरी वाइफ है और किधर हो उनसे पूछता है कि आखिर उनकी हालत खराब लग रही है उनकी हालत यह कैसी हुई है तभी सारे घर वाले बताते हैं कि ऊपर लाइट को ठीक कर रही थी तो नीचे गिरने की वजह से उनकी हालत हो गई है ऑफिसर कहता है कि इतनी ऊपर से अगर वह लाइट को ठीक कर रही थी तो वहां से तो गिरने का खतरा है लेकिन कुछ कह नहीं सकते इतनी देर में मोहना सीडीओ के ऊपर खड़ी हो जाती है और कहती है कि जो मैं चाहती हूं वही हो रहा है इन घरवालों के संग मोहना उसे लाश को वहां पर लेकर आती है और ऊपर टांग देती है सारे घर वाले उस लाश को देख कर चौक जाते हैं।

Advertisement

Also Read – Nazar 18 December 2019 Latest News

चेताली डरकर इश्किया लेना शुरु कर देती है ऑफिसर उससे पूछता है कि आखिर क्या हुआ है चैताली बताती है कि मेरा गला खराब है ऑफिसर सारे घरवालों से कहते हैं कि हम मुझे चलना चाहिए और वह अपनी टीम के साथ बाहर जाने लगता है तभी वह लाश नीचे गिरने लगती है तो उसे पकड़ने के लिए अंश आगे बढ़ता है और उस लाश को अपनी गोद में पकड़ लेता है ऑफिसर जैसे ही लिफ्ट में जाने वाला होता है अंश अगली शक्तियों का इस्तेमाल करता है और ऊपर उस लाश को लेकर सीढ़ियों के ऊपर चला जाता है ऑफिसर उसे देख नहीं पाता अंश लाश को नीचे लेकर आता है और सोफे पर लिटा देता है सारे घर वाले उस आदमी की हालत को देखकर परेशान होते हैं और कहते हैं कि आखिर इस आदमी की हालत ऐसे कैसे हुई है अंश डिसाइड करता है कि वह इस लाश को ऑफिसर को ही दे देगा और वह ऑफिसर को रोकने के लिए आगे बढ़ता है अविनाश उसे रोक लेता है और उसे बताता है कि नहीं हमें ऐसा नहीं कर सकते जैसे इसकी हालत है हम उस ऑफिसर को क्या कहेंगे कि यह आदमी बूढ़ा क्यों हो गया है हमें इस बात का पता लगाना होगा कि आखिर इसकी हालत की किस्में है मोहना खड़े होकर यह सब कुछ ऊपर से देख रही होती है उस आदमी की हालत को देखकर पिया को याद आता है कि ऐसी हालत तो सिर्फ मोहना ही कर सकती है लेकिन वह कैसे हो सकता है मोहना तो यहां है ही नहीं चेताली कहती है कि फिर यह हालत कर कौन सकता है इस घर में तो हमारे और बच्चों के सिवा और कोई है ही नहीं अंश कहता है कि हमें जल्दी उस का पता लगाना होगा जिसने इस आदमी की हालत की है।

Advertisement

थोड़ी देर के बाद वहां पर वही ऑफिसर लौट आता है अकेले सारे घर वाले उस लाश के सामने लगाकर खड़े हो जाते हैं ऑफिसर जैसे ही वहां पर आता है सारे घरवालों से कहता है कि मैं एक चीज तो भूल ही गया आपकी सब के संग सेल्फी लेना जब वह ऑफिसर सेल्फी ले रहा होता है तभी चेताली चिल्ला जाती है और दूसरों से पूछता है कि आखिर क्या हुआ चेताली कहती है कि नहीं आपका मोबाइल पर है और मैं उसमें नहीं आ रही हूं इसलिए थोड़ा नीचे मोबाइल को रखी है और फिर से अपने मोबाइल को नीचे कर लेता है और उनकी साथ फोटो क्लिक कर लेता है और उनसे कहता है कि मैं आप सब को ही चीज तो बताना भूल ही गया मैं अपनी टीम के साथ ही निकल गया था मुझे ऐसा नहीं करना था मुझे तो इसी घर में रहना है जब तक यह केस सॉल्व नहीं हो जाता वैसे तो आपके घर में गेस्ट के लिए एक रूम तो होगा ही ऑफिसर जैसे ही आगे बढ़ने लगता है अंश उसका हाथ पकड़े लिखकर उससे कहता है कि मैं ही आपको कमरा दिखा देता हूं ऑफिसर जैसे ही पीछे पलटकर अपने कमरे की तरफ जा रहा होता है अंश कहता है कि मुझे इस लाश को इस सोफे के पीछे करना ही होगा वरना यह ऑफिसर उसे देख लेगा लेकिन मैं करूं कैसे मुझे यह बात पिया से कह नहीं होगी पिया को अंश सारे में कह देता है पिया अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करती है और वहां पर ब्रंच पर रखी कुछ चीजों को पिया नीचे गिर देती है जिसकी वजह से ऑफिसर का ध्यान उस जगह पर चला जाता है अंश उस बात का फायदा उठाता है और उसे लाश के पास चला जाता है और उसे सोफे के पीछे गिरा कर सुबह को सीधा कर देता है ऑफिसर रूपए की आवाज सुनकर अंश की तरफ देखने लगता है और उससे पूछता है कि वहां पर क्या कर रहे हो अंश बताता है कि मैं यहां पर अपना मोबाइल लेने के लिए आया था अब चलिए मैं आपको आपका कमरा दिखा देता हूं।

नमन बच्चों को लेकर बहुत ही ज्यादा परेशान होता है और निशांत जी को बात बताता है कि डफली पता नहीं क्यों गायब हो जाती है और मुझे उसके गायब होने से कोई प्रॉब्लम नहीं है लेकिन वह जब गायब होती है तो मुझे दूसरी जगह ही मिलती है लेकिन मुझे एक बात का डर है अगर वह कहीं ऐसी जगह चली गई और मैं उसे ढूंढ नहीं पाया तो मैं क्या करूंगा मेरे पास तो मेरी पत्नी की आखिरी निशानी है मैं उसे खोना नहीं चाहता किसी भी कीमत पर सेबी उस बच्ची को जब खिला रही होती है तभी अचानक वह बच्ची पानी में से गायब हो जाती है नमन यह सब देख कर चौक जाता है और निशांत जी को बच्ची के बारे में बताता है और परेशान हो जाता है कि आखिर वह बच्ची होगी कहां तीनों उस बच्चे को आवाज लगाने लगते हैं तभी उस बच्चे के रोने की आवाज बाहर से आने लगती है तीनों जब बाहर देखते हैं डफली किसी गाड़ी के ऊपर सो रही होती है उसे गाड़ी के ऊपर सोता हुआ देखकर नमन चौक जाता है तभी उस गाड़ी में एक आदमी बेटे नहीं लगता है नमन उस आदमी को आवाज लगाता है और उसे रोकने की कोशिश करता है लेकिन उस आदमी तब वह आवाज नहीं पहुंच पाती और अपनी बच्ची को बचाने के लिए नमन उसे गाड़ी के पास आता है और अपनी बच्ची को उठा लेता है और निशांत जी से कहता है कि आपने देखा ना कि अचानक से जी गायब हो जाती है अब मैं करूं तो करूं क्या और मैं यह बात समझ नहीं पा रहा हूं कि आखिर भी गायब क्यों हो जाती है सेबी बताती है कि मैं जानती हूं कि डफली ऐसा क्यों करती है निशांत जी और नमन को सभी कमरे में लेकर जाती है और उन्हें नर्सरी का फोटो दिखाती है और उनसे कहती है कि जरूर डफली ने यह पोस्टर देखा होगा और वह नर्सरी चली गई नमन कहता है कि तेरे को कार के ऊपर कैसे गई और क्यों गई सेबी कहती है कि मैं तुम्हें बताती हूं और उन तीनों को बाहर लेकर जाती है और बाहर एक कार का पोस्टर रखा होता है उसे दिखा कर कहती है कि डफली ने जरूर इस कार के पोस्टर को देखा होगा और वह कार के ऊपर चली गई थी निशांत जी कहते हैं कि सेबी बिल्कुल सही कह रही है बच्चों में यह खास आदत होती है कि वह जब भी कोई नई चीज देखते हैं उसे जानने की उत्सुकता कुछ ज्यादा ही होती है और डफली के अंदर तो शक्तियां भी है।

Advertisement