Nazar Aaj Ka Episode 29 October 2019

Nazar Aaj Ka Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे Piya और Mohana भागते हुए देव के गुफा की तरफ बढ़ने लगते हैं इतनी देर में देव अपने बस में Piya को कर लेता है Ansh और Mohana उस गुफा के अंदर गिर जाते हैं Piya देव के कंट्रोल में पूरी तरह से आ जाती है और उसे कहती है कि देव तुमने बिल्कुल सही कहा था बुराई की तरफ आना कुछ गलत नहीं है बल्कि बुराई की तरफ आने के बाद तो मुझे एक बहुत ही अच्छा लग रहा है पता नहीं मैंने तुम्हारी पहले बात क्यों नहीं सुनी देव कहता है कि मैंने तो तुमसे पहले ही कहा था अगर तुम मेरी तरफ आ जाती हो तो तुम्हारे अंदर काफी ज्यादा शक्ति आ जाएंगे और तुम्हें अच्छा भी लगेगा।

Advertisement

Piya देव से पूछती है कि क्या यह मेरे पास जो शक्तियां है मैं अब उनका इस्तेमाल यहां पर भी कर सकती हूं देव कहता है कि हां इसका इस्तेमाल अब तुम इस गुफा के अंदर भी कर सकती हूं देव Piya से कहता है कि तुम इन शक्तियों का इस्तेमाल इन दोनों पर क्यों नहीं करती Ansh Piya को देखकर उसे हाथ लगाने की कोशिश करता है लेकिन इतनी देर में Ansh नीचे गिर जाता है तभी Piya बहुत ही ज्यादा खुश हो जाती है और उससे कहने लगती है कि Ansh तुम एक दावत हूं और तुम चाहते तो बुराई की तरफ आ सकते थे मेरे साथ लेकिन तुमने ऐसा नहीं किया मैं एक दैविक हूं और तुम दावत फिर भी तुम अच्छाई की तरफ हो अगर तुम चाहते तो मुझे बुराई की तरक्की खींच सकते थे लेकिन तुमने अच्छाई चुनी अगर तुम मेरे साथ ही बुराई लेते तो आज तुम मेरे साथ होते।

Advertisement

Ansh Piya से कहता है कि Piya तुम बदल नहीं सकती क्योंकि तुम्हारे अंदर इतनी अच्छा ही है कि बुराई उस पर हावी कभी भी नहीं हो पाएगी देव कहता है कि यह तुम्हारी गलतफहमी है Piya बदल चुकी है बुराई की तरफ बढ़ चुकी है कहता है कि नहीं ऐसा नहीं हो सकता Piya कभी भी बुराई की तरफ नहीं जा पाएगी मैं तुम सबको साबित कर देता हूं जैसे ही मैं Piya को हाथ लगाऊंगा मेरी आंखें गिलो करने लगेंगे Ansh जैसे Piya को हाथ लगाने वाला होता है तभी Piya Ansh को जादुई बॉल में कैद कर देती है।

Piya Ansh से कहती है कि तुम्हें ऐसा लगता है कि मैं बदल नहीं सकती और बुराई की तरह नहीं जा सकती अब मैं तुम्हें दिखाती हूं कि मैं क्या कर सकती हूं Piya देव के पास जाती है और उससे कहती है कि अब मैं देर से शादी करूंगी क्या तुम मुझसे शादी करोगे देव कहता है कि मैं तो तुमसे कब से कह रहा हूं कि शादी करने के लिए और मैं शादी के लिए तैयार हूं Ansh प्रिया को रोकने की कोशिश करता है देव जैसे ही वरमाला को उठा रहा होता है इतनी देर में Piya उसे रोक लेती है और उससे कहती है कि पहले बरमाला लड़की पहनती है Piya वरमाला को उठाती है और देव को पहना देती है देव जैसे ही वरमाला को उठा रहा होता है Piya अपनी दैविक शक्तियों का इस्तेमाल करती है और अपने हाथों में हथियार को लेकर देव को मार देती है जिससे देव उस हथियार के साथ दीवार में लग जाता है।

Advertisement

Also Read – नजर – 26 अक्टूबर 2019 – अंश और मोहना की देव से लड़ाई – सीरियल स्टोरी

तभी सारे घरवालों के ऊपर से देव का असर खत्म हो जाता है सारे घर वाले पूरी तरह से नॉर्मल हो जाते हैं तभी वह Nishant के पास जाते हैं और Nishant से कहते हैं कि Piya और Ansh कहां पर है वह ठीक तो है Nishant कहते हैं कि देव Piya को लेकर गया है और Ansh Piya को बचाने के लिए गया है विदेशी कहती है कि फिर हम यहां पर क्या कर रहे हैं हमें तो उन्हें बचाने के लिए चलना चाहिए पंडित जी कहते हैं कि आप ही ने तो हमें यहां पर रोक कर रखा है और आप ही तो कह रही थी कि देर बिल्कुल सही है ।

सारे घर वाले कहते हैं कि हम पता नहीं यह सब क्यों कह रहे थे दिल की बातों में क्यों आ गए थे देव ने हमें अपने वश में किया हुआ था जिसकी वजह से हम सब देव के इशारों पर ही नाच रहे थे हम Piya पर तभी भरोसा कर लेना चाहिए था तब हमने देव के रिकॉर्डिंग सुनी थी लेकिन हमने Piya पर भरोसा नहीं किया और उसकी शादी देव के साथ करवाने की कोशिश की हमें Piya को बचाने के लिए चलना चाहिए Nishant कहते हैं कि इसकी अभी कोई जरूरत नहीं है क्योंकि मुझे नहीं लगता देव अपने मकसद में कामयाब हो पाया है क्योंकि आप सब पर से देव का असर खत्म हो चुका है इसका मतलब वहां पर अभी Piya और Ansh पूरी तरह से ठीक है।

देव जैसे ही Piya को देखता है तो वह चौक जाता है और Piya से कहता है कि तुम ऐसा कैसे कर सकती हो जबकि तुम मेरे बस में थी Piya कहती है कि तुम सिर्फ दिमाग को कंट्रोल कर सकते हो मेरे दिल को नहीं और मैं सिर्फ दिल की सुनती हूं दिमाग की नहीं यह बात सुनकर खुश हो जाता है देव Piya से कहता है कि तुम मुझे कैसे मार सकती हो Piya कहती है कि जैसे एक दैविक दूसरे देविक का हथियार जोड़ सकता है वैसे ही एक दैविक दूसरे दैविक को मार सकता है देव कहता है कि Piya यह तुमने ठीक नहीं किया हम दोनों मिलकर पूरी दुनिया पर राज कर सकते थे लेकिन तुमने इतनी शक्ति होने के बावजूद आम जिंदगी चुनी Piya कहती है कि मुझे शक्तियों को कोई लालच नहीं था और मैंने आम जिंदगी जुनी और तुम्हें शक्तियों का लालच था जिसकी वजह से तुम्हारे पास आम जिंदगी भी नहीं रही अभी देव बर्फ का बन जाता है।

सारे घर वाले जब Piya और Ansh का इंतजार कर रहे होते हैं तभी Piya और Ansh आदि और परी के साथ वहां पर पहुंच जाते हैं सारे घर वाले उन सब को देख कर बहुत ही अच्छा खुश होते हैं और कहते हैं कि अब सारी मुसीबत टल चुकी हैं सारे घर वाले Piya से माफी मांगते हैं और कहते हैं कि Piya हमें माफ कर देना जो हमने तुम्हारी बात पर भरोसा नहीं किया हम नहीं जानते थे कि हम आखिर कर क्या रहे हैं Piya कहती है कि आप सब को माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है मैं जानती हूं कि आप देर के बस में थे जिसकी वजह से आप सब ने ऐसा किया तभी सब कहते हैं कि आप सब कुछ ठीक हो चुका है।

सारे घर वाले एक साथ मिल चुके हैं तभी Nishant वहां पर अपनी बहन और भांजी को बुलाता है सबको बताता है कि देव लेने बाहर बंद करके रखा था और मैंने हॉस्पिटल पहुंचाया तभी Piya उनसे माफी मांगती और कहती है कि मुझे माफ कर देना Nishant कहते हैं कि तुम्हें माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है जैसे सारे घर वाले देव के बस में थे वैसे ही यह दोनों भी देव के बस में ही थे इतनी देर में वहां पर हवा चलने लगती है और वहां के सारे दिए बुझ जाते हैं तभी चेताली डर जाती है और कहती है कि अब कोई मुसीबत नहीं चाहिए ना ही कोई डायन ना ही कोई आयन मैं बहुत ही ज्यादा थक गई हूं मुझे थोड़ा सा ब्रेक चाहिए इतनी देर में वहां पर Mohana आ जाती है।

सारे घर वाले Mohana को देखकर वहां पर चौक जाते हैं तभी Mohana से कहते हैं कि तू यहां से चली जा तेरा यहां पर कोई भी नहीं है तेरा घर नहीं है तभी Mohana कहती है कि मैं त्यौहार के दिन अपने घर नहीं आऊं तो कहां जाऊं शायद आपको Nishant ने कुछ बताया नहीं है तभी Nishant कहते हैं कि Mohana से मेरी एक डील हुई है मुझ पर कोई और रास्ता नहीं था Mohana की मदद लेने के सिवा इसलिए Mohana ने मेरे मदद करने के बदले में इस घर में रहने का प्रॉमिस लिया है तभी सारे घर वाले Nishant की बात मान जाते हैं और Mohana को वहां रहने की इजाजत दे देते हैं और Mohana से कहते हैं कि तुम इस घर में जरूर रह सकती हो लेकिन इस घर वालों के साथ तुम्हारा कोई भी रिश्ता नहीं होगा Piya कहती है कि तुम इस घर में रह जरूर सकती हो लेकिन हमेशा नजर मेरी तुम पर ही रहेगी।

नमन जब अपने कमरे में होता है तभी वहां पर सनम आ जाती है और नमन को शीशे के आगे देख लेती हो और उससे पूछती है कि तुम यहां पर क्या कर रहे हो पतिदेव इतनी देर में नमन जैसे ही पीछे पलटता है और वह ज्वेलरी हो को पहन लेता है तभी सनम यह सब देख कर चौक जाती है और उससे कहती है कि आपने हमारी गहने क्यों पहने हुए हैं तभी वह कहता है कि मुझे ज्ञानी बहुत ही अच्छा पसंद है सनम उन दोनों को छीन लेती है और उससे कहती है कि यह मेरे गहने है नमन कहता है कि तो हमें भी गहने चाहिए सनम कहती है कि तो आप देने लेने के लिए कोपचा पहलवान के पास चले जाइए इतना कहकर सनम वहां से चली जाती है थोड़ी देर के बाद नमन के साथ उसे ढूंढ रही होती है और न सनम से पूछती है कि दामाद जी कहां है नाम कहती है कि मैं नहीं जानती वह तो यही होंगे तभी चमके मां कहती है कि कहीं बाहर गई है क्या दामाजी तभी सनम कहती है कि ऐसा तो नहीं वह भी गए हो सनम की मां यह बात सुनकर चौक जाती है तभी सनम सारी बातें बता देती है सनम की मां कहती है कि तुमने उसे वहां पर भेज दिया तुम जानती हो ना कि वह आदमी कैसा है वह अगर किसी को भी देखता है तो उसे पकड़ कर गहना बना देता है।

Advertisement