Nazar Written Update 17 December 2019 In Hindi

Nazar Written Update 17 December 2019 Today Episode में आप सब देखेंगे कि कैसी है अंश प्रतिमा आयल के पास जाता है और उसे अपनी शक्ति के बारे में बात करता है प्रतिभा इन कहती है कि तुम इतने कमजोर होकर भी तुमने पाताल केतकी झरने को पार किया है अंश कैसा है कि हां मैंने अस्पताल जानने को पार किया है ताकि मैं अपनी शक्तियां पा सकूं और पिया की भी प्रतिमा आयल कहती है कि तुम यहां पर सत्य लेने के लिए आए हो लेकिन मैं सवालों के जवाब दे सकती हूं सत्या नहीं अंश कहता है कि मैं जानता हूं कि तुम मुझे शक्तियां भी दे सकती हो और वही मैं लेने के लिए आया हूं प्रतिमा आयल कहती है कि तुम मेरे पूछते हो तुम मैं तुम्हें सत्य दे सकती हूं लेकिन मैं पिया को शक्तियां क्यों दूं।

Advertisement

अंश कहता है कि आपको पिया को भी शक्तियां देने होंगे क्योंकि वह मेरी पत्नी है और आपकी बहू ईमान कहती है कि ठीक है मैं तुम्हारी बात मान लेती हूं और तुम दोनों को सकती हो देने के लिए तैयार हो जाती हूं लेकिन तुम्हें मेरी एक शर्त माननी होगी तभी प्रतिमा आयन अंश के आगे एक बॉक्स लेकर आती है तभी अंश से उस बॉक्स को खोलने के लिए कहती है उस बॉक्स में एक हरे कलर की गेम और एक पीले कलर की गेम होती है प्रतिमा आपको बताती है कि इन दोनों में से तुझे एक बोल चुंगी होगी अगर तुम हरी वालीबॉल चुनते हो तो हरी बोल का मतलब है तुम्हें तुम्हारी शक्तियां मिल जाएंगे लेकिन तुम बुराई की तरफ चले जाओगे लेकिन अगर तुम पीली बोल चुनते हो तो तुम दोनों को शक्तियां मिल जाएंगी लेकिन ह दूरी।

Advertisement

Also Read – Nazar 17 December 2019 Latest News

वेदश्री जब लाइट को ठीक कर रही होती है टेबल पर चढ़कर तभी वहां पर मोहना स्केटिंग को पहन कर आ जाती है और उस टेबल पर मार देती है जिससे वेदश्री नीचे गिरने वाली होती है और वह बालकनी को पकड़ लेती है और वहीं पर लटकी रहती है वहां पर हेल्प के लिए सारे परिवार को बुलाने लगती है मोहना कहती है कि यहां पर तो पिया को होना चाहिए था यहां पर वेदश्री क्या कर रही है लेकिन कोई बात नहीं मेरा शिकार तो एक जना होना ही था पिया नहीं तो क्या हुआ लेकिन वेदश्री तो है तभी वहां पर मोहना परी का रूप रखकर आती है और वेदश्री के आगे आकर खड़ी हो जाती है वेदश्री परी से कहती है कि मेरी हेल्प करो परी वेदश्री के पास बैठती और अपने नाखूनों से उसका हाथ काट देती है जिसकी वजह से उसका हाथ बालकनी को छोड़ देता है वह नीचे गिर जाती है सारे घर वाले बहुत ही अलग परेशान हो जाते हैं और वहां पर इकट्ठे हो जाते हैं और वेदश्री की हालत को देखकर सभी बहुत ही ज्यादा घबराने लगते हैं।

Advertisement

पिया इतनी देर मैं वहां पर आ जाती है और ऊपर से नीचे की तरफ देखती है वेदश्री को नीचे गिरा हुआ जो तभी वह चौक जाती है और नीचे आती है सारे घर वाले से पूछती है कि आखिर मां को हुआ क्या है तभी सारे घर वाले कैसे हो सकता है लाइट को ठीक कर रही हूं और गलती से नीचे गिर गई है ऊपर देती है लेकिन वहां पर कुछ नजर नहीं आता लेकिन पिया कहां पर स्केटिंग जैसा कुछ दिखाई दे जाता है डॉक्टर वेदश्री का इलाज करते हैं तभी वह सारे घरवालों को बताते हैं कि घबराने की कोई बात नहीं है टेंप रेली कोमा में है पिया कहती है कि मैं वहां पर कुछ तो देखा था कुर्सी के पास पिया जैसे ही बार आती है लेकिन वहां पर स्केटिंग शूज नहीं दिखाई देता पिया कहती है कि आखिर वहां क्या लेकिन अब तो यहां पर कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा है मोहना वहां पर खड़ी होकर कहती है कि एक एक करके सारे घर वालों का नंबर आएगा मरने का।

थोड़ी देर के बाद अविनाश फोन पर जब बात कर रहा होता है तभी परेशान देखकर पिया उसके पास जाती है और उससे पूछती है कि आखिर क्या हुआ है अविनाश पिया को बताता है कि जेल से 1 कैदी फरार हो चुका है और वह घरों में जाकर पहले लूट करता है फिर उसके बाद सारे परिवार वालों को मार देता है और उसको आसपास के एरिया में ही देखा गया है इसलिए मैं उसे ढूंढने के लिए जा रहा हूं घर में अगर कुछ भी प्रॉब्लम हो तो तुम मुझे फोन कर देना और सारी बात बता देना पिया उनकी बात सुन लेती है और वहां से चले जाते हैं इतना कहकर वेदश्री जब अपने कमरे में सो रही होती है तभी उसे रात की बातें याद आने लगती है कि वहां पर परी ने किस तरह से मेरा हाथ काटा था और मुझे छुटकी कहकर पुकारा था यह सारी बातें पिया को बताने के लिए वेदश्री वहां से उठती है और पिया की तरह बड़े नहीं लगती है जैसे ही दरवाजा खोलती है वहां पर परी आ जाती है परी को देखकर वेदश्री घबरा जाती है और पीछे की तरफ कदम बढ़ाने लगती है।

पिया वेदश्री की आवाज सुन लेती है और कहती है कि मां को होश आ गया है और वह कमरे की तरह बड़े नहीं लगती है तभी रास्ते में वही चोरा जाता है और उसे देखकर घबरा जाती है और उसके पीछे लग जाती है और वह आदमी छत पर जाकर दुबक जाता है पिया उसे देखने के लिए छत पर जैसे ही चाहती है तभी वहां पर उसे कोई भी नजर नहीं आता पिया कहती है कि यहां पर तो कोई भी नहीं है तभी वह सूअर चुपचाप अंदर जाने की कोशिश करता है लेकिन पिया उसे वहां पर देख लेती है और उसे देखकर घबरा जाती है तभी वह चोर पिया से उसके गहने उतारने के लिए कहता है पिया को याद आता है कि चाचू ने कहा था कि जो चोर पहले सारे गहने मांगता है फिर सारे परिवार वालों को मार देता है पिया ओर से कहती है कि मेरे पास तो है नहीं जितनी भी है यह नकली है लेकिन मेरे कमरे में जो असली लेनी है मैं तुम्हें लाकर दे देती हूं पिया आगे बढ़ती है और उस चोर को भी अपने साथ लेकर जाती है लेकिन दरवाजा बंद करने की कोशिश करती है लेकिन वह पिया को बाहर की तरफ खींच लेता है उससे कहता है कि तुम ज्यादा ही अपने आप को स्मार्ट समझती हो अब मैं तुम्हें बिल्कुल नहीं छोडूंगा तभी वहां पर चेताली आ जाती हो और उसको देख लेती है ।

पिया चेताली से इशारों में अविनाश को कॉल करने के लिए बोल देती है चेताली वहां से अविनाश को कॉल करती है और उसे घर पर बुला लेती है विनाश घर पर आ जाता है पिया अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करती है लेकिन उसकी शक्तियां काम नहीं करती थोड़ी देर के बाद पिया की शक्तियां काम करने लगती है क्योंकि अंश ने उन दोनों में से पीली वाली बॉल चुनरी होती है जिसमें अंश और पिया की दोनों की शक्तियां उनके पास आ जाती है पिया चोर को धान कर बाहर की तरफ टांग देती है और अविनाश को बुलाने के लिए वहां से चली जाती है मोहना जब वेदश्री को मारने की कोशिश करती है और उसकी उम्र खा रही होती है तभी वहां पर मोहना की नजर उस चोर पर पाए जाते हैं मोहना में चोटी की मदद से चोर को अंदर खींच लेती है और कहती है कि आखिर तुम कौन हो और मोहना उसकी उम्र खाली थी है वेदश्री वहीं पर गैरों सो जाती है मोहना कहती है कि इन सब को क्या लगता है मेरी चोटी काट कर यह सब मुझसे मेरी सत्या छीन सकते हैं लेकिन मैं अब परी की शक्तियों का इस्तेमाल करूंगी पिया जब अविनाश के संग आती है लेकिन वहां पर हुजूर नहीं होता पिया कहती है कि मैंने उसे यही पर टंगा था वह जा खा सकता है।

नमन और सेवी डफली को आवाज लगाकर ढूंढ रहे होते हैं नमन को आवाज लगाते हुए सेवी उससे कहती है कि तुम डफली ऐसी आवाज लगा रहे हो जैसे कि तुम्हारी बेटी तुम्हें आवाज लगाई हां पापा मैं यहां पर हूं थोड़ी देर के बाद धवले की आवाज आने लगती है रोने की सेवी और न मनुष्य बस शब्द सुनकर चौंक जाते हैं और कहते हैं कि उस बिल्डिंग वैसे मेरी डफली की आवाज आ रही है और उस बिल्डिंग में जाकर देखते हैं चार बच्चे सो रहे होते हैं न मन कहता है कि मैं अपने बच्चे को पहचान लूंगा कैसे सेवी कैसी है कि तुम्हारी बच्ची है तुम अपनी बच्ची को ही नहीं पहचान सकते नमन कहता है कि मैं अपनी बच्ची को पहचान तो सकता हूं लेकिन अगर गलती से मैं किसी और की बच्ची को ले गया तो उसके घर वाले मुझे नहीं छोड़ेंगे थोड़ी देर के बाद नमन को याद आता है कि मुझ पर एक तरीका है मैं पता लगा सकता हूं कि टपली आखिर कौन सी है मैं जब भी मिली दिखाऊंगा तो डफली जोर-जोर से हंसने लगेगी नमन अपने हाथों में दो इमली लेता है और डफली के पास बढ़ने लगता है तभी वहां पर एक औरत आ जाती है और उन दोनों से कहती है कि तुम दोनों यहां पर क्या कर रहे हो बच्चों के साथ मैं भी यहां पर पुलिस को बुलाती हूं तभी वह कहता है कि हम यहां पर चोरी नहीं करने आए हैं बल्कि हमारी बच्ची खो गई है हमें अपनी बच्ची को ही ढूंढने के लिए आए हैं जैसे ही मैं यही अपनी बच्ची को दिखाऊंगा तो मेरी बच्ची हंसने लगेगी तो हमारी पता चल जाएगा बच्चे को आती है थोड़ी देर के बाद सेवी के पास उसके पिता का फोन आ जाता है तभी उसके पिता कहते हैं कि नमन कितना लापरवाह है मैं उसके घर आया था वह जहां पर ढपली अकेली ही है नमन इतना लापरवाह कैसे हो सकता है अपनी बेटी को अकेला घर में छोड़ कर कैसे जा सकता है सेवी यह बात सुनकर हैरान रह जाती है और नमन को यह सारी बातें बताती है और कहती है कि घर पर ही है नमन अपनी डफली को देखने के लिए घर जाता है तभी वहां पर जाकर अपनी डफली को देखकर होने लगता है और कहता है कि आज के बाद डफली तुम मुझे छोड़ कर कहीं मत जाना वरना मैं तुम्हारी मां को अपना फेस कभी भी नहीं दिखा पाऊंगा।

Advertisement