नजर – 26 अक्टूबर 2019 – अंश और मोहना की देव से लड़ाई – सीरियल स्टोरी

नजर सीरियल के आज के एपिसोड में आप सब देखेंगे कि कैसी देव आखिरकार अपने मकसद में कामयाब हो ही जाता है पिया जगदेव पर हमला करने वाली होती है तभी सारे घर वाले पिया को रोकने की कोशिश करते हैं और पिया को घेर लेते हैं वेद श्री पिया के गले पर तीर रख देती है जिसके वजह से पिया की गर्दन से खून आने लगता है देवरिया से कहता है कि तुमने इन घर वालों के लिए इतना कुछ किया है लेकिन यह है कि तुम्हारी बात एक भी नहीं मान रहे हैं तुम चाहती हो तो तुम यहां से निकल सकती हो और मेरे ऊपर हमला भी कर सकती हूं|

Advertisement

अंश अपनी मां से रोकने के लिए कहता है लेकिन वेदश्री एक भी नहीं सुनती देव पिया से कहता है कि तो मैं अगर इधर आना है तो तुम आ सकती हो लेकिन इन सब को मार कर पिया यह सब करने से मना कर देती है और देव से कहती है कि मैं ऐसा कुछ भी नहीं करूंगी क्योंकि मैं तुम्हारी तरह नहीं हूं इतने में देव पिया से कहता है कि तुम या तो मेरी तरफ आ जाओ या फिर अपने परिवार की जान खतरे में डाल दो पिया देव की बात सुन लेती है और उसकी तरफ आने के लिए राजी हो जाती है|

Advertisement

इसने में अंश देव के चंगुल से निकल आता है और वहां पर जो जमीन पर तीर पढ़ा होता है उसे अपने हाथों में लेकर देव की तरफ बढ़ने लगता है इतने में वेदश्री पिया को देव की तरफ धक्का दे देती है जिससे दे पिया को लेकर गायब हो जाता है अंश पिया क्या कर चिल्लाने लगता है अंश मोहना के साथ बालकनी में जाता है और वहां पर आदि और परी भी होते हैं मोहना अंश से पूछती है कि वह जिस डायन के बारे में बात कर रहा था वह कौन सी डायन है अंश कहता है कि मैं नहीं जानता उसके बारे में मोहना कहती है कि हमें उसके बारे में पता लगाना होगा|

अंश कहता है कि लेकिन उससे पहले हमें पिया का पता लगाना होगा कि वह आकर है कहां परी कहती है कि लेकिन कैसे पता लगाएंगे कि मां है कहां अंश कहता है कि हमें अलग-अलग जगह जाकर देखना होगा इतना कहकर अंश और मोहना वहां से चले जाते हैं निशांत जी और पंडित जी वहां से जब जा रहे होते हैं तभी सारे घर वाले उनके सामने आकर खड़े हो जाते हैं और उन दोनों को रोकने की कोशिश करते हैं निशांत जी कहते हैं कि आप सब सामने से हट जाइए वेदश्री कहती है कि आप सब बात क्यों नहीं मान लेते की देवी सही है|

Advertisement

निशांत जी कहते हैं कि आप ऐसे कैसे बात कर रहे हैं आप होश में आते क्यों नहीं देव ने आपको बस में कर रखा है आप सब होश में आ जाइए और सच्चाई को देखिए कि देव सही नहीं है बल्कि आपके सामने ही तो देव की सच्चाई सामने आई थी फिर भी आप ऐसे ही बात कर रही है सारे घर वाले कहते हैं कि नहीं देवी सही है देव ने हमें आप सब को रोकने के लिए बोला है इसलिए आप कहीं नहीं जाएंगे निशांत जी कहते हैं कि आप सब देव के बस में हैं आप उसके बस से बाहर निकली है निशांत जी इतने में उनके सामने चुटकी बजाना शुरू कर देते हैं लेकिन सारे घर वाले देव के बस में ही रहते हैं |

Also Read – नज़र रिटन अपडेट 25 अक्टूबर 2019 : अंश देव के खिलाफ लड़ाई मोहना द्वारा हमला

निशांत जी इतने में वहां पर गंगाजल को लेकर आते हैं और सारे घरवालों से कहते हैं कि आप सब हमें जाने दीजिए वरना मुझे मजबूरी में ही इस गंगाजल को आप पर फेंकना होगा सारे घर वाले कहते हैं कि आप हमारी बात क्यों नहीं मान लेते गलत देव नहीं है बल्कि गलत तो आप सब है जो ऐसा कर रहे हैं हम सामने से नहीं हटेंगे निशांत जी सब पर गंगाजल छिड़क देते हैं लेकिन गंगाजल का भी असर घरवालों पर नहीं होता घरवाले कहते हैं कि आप कुछ भी कर लीजिए कुछ भी नहीं हो पाएगा क्योंकि हम भ्रम में नहीं है बल्कि आप सब भ्रम में हैं कि देव गलत है|

वेदश्री कहती है कि एक बार देव पिया को काला सूत्र पहना देगा तो पिया भी उसकी आंखों में देखकर उसके बस में हो जाएगी निशांत जी यह बात सुनकर चौक जाते हैं तभी वह सारे घरवालों से कहते हैं कि ठीक है हम आप सब की बात मान लेते हैं और हम यहां से नहीं जाते पंडित जी निशांत जी से अकेले में पूछते हैं कि आखिर आपने ऐसा क्यों किया आप ही ने तो बोला था हमें जहां से जाना होगा निशांत जी बताते हैं कि वेदश्री जी ने हमें बताया था कि देव जैसे ही पिया को काला सूत्र बांदे का और पिया जैसे ही देवकी आंखों में देखेगी तो वो उसके बस में हो जाएगी|

पंडित जी से बात सुनकर चौक जाते हैं निशांत जी कहते हैं कि यह सारी बातें हमें पिया तक कैसे भी पहुंचा नहीं होगी पंडित जी कहते हैं कि लेकिन हम यह बात कैसे पहुंचाएंगे निशांत जी पंडित जी को लेकर बालकनी में जाते हैं और पंडित जी से कहते हैं कि हम यह सारी बातें पिया तक नहीं पहुंचा दे सकते लेकिन अंश तक तो पहुंचा सकते हैं और उधर अंश पिया को जब ढूंढ रहा होता है तब वह थक जाता है और नीचे पिया के बारे में सोचने लगता है कि मैं पिया को आकर ढूंढूं कहां इतने वहां पर जुगनू दिखाई दे जाता है अंश कहता है कि जुगनू ने पहले भी मुझे पिया तक पहुंचाने में मदद की है |

इतने में अंश जुगनू का पीछा करने लगता है और वह जुगनू एक गुफा तक अंश को ले जाता है पिया उस गुफा में होती है अंश जैसे ही उस गुफा में पिया को देखता है तो पिया को बचाने के लिए उस गुफा में जाने की कोशिश करता है लेकिन वह जा नहीं पाता इतने में वहां पर देव जाता है और अंश से कहता है कि यह मेरी गुफा है तुम इसके अंदर नहीं जा सकते अंश इतने में पिया को आवाज लगाने लगता है देव बताता है कि इसका कोई फायदा नहीं है क्योंकि तुम्हारी आवाज पिया तक नहीं पहुंचेगी और ना ही पिया तुम्हें देख पाएगी लेकिन तुम पिया को देख सकते हो|

अंश फिर से अंदर जाने की कोशिश करता है लेकिन वह नाकामयाब हो जाता है देव कहता है कि इस गुफा के अंदर कल भी काली शक्ति नहीं आ सकती इतने में पिया को होश आ जाता है पिया देव को वहां पर देख कर डर जाती है देव पिया से कहता है कि पिया तुम कुछ भी यहां पर नहीं कर सकती क्योंकि यह मेरी गुफा है यहां पर मेरी शक्तियों के सिवा तुम्हारी सखियां काम नहीं करेंगे पिया कहती है कि यह तुम्हारी गलतफहमी है इतने में पिया अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करती है और हवन कुंड से आग लेकर देव पर फेंक देती है|

लेकिन वह आग देव को छू नहीं पाती और देव के आगे एक बर्फ की दीवार खड़ी हो जाती है पिया यह सब देख कर चौक जाती है और कहती है कि यह कैसे हो सकता है देव बताता है कि यह गुफा मेरी है और मैंने यहां पर काफी टाइम तक मैंने तपस्या की है पिया कहती है कि अगर तुमने यहां पर इतनी टाइम तक तपस्या की है फिर तुमने काली शक्तियों से हाथ कैसे मिलाया देव पिया को इस बात का जवाब नहीं दे पाता और पिया से कहता है कि इस बारे में हम बाद में बात करेंगे लेकिन मैं पहले तुमसे शादी कर लेता हूं उसके बाद तुम्हें सब कुछ समझ में आ जाएगा|

निशांत जी आदि से कहते हैं कि तुम्हें अंश तक एक खबर पहुंचा नहीं होगी कि पिया देवकी आंखों में ना देख पाए आदि अपनी आंखें बंद करता है और परी से बात करना शुरू कर देता है और परी को बता देता है कि मां तक कौन सी खबर पहुंचा नहीं है तभी परी मोहना के पास जाती है और मोहना से कहती है कि दादी आपको यह खबर पापा तक पहुंचा नहीं होगी मोना कहती है कि मैं अपने खून को ढूंढ सकती हूं इतने में मोहना वहां से गायब हो जाती है और सीधे अंश के पास चली जाती है|

अंश वहां पर मोहना को देखता है तो चौक जाता है मोहना अंश से कहती है कि तुम्हें यह खबर पिया तक पहुंचा नहीं होगी कि पिया देव की आंखों में काला सूत्र बनने के बाद ना देख पाए अंशु बताता है कि पिया उस गुफा में है लेकिन वहां पर कोई भी काली शक्ति नहीं जा सकती मोहना कहती है कि लेकिन मैं वहां पर जा सकती हूं क्योंकि मैं एक आयन हूं मोहना भागते हुए उस गुफा में अंदर जाने की कोशिश करती है लेकिन वह गिर जाती है अंश कहता है कि हमें एक साथ कोशिश करनी चाहिए|

इतने में देव पिया से शादी करने की कोशिश करता है लेकिन पिया आगे नहीं बढ़ पाती तभी दिव्या को बर्फ का बनाना शुरु कर देता है और पिया से कहता है कि ठीक है तुम शादी नहीं करना चाहती लेकिन मैं हमें जरूरी रसम तो कर ही लेता हूं मैं तुम्हें काला सूत्र पहना देता हूं तभी देव अपने हाथों में काला सूत्र लेता है और पिया को पहनाना शुरू कर देता है पिया अपनी आंखें बंद कर लेती है और देव काला सूत्र पहनाने में कामयाब हो जाता है लेकिन जब तक पिया देवकी आंखों में नहीं देखती दिव्या से अपनी आंखों में देखने के लिए कहता है|

अंश और मोहना भागते हुए उस गुफा में जाने की कोशिश करते हैं लेकिन वह गिर जाते हैं तभी आंश पिया से कहता है कि पिया अपनी आंखें मत खोलना लेकिन इतने में पिया अपनी आंखें खोल कर देव को देखने लगती है तभी वह देव के बस में आ जाती है देव उसे कहता है कि अब तुम बुराई की रास्ते पर चल पड़ी हो तो मैं अब तुमसे जो कह रहा हूं तुम्हें सिर्फ उसे याद रखना है अब हम दोनों एक हैं और हमें इस दुनिया पर राज करना है हमारे सिवा इस दुनिया में ऐसा कोई भी नहीं है जो सबसे ज्यादा शक्तिशाली हो हम सबसे ज्यादा शक्तिशाली है|

नमन चुड़ैल बनकर बहुत ज्यादा दुखी होता है और वह सेवी से कहता है कि वह उसे ठीक करें लेकिन सभी कोशिश करने के बाद भी नमन को ठीक नहीं कर पाती तभी नमन सनम से कहता है कि मुझे अभी ठीक करो और जब से जे गले में कड़ा पड़ा है तभी से मेरी हालत है तुम इस कड़े को निकालो सनम कहती है कि हम ऐसा नहीं कर सकते सेबी सनम से सारे मैं बाहर आने के लिए बोलती है सनम बाहर आ जाती है सेबी सनम से कहती है कि तुम नमन को ठीक क्यों नहीं कर देती सनम कहती है कि मैं ऐसा नहीं कर सकती|

सेबी सनम से कहती है कि ठीक है अगर तुम यह सब नहीं करना चाहती तो मैं ही कोशिश कर लेती हूं और नमन को ठीक करने की पूरी कोशिश करूंगी और सेबी अपने हाथों में आरी को लेकर अंदर जाती है और अंदर जाकर देखती है कि नमन उल्टा लटक कर सो रहा होता है सेबी उसे नीचे उतरने के लिए कहती है नमन जैसे ही नीचे उतरता है तभी वह अपना रूप बदल लेता है और सनम का रूप रख लेता है सेबी यह सब देखकर डर जाती है

इतने में वहां पर सनम आ जाती है और नमन को अपने रूप में देखकर खुश होने लगती है इतने में नमन अपना रूप सेबी का रख लेता है सेवी नमन को देखकर सनम से पूछती है कि इसे आखिर हुआ क्या है सनम बताती है कि पतिदेव जी अभी-अभी चुड़ैल बने हैं तो उनकी शक्तियों पर उनका भी कंट्रोल नहीं है इसलिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं सेबी यह बात सुनकर हैरान रह जाती है और सोचने लगती है कि आखिर उसे आगे क्या करना है|

Advertisement