कसौटी जिंदगी की रिटेन अपडेट 31 अक्टूबर 2019 : Rajesh Ke Maut Ka Khulasa

कसौटी जिंदगी की आज का एपिसोड में आप सर देखेंगे कि कैसे प्रेरणा जैसे ही अपने बाबू को लेकर उस घर को छोड़कर रोड से जा रही होती है तभी वहां पर कामोलिका आ जाती है और कहती है कि मुझे प्रेरणा को यहीं पर खत्म कर देना चाहिए मेरे मन में यह खयाल आया है तो मैं यह खयाल भी पूरा कर देती हूं तभी कामोलिका अपनी गाड़ी को स्पीड से बढ़ाएं रखती है और प्रेरणा को मारने की कोशिश करती है तभी वह गाड़ी को रोक लेती है और कहती है कि मैं ऐसे मार तो देती हूं लेकिन इसे कैसे पता चलेगा कि इसे किसने मारा है वह मरने वाले को यह तो पता होना चाहिए कि आखिर उसे किसने मारा है।

Advertisement

कामोलिका प्रेरणा के पास आती है गाड़ी को लेकर और प्रियंका के बगल में आकर गाड़ी को खड़ा कर देती हो प्रेरणा से पूछती है कि तुम कहां जा रही हूं मैं तुम्हें छोड़ देती हूं मैं यहां पर अनुराग की को दवाई लेने के लिए आई थी तभी प्रेम कहती है कि नहीं मैं यहां से चली जाऊंगी लेकिन कामोलिका कहती है कि नहीं तुम मेरे गाड़ी में आकर बैठ जाओ मैं तुम्हें जहां जा रही हूं वहां पर छोड़ देती हूं तभी प्रेरणा गाड़ी में आकर बैठ जाती है इसके बाद कामोलिका प्रेरणा को घर पर छोड़ देती है कामोलिका प्रेरणा से पूछती है कि तुम कहां पर रहती हो प्रेरणा कहती है कि हां मैं यहीं पर रहती हूं तभी कामोलिका अपने मन में कहती है कि यह तो घर मेरा है मैंने अनुराग को यह घर गिफ्ट किया था लेकिन अनुराग नई स्प्लेंडर को गिफ्ट कर दिया और जो भी चीज मिली है मैं उसे हासिल करके ही रहूंगी तभी कामोलिका प्रेरणा से पूछती है कि क्या यहां से आगे के रास्ते से मैं निकल सकती हूं प्रेरणा कहती है कि हां तुम आगे से जा सकती हूं।

Advertisement

कामोलिका अपनी गाड़ी को लेकर आगे जाती है और गाड़ी को रोक लेती है और कहती है कि मैं ऐसे ही से नहीं छोड़ सकती कभी कामोलिका अपनी गाड़ी को यू टर्न लेकर आती है और वहां पर जो कीचड़ पड़ी होती है तभी आपने गाड़ी को स्पीड कीचड़ पर चला देती है जिसकी वजह से कीचड़ प्रेरणा के ऊपर आकर गिर जाती है कामोलिका बहुत ही ज्यादा हो जाती है यह सब देख कर कामोलिका अपनी गाड़ी को पीछे लेकर आती है और प्रेरणा से माफी मांगती है कि मैंने यह अनजाने में कर दिया मुझे माफ कर देना प्रेरणा कहती है कि कोई बात नहीं तभी कामोलिका फ्रेंड से कहती है कि तुम्हारा दिल कितना अच्छा है मैंने तुम्हारे ऊपर कीचड़ डाल दी फिर भी तुमने मुझे माफ कर दिया तभी फ्रेंड ने कहती है कि तुमने जी आप जानती नहीं किया है तुझे गलती से हो गया होगा।

प्रेरणा कामोलिका को इतनी देर में वहां से जाने के लिए बोल देती है और उससे कहती है कि तुम्हें अनुराग के लिए दवाई भी खरीदनी है तो मैं यहां से जाना चाहिए और तुम अनुराग का ख्याल रखना इसके बाद कामोलिका वहां से इतना सुन कर चली जाती है प्रेम नगर के अंदर चली जाती है

Advertisement

Also Read – कसौटी जिंदगी की रिटेन अपडेट 30 अक्टूबर 2019 : Komolika kills Prerna

प्रेरणा दरवाजे पर आती है तभी वहां पर प्रेरणा का भाई भाभी और शिवानी होते हैं तभी वह दरवाजे को खोल कर देते और वहां पर फ्रेंड अपने बैग के साथ अंदर आ जाती है तभी सारे घर वाले यह सब देखकर परेशान हो जाते हैं और प्रेरणा से पूछते हैं कि आखिर क्या हुआ है तभी प्रेरणा सबको देख कर रोने लगती है और कहती है कि अनुराग लौट आया है तभी सारे घर वाले खुश हो जाते हैं और प्रेरणा से कहते हैं कि यह तो बहुत खुशी की बात है तभी प्रेरणा कहती है कि लेकिन मैं उस घर में नहीं रह सकती तभी सारे घर वाले युवा सुनकर हैरान रह जाते हैं नहीं लगती है लेकिन सारी बातें नहीं बता पाते और वहां से चली जाती है शिवानी कहती है कि जरूर जी सब काकीमा ने ही किया होगा काकीमा ने यह प्रेरणा दी को घर से निकाला है ।

शिवानी गुस्से में घर से निकल जाती है इसके बाद कामोलिका निवेदिता के साथ बेटी होती है तभी वहां पर मोहिनी वहां पर आ जाती है इतनी देर वहां पर चाय आती है तभी निवेदिता चाय को लेने की कोशिश करते हैं लेकिन कामोलिका उसे रोक लेती है और कहती है कि नहीं मैं चाय कर देती हूं मोहिनी यह सब देखकर और भी ज्यादा खुश होने लगती है इतनी देर में वहां पर शिवानी आ जाती है शिवानी को देखकर मोहिनी चौक जाती है तभी जवानी ऐसे ही अंदर आने की कोशिश करती है मोनी शिवानी को अपने हाथ से रोक देती है तभी जवानी दरवाजे पर ही रुक जाती है इसके बाद मोहिनी कामोलिका से कहती है कि मैं अभी 2 मिनट में बात करके आती हूं इसके बाद मोहिनी को लेकर चली जाती है लेकिन रामा पर आ जाते हैं और मोहिनी को शिवानी के साथ देख लेते हैं।

मोहिनी को बाहर लेकर जाती है और से कहती है कि तुम यहां पर क्यों आई हो तभी शिवानी कहती है कि आपने मिलती को घर से बाहर क्यों निकाला इसके बाद ही नहीं कहती है कि तुम्हारी देखो तो पहले ही निकाल देना चाहिए था शिवानी मोहिनी से कहती है कि मेरी बहन ने इतना कुछ किया है इस घर के लिए मैंने अपने बैंक से 1 महीने तक बात नहीं की क्योंकि उसे वक्त नहीं था ताकि वह आप सब को खुश रख सके वह अनुराग की कमी को पूरा करने के पूर्व पूरी पूरी कोशिश कर रही थी लेकिन आप लोगों ने क्या किया और दीदी को घर से बाहर निकाल दिया मोहिनी कहती है कि मेरा दिल तो उसे पहले ही निकालने का कर रहा था क्योंकि मेरा बेटा उसी की वजह से शादी वाले दिन घर के बाहर गया था मैं जब भी उसे देखती थी तो मेरा दिल खोले लगता था और कहता था मैं से कब घर से निकालो और मैंने तुम्हारी बहन को निकाल दिया है और अब तुम्हारी बहन से और तुम्हारे परिवार से हमारा फूल भी लेना देना नहीं है कोई भी रिश्ता नहीं है ।

शिवानी यह सब देख कर चौक जाती है शिवानी जैसे ही वहां पर राम को देखती है और उनके पास चली जाती है और उनसे कहती है कि आप तो मेरी बहन को अपनी बेटी मानती हैं फिर आपने अपनी बेटी के साथ ऐसा कैसे होने दिया लेकिन राम कुछ भी कह नहीं पाते तभी कहती है कि तुम्हारी बहन को मैंने घर से निकाला है वह इसी के लायक है शिवानी को गुस्सा आ जाता है तभी वह मोहिनी से कहती है कि मैं पूरी कोशिश करूंगी कि मेरी बहन को इस घर में आने की कोई जरूरत ना पड़े और वह जल्दी से घर को और घर के लोगों को भूल जाए इतना कहकर शिवानी वहां से चली जाती है।

प्रेरणा का भाई प्रेरणा से पूछ रहा होता है कि आखिर क्या बात है तुम मुझे पूरी बात बताओ तभी पहनना की भाभी कहती है कि अगर तुम हमें यह सारी बातें नहीं बताओगी तो हम मां को सारी बातें बता देंगे कि आकर तुम्हारे साथ वहां पर हुआ क्या है तभी प्रेरणा उन दोनों से कहती है कि आप दोनों को मां से कोई भी बात करने की कोई जरूरत नहीं है मैं मां को सारी बातें खुद-ब-खुद बताना चाहती हूं और उन्हें वहां से जाने के लिए बोल देती है तभी प्रेरणा की भाई और भाभी वहां से चले जाते हैं ।

वहां पर शिवानी आ जाती है और अपनी बहन के आगे कहने लगती है कि मैंने मोहिनी को आज अच्छा सेवक सिखाया है वह अभी जिंदगी भर यह बातें याद रखेगी तभी अपनी बहन से पूछती है कि आखिर तुमने क्या किया है शिवानी कहती है कि मैं उनके घर गई थी और उन्हें मैंने अच्छा सुनाया है प्रेरणा कहती है कि तुम्हें यह सब करने की कोई जरूरत नहीं थी तुम पहले पूरी बात क्यों नहीं सुनती हो शिवानी कहती है कि आप तो मुझे कुछ बता ही नहीं रही थी बल्कि आपने तो मुझे यह भी नहीं बताया था कि अनुराग की याददाश्त जाने के साथ-साथ उसने एक दूसरी भी शादी कर ली है तभी फ्रेंड है यह बात सुनकर चौक जाती है और मुझसे वाणी से कहती है कि हां मैं यह बात तुम्हें नहीं बताई थी लेकिन मुझे यकीन है कि अनुराग को एक न एक दिन सब कुछ याद आ जाएगा और वहां पर मुझे लेने के लिए जरूर आएगा मैं उस दिन का इंतजार करूंगी

Advertisement