Nazar Written Update 1st November 2019 In Hindi

Nazar Written Update 30 October 2019 In Hindi में आज तक देखेंगे कि बच्चे अविनाश से कहते हैं कि आपने हमसे वादा किया था कि आप हमें जीभ में घुमाने के लिए लेकर जाएंगे तभी अविनाश यह बात सुनकर हैरान रह जाता है और उन दोनों से कहता है कि हां मैं तुम दोनों को जरूर लेकर जाऊंगा लेकिन बाद में लेकिन मैं अभी तुम दोनों को कुछ दिखाना चाहता हूं परी और आदमी मना कर देते हैं और कहते हैं कि नहीं पहले आप घूमने के लिए जाएंगे विदेश्री उन दोनों से कहती है कि एक बार अपनी छोटे बाबा की बात भी सुन लो हो सकता है कुछ अच्छी सी बात बता रहे हो वह तभी परी और आधी उनसे कहते हैं कि आप जो हमसे कहना चाहते हैं आप हम से कह सकते हैं तभी अविनाश उन दोनों को बताता है कि मैं तुम्हें एक ऐसी इंटरेस्टिंग चीज दिखाऊंगा जिससे तुम्हें ऐसा लगेगा कि तुम जैसे दिखते हो वैसे ही नहीं तभी यह बात सुनकर परी और आधी बहुत ही खुश हो जाती हैं।

Advertisement

और अभिनाश से कहते हैं कि सुनने में तो यह बहुत ही इंटरेस्टिंग लग रहा है आप हमें लेकर चलिए अविनाश उन दोनों से कहता है कि आईने के सामने आ जाइए और उधर पिया जैसे ही मुहाना की कमरे में जाती है मुहाना को सारी बातें बताने की कोशिश करती है पिया मुहाना से कहती है कि मैं तुम्हारी बातों पर भरोसा क्यों करूं तुम हमेशा हमें धोखा ही देती हो जब जब हमने तुम पर भरोसा किया है तब तक तुमने हमें धोखा देने की कोशिश दीया है मुहाना कहती है कि तुम्हें मेरी बातों पर भरोसा नहीं है तो तुम देख कर तू भरोसा कर सकती हो इस घर में जरूर कोई ना कोई काला शीशा जरूर होगा तुम उसे ढूंढने की कोशिश करो लेकिन पिया उसकी बातों पर भरोसा नहीं करते और वहां से चली जाती है।

Advertisement

पिया जैसे ही बाहर आती है तभी वहां पर आदि और परी अविनाश और चेतानी के संदेश लेती है और आधी और परी उसे आया काले आईने के सामने जा रहे होते हैं तभी पिया कहती है कि यह तो वही आईना है जिसके बारे में मुहाना मुझे बता रही थी इतनी देर में पिया आदि और परी को रोक देती है अविनाश और चेताली यह सब देख कर चौक जाते हैं पिया वहां पर आ जाती है और आधी और परी को वहां से रोक लेती है काले शीशे को देख कर भेज देती तो पूछती है कि यह काला शीशा जहां पर क्या कर रहा है यह पहले तो यहां पर नहीं था मैं अभी मुहाना के कमरे में गई थी तो उसने मुझे इसी काले शीशे के बारे में बताया तभी विदेश्री श्री कहती है कि यह काला शीशा तो मैं नहीं मंगवाया है।

Also Read – Nazar Written Update 31 October 2019 – मोहना के सामने चैताली का सच

Advertisement

मुझे लगता है तुम्हें मुहाना की बात पर भरोसा नहीं करना चाहिए ना तो ऐसे ही बातें कर रही थी हो सकता है मैंने जब आईना आर्डर किया हो तो उसने मेरी बातें सुनेली हो और वह तो मैं परेशान करना चाहती है इसलिए वह कॉलेज आईने के बारे में बात कर रही है पिया यह बात सुनकर हैरान रह जाती है तभी परी और आदि कहते हैं कि चलो मम्मा हम इसके अंदर देखते हैं तभी पिया कहती है कि नहीं पहले मैं इस आईने के अंदरn देखूंगी तब तुम लोग देखना इसके बाद पिया उस आईने के सामने जाने की कोशिश करती है तभी उधर दूसरी तरफ निशांत है जी और पंडित जी उस काले धुए के बारे में पता लगाने की कोशिश करते हैं ।

पंडित जी निशांत जी से पूछते हैं कि आप जी क्या कर रहे हैं तभी निषाद जी बताते हैं कि यह वही काला धुआं है जो धूम इस शहर के सारे दिया अचानक बुझ गए थे तो मेरा दिमाग यह सोचने में मजबूर हो गया कि आखिर सारे दी एक साथ कैसे भूल सकते हैं पहले तो मुझे ऐसा ही लगा था कि यह मेरे घर की हालत है लेकिन जब मुझे पता चला कि यह तो पूरे शहर की ऐसे ही हालत है तभी मैंने सोचा कि मैं इसका पता लगा लेता हूं वह काला धुआं मैंने भी अपने पास थोड़ा सा रख लिया है और यह सारा दुआ एक ही डायरेक्शन में जा रहा था इसलिए मैं इसके बारे में पता लगाने की कोशिश कर रहा हूं।

निशांत जी उस काले धुएं को रे सेजल में डाल देते हैं तभी वह कहते हैं कि जिस रेस से जल्द से हमें पता लग जाएगा कि आखिर काले धुएं से हुआ क्या है तभी वह से रहस्य बता देता है कि वह आइना बनाया गया है तभी निशांत जी यह सब देख कर चौक जाते हैं तभी निशांत जी कहते हैं कि यह तो आईना है इस काले धुएं से एक आईने बनाया गया और इसका जवाब कोई और नहीं दे सकता बल्कि दया नहीं दे सकती है इसके बाद निशांत जी और पंडित जी पाताल झरने के पास जाते हैं और सबसे बड़ी डायन से सवाल करने लगते हैं तभी वह कहती है कि तुमने मुझे जहां पर कैद करके रखा है मैं तुम्हारे कोई भी सवालों के जवाब नहीं दूंगी निशांत जी कहते हैं कि तुम सवालों के जवाब देने के लिए ही हो तुम मेरे सवालों के जवाब तुम्हें दे नहीं होंगे तभी वह कहती है कि मैं तुम्हारे सवालों के जवाब सिर्फ तीन ही दे पाऊंगी।

निशांत जी जब उस दुआ के बारे में पूछते हैं तभी वह डायन उस दवाई के बारे में बताती है कि इस दोहे का मतलब है कि किसी ने एक डायन जीजा बनाया है तभी निशांत जी यह बात सुनकर हैरान रह जाते हैं तभी उसे पूछते हैं कि आखिर ये कौन बना सकता है तभी वह बताती है कि यह मेरी बेटी ने बनाया है निशांत जी कहते हैं कि इसका मतलब यह मुहाना ने बनाया है वह डायन बताती है कि नहीं यह मेरी बेटी मुहाना ने नहीं बनाया उसे उसका काम है ही नहीं वह इतनी कमजोर है कि जब कर ही नहीं सकती यह तो मेरी दूसरी बेटी ने किया है निशांत जी यह बात सुनकर चाहते हैं और उससे पूछते हैं कि आखिर कौन है डायन यह बात बताने से मना कर देती है कहती है कि तीन सवालों की बात हुई थी और तीन सवाल खत्म हो चुके हैं।

निशांत जी से सारी बातें अंश को बता देते हैं पिया जैसे उसका ले आईने के सामने जाने की कोशिश कर रही होती है तभी वहां पर अंश आ जाता है पिया को रोक लेता है और पिया से कहता है कि अभी पापा का कॉल आया था और उन्होंने मुझे कुछ बताया है मैं तुमसे वही बात करने के लिए यहां पर आया हूं पिया कहती है कि ऐसी कौन सी बातें बताओ तभी अंश कहता है कि मैं वह बात तुम्हें यहां पर नहीं बता सकता तुम्हें मेरे साथ अकेले चलना होगा विदेश्री श्री कहती है कि घबराने की कोई बात नहीं है अंश कहता है कि घबराने की कोई बात नहीं अंश पिया को वहां से लेकर चला जाता है।

अंश पिया को जब वहां से लेकर जा रहा होता है पिया अपने बच्चों से कह देती है कि इस आईने के सामने अभी कोई नहीं आएगा दोनों अपने कमरे में चले जाओ तभी वह दोनों बच्चे अपने कमरे में चले जाते हैं अंशु प्रिया को अपने कमरे में लेकर जाता है और उसे निशांत जी की सारी बातें बता देता है पियाजे बात सुनकर हैरान रह जाती है और कहती है कि अगर पापा दूसरी बेटी का नाम ले रहे थे तो वह कौन हो सकती है अगर मुंह होना नहीं है तभी अंश कहता है कि उसकी दूसरी बेटी तो बस एक ही है पिया कहती है कि इसका मतलब कोई और नहीं बल्कि वह मां है मां कैसे गलत हो सकती है।

अंश कहता है कि मैं यह नहीं कह रहा हूं कि मां गलत है हो सकता है मां की बीच में कोई और होगा अंश कहती है कि लेकिन माने तो हमें कभी भी अपनी तीसरी बहन के बारे में कुछ भी नहीं बताया पिया कहती है की माने तो हमें मुहाना के बारे में भी नहीं बताया था कि वह उनकी बहन है हो सकता है मुहाना को इस बारे में पता हो कि उनकी कोई तीसरी भी बहन है हमें पता लगाने की कोशिश करनी चाहिए मुहाना नहीं मुझे उस काले शीशे के बारे में बताया था मैं मुहाना से बात कर लेनी चाहिए अंशु प्रिया से मना कर देता है और कहता है कि तुम एक डायन के बारे में पता लगाने के लिए दूसरी डायन की मदद लेने की कोशिश कर रही हूं मुझे ठीक नहीं लग रहा है ।

पिया इतनी देर में रुक जाती है पिया कहती है कि लेकिन हमें अभी यह नहीं पता है कि आखिर इस घर में कौन कौन इंसान है जो उसने के अंदर जा चुके हैं हमें यह पता लगाना ही होगा और उधर अविनाश डायन डायन और विदेश्री डायन एक दूसरे से बात कर रही होती है अविनाश कहता है कि मुझे लगता है निशांत को सारी बातें पता लग चुकी है और उसने अंश और पिया के सारी बातें बता दी है और मुझे नहीं लगता कि उस काले शीशे के सामने कोई भी जाना चाहेगा चेताली विदेश्री डायन की हमशक्ल कहती है कि कुछ ना कुछ तो करना ही होगा तभी चेताली कहती है कि लेकिन इतना कुछ करने की क्या जरूरत है।

विदेश्री श्री तो वैसे भी तुम्हारी बात मान जाएगी डायन कहती है कि नहीं मैं विदेश्री को अच्छी तरीके से जानती हूं वह ऐसे ही मेरी बात नहीं मानेगी जब तक उसके साथ अंश और पिया है तो उसे पता है कि वह दोनों कुछ ना कुछ तरीका निकाल ही लेंगे इसलिए उस आईने के अंदर हमें पिया और अंशु को हटाना बहुत ही ज्यादा जरूरी है और यह काम हमें भी तीसरी के आने से पहले ही करना होगा चैताली डायन कहती है कि लेकिन यह सब कैसे होगा कोई भी उस आईने के सामने नहीं जाएगा तभी वह डायन अपनी शक्तियों से हर एक आईने के अंदर डायन सीता की शक्तियां डाल देती है तभी वह कहती है कि अब इस घर में जितनी भी चीजें हैं तब डायन से बन चुके हैं कभी तू कोई ना कोई और ना ही नो में देखेगा तो जरूर और उसमें कैद हो जाएगा।

और उधर छोटा पहलवान नमन को वहां से खींच कर जब ले जा रहा होता है तभी सनम उसे रोक लेती और कहती है कि यह हमारे पति है तो मैंने कहा लेकर जा रहे हो तभी छोटा पहलवान कहता है कि मेरे सोने को अगर कोई चुराने की कोशिश करता है तो मुझे यह बात अच्छी नहीं लगती है यह मेरा सोना है सनम कहती है कि यह तुम्हारा सोना नहीं है बल्कि यह मेरा पति है छोटा पहलवान कहता है कि नहीं यह मेरा सोना है इसे मैंने बनाया है इसे मैं ही लेकर जाऊंगा अगर किसी ने मुझे रोकने की कोशिश की तो मैं उसे भी सोना बना दूंगा।

सेबी उसे रोकने के लिए उसे पूछती है कि अगर इससे भी भारी इंसान तुम्हें मिल जाए और तुम उसे सोना बना कर वहां से ले जाओ तो तुम अमन को यहीं पर छोड़ सकते हो तभी वह कहता है कि ऐसा इंसान कहां मिलेगा इतनी देर में सेबी सनम की मां की तरफ इशारा कर देती है और उस छोटे पहलवान को बताती है कि एक चुड़ैल में बहुत ही ज्यादा वजन होता है और यह तो सबसे बड़ी चुड़ैल है तो इसमें वजन बहुत ज्यादा होगा तुम इसे सोने का बना कर ऐसे झांसी ले जा सकती हो तभी सनम को गुस्सा आ जाती है सेबी कहती है कि तुम्हें अपने पति को बचाना है या नहीं सनम कहती है कि मुझे अपने पति को बचाना है

लेकिन मुझे अपनी मां को भी फसाना नहीं है तभी छोटा पहलवान नमन को वहां से जब ले जा रहा होता है तभी सनम को गुस्सा आ जाती है और सनम और छोटे पहलवान से लड़ने लगती है इतनी देर में ही छोटे पहलवान की छड़ी सनम की मां को जाकर लग जाती है जैसे सनम की मां सोने की बन जाती है और छोटा पहलवान पर गर्म हो जाता है सनम बहुत ही खुश हो जाती है और कहती है कि यह तो बहुत ही कमजोर है इतनी जल्दी थक जाता है तभी सेबी सनम से पीछे पलटने के लिए कहती है और कहती है कि अपनी मां को तो जरा देखो सनम जैसे ही अपनी मां को देखती है और वह चौक जाती है।

Advertisement