Kasauti Zindagi Ki – Written Update – 24 December 2019

Kasauti Zindagi Ki Written Update 24 december 2019 Episode में आप देखेंगे कि कैसे प्रेरणा सोनालिका को रोकने के लिए फार्म हाउस पर जाती है लेकिन सोनालिका को प्रेरणा के बारे में पहले ही पता चल जाता है जिसकी वजह से सोनालिका अनुराग को लेकर किसी और दूसरी जगह पर चली जाती है जब इस बात का पता प्रेरणा को लगता है प्रेरणा यह सारी बातें शिवानी को बता देती है और उसको भी दिखाती है शिवानी को बताती है कि मुझे तो लगता है सोनालिका डॉल के जरिए मुझसे कुछ कहना चाहती है इस बार उसके इरादे बहुत ही ज्यादा मजबूत हैं शिवानी कहती है कि तुम चिंता क्यों कर रही हो अनुराग कभी भी सोनालिका के करीब नहीं जाएगा क्योंकि वह आज भी तुमसे बहुत ज्यादा प्यार करता है माना कि उसे कुछ भी याद नहीं है लेकिन वह सोना नहीं क्या कभी भी आगे नहीं बढ़ेगा प्रेरणा कहती है कि तुम सोनालिका को नहीं जानती हो इस बार सोनालिका डॉल के जरिए मुझे यह बताने की कोशिश की है कि उसका भी बच्चा इस दुनिया में जल्दी आने वाला है और इस बात से मैं बहुत ही ज्यादा परेशान हूं।

Advertisement

Also Read – Kasauti Zindagi Ki 24 December 2019 Latest News

Advertisement

शिवानी प्रेरणा को कहती है कि हो सकता है सोनालिका इसी फार्महाउस पर हो और वह दूसरे कमरे में हो प्रेरणा कहती है कि नहीं अगर सोनालिका अनुराग के साथ इसी घर में होती तो मुझे पता चल जाता लेकिन मुझे लगता है वह इस घर में नहीं है वह कहीं और ही अनुराग को लेकर गई है शिवानी प्रेरणा से कहती है कि लेकिन दी यह लाइट तो अभी तक नहीं आई है मुझे तो कुछ समझ में नहीं आ रहा है प्रेरणा स्विच बोर्ड की तरफ जाती है और लाइट को चालू कर देती है सारे घर वाले लाइट को देखकर बहुत ही अदा खुश हो जाते हैं प्रेरणा और शिवानी मूलोए के पास आते हैं मूलोए प्रेरणा और शिवानी को वहीं पर रहने की इजाजत दे देते हैं लेकिन प्रणाम मना करती है कि नहीं मैं यहां नहीं रुक सकती क्योंकि मुझे दूसरी जगह पर नींद नहीं आती है इसलिए मैं और शिवानी आमूलोए से घर चले जाएंगे इतना लेट भी नहीं हुआ है मोहिनी इस बात के लिए प्रेरणा का साथ देती है और कहती है कि अगर वह जाना चाहती है तो जा सकती है मूलोए इस बात से मोहिनी से नाराज हो जाते हैं और मोहिनी से कहते हैं कि मैंने तुम्हें कुछ बोली की इजाजत नहीं दी है मैं प्रेरणा से बात कर रहा हूं तो मुझे बात करने दो मोहिनी कहती है कि ऑफिस में मैंने क्या गलत कह दिया जो प्रेरणा कह रही है मैं तो उसी की हां में हां मिला रही हूं इतना कहकर मोहिनी नाराज होकर वहां से चली जाती है मोहिनी के पीछे निवेदिता भी वहां से चली जाती है प्रेरणा मूलोए से कहती है कि मुझे लगता है क्या कि मैं नाराज हो गई है आपकी मां को जाकर बना लीजिए मैं ठीक हूं और मैं आमूलोए से चली जाऊंगी।

अनुपम वहीं पर रह जाता है इतनी देर में सोनालिका का फोन प्रेरणा के पास आता है प्रेरणा फोन को पिकअप करने के लिए वहां से चली जाती है प्रेरणा से सहयोग सॉन्ग को उठाती है सोनालिका एक होटल रूम में होती है तभी सोनालिका प्रेरणा से कहती है कि देखो यह रूम कैसा है प्रेरणा सोनालिका को देख कर चौक जाती है सोनालिका प्रेरणा से कहती है कि वैसे तुमने बहुत ज्यादा मेहनत की होगी फार्म हाउस पहुंचने के लिए और वहां पर पहुंचकर तुमने वही कमरा देखा होगा जो सबसे ज्यादा डेकोरेट हो रहा होगा और मैं और अनुराग तू वहां पर तुम्हें मिले ही नहीं क्योंकि हम दोनों तो यहां इस होटल रूम के स्वीट में है यह होटल रूम का कमरा बहुत ही सुंदर है अगर तुम चाहो तो देख सकती हो सोनालिका प्रेरणा को उस कमरे को दिखाने लगती है तभी सोनालिका प्रेरणा को बताती है कि अब अनुराग और में करीब आकर ही रहेंगे प्रेरणा सोनालिका से कहती है कि तुम कितनी भी कोशिश कर लो अनुराग तुम्हारे करीब कभी भी नहीं जाएगा क्योंकि माना कि उसे कुछ भी याद नहीं है लेकिन आज भी वह मुझसे बहुत ज्यादा प्यार करता है सोनालिका प्रेरणा से कहती है कि लेकिन अनुराग के करीब जाने के लिए मैं तुम्हें कुछ दिखाती हूं सोनालिका प्रेरणा को ड्रिंक में दवाई गिरते हुए दिखाती है प्रेरणा से कहती है कि तुम तो इस दवाई को अच्छी तरीके से जानती ही होगी प्रेरणा सोनालिका से कहती है कि तुम यह सब सही नहीं कर रही हो सोनालिका प्रेरणा से कहती है कि अनुराग और मुझे करीब आने से कोई भी नहीं रोक सकता इतनी देर में सोनालिका के रूम में अनुराग दरवाजे पर खड़ा होता है तब यह सोनालिका प्रेरणा को बताती है कि अनुराग आ चुका है अनुराग को देखना चाहती हूं ठीक है तो मैं तुम्हें अनुराग को दिखा देती हूं लेकिन आवाज को भी कम कर देती हूं अगर अनुराग ने तुम्हारी आवाज सुन ली तो तभी सोनालिका आवाज को कम करके अनुराग के लिए दरवाजा खोल देती है प्रेरणा अनुराग को देखती है उसे आवाज लगाने लगती है लेकिन अनुराग प्रेरणा की आवाज नहीं सुन पाता सोनालिका प्रेरणा के पास आती है उनको बंद करके ड्रिंक को अनुराग के पास ले जाती है।

Advertisement

सोनालिका उसे ड्रिंक को अनुराग को पर कर रही होती है लेकिन अनुराग उस ड्रिंक को पीने से मना कर देता है और सोनालिका को बताता है कि मैं बहुत ही अदा थक गया हूं इसलिए मुझे आमूलोए करना है मुझे थोड़ी देर के लिए अकेला छोड़ दो सोनालिका वहां से उसे ड्रिंक को लेकर चली जाती है और कहती है कि मेरी एक बोली बेस्ट हो चुकी है लेकिन कोई बात नहीं मेरे को बहुत सारी गोलियां है सोनालिका अनुराग से कहती है कि मैं अभी थोड़ी देर में आती हूं और सोनालिका रूम से बाहर चली जाती है प्रेरणा शिवानी के पास चली जाती है शिवानी को सारी बातें बता देती है और कहती है कि मुझे अनुराग के पास किसी भी हालत में पहुंच रहा होगा शिवानी कहती है कि नाम पता कैसे लगाएंगे कि आखिर अनुराग किस होटल में है प्रेरणा कहती है कि यहां आस-पास तो काफी ज्यादा होटल है और मैं अनुराग तक जाने कैसे पहुंचेंगे तभी वहां पर अनुपमा आ जाता है प्रेरणा अनुपम से पूछती है कि अनुराग कहां पर है अनुपम प्रेरणा को बताता है अनुराग यहां पर नहीं है वह किसी होटल में रुका हुआ है लेकिन मैं नहीं जानता कि आखिर वह कौन सा होटल है प्रेरणा यह बात सुनकर चौक जाती है और वहां से गाड़ी को लेकर जहां से जा रही होती है सोनालिका इतनी देर में एक वाइन खरीदती है और उसकी पेमेंट क्रेडिट कार्ड से कर देती है जिसका मैसेज अनुपम के पास आ जाता है अनुपम जैसे उस मैसेज को पड़ता है वह मैसेज मैं उस होटल का नाम आ जाता है अनुपम कहता है कि किसी ने क्रेडिट कार्ड से आर्डर की है इसका मतलब अनुराग इसी होटल रूम में है इस बात को बताने के लिए अनुपम प्रेरणा के पास चला जाता है और प्रेरणा को सारी बातें बता देता है कि किस होटल में अनुराग ठहरा हुआ है।

प्रेरणा अनुपम से कहती है कि मैं बाकी की बातें आपको बाद में बताऊंगी लेकिन मेरा अभी अनुराग से मिलना बहुत ही ज्यादा जरूरी है प्रेरणा शिवानी को लेकर वहां से निकल जाती है और रास्ते में सुस्ती है कि आखिर हम अनुराग को वहां पर जाकर बताएंगे क्या कि हम यहां पर क्यों आए हैं इसलिए मुझ पर एक आईडिया है जिससे सोनालिका करा देना कामयाब भी हो जाएंगे और हम पर इल्जाम भी नहीं आएगा शिवानी खुश हो जाती है और प्रेरणा से पूछती है कि आखिर कौन सा तरीका है प्रेरणा शिवानी को बताती है कि रॉनित ही अपनी बहन को रोकेगा शिवानी चौक जाती है प्रेरणा की बातों को सुनकर और प्रेरणा से पूछती है कि आखिर रॉनित अपने दि को क्यों रुकेगा प्रेरणा शिवानी से कहती है कि इसका भी मेरे पास एक विलन है हमें रॉनित के घर जाना होगा सोनालिका अपने रूम में जाती है और अनुराग से कहती है कि होटल वाले कितने अच्छे हैं हमें वाइन ऑफर की है हमें यह वाइन पी लेनी चाहिए अनुराग सोनालिका से कहना है कि नहीं मेरा मन नहीं है वाइन पीने का मेरे सिर में बहुत ही ज्यादा दर्द हो रहा है सोनालिका कहती है कि कोई बात नहीं मेरी भी थोड़ी देर पहले एक काफी तेज दर्द था इसलिए मैंने यह दवाई खाई थी तुम यह दवाई खा लो इससे तुम्हें आमूलोए मिल जाएगा अनुराग दवाई को ले लेता है और बोतल में से पानी को पी लेता है लेकिन सोनालिका को पता नहीं होता और अनुराग के लिए ग्राहक में पानी भर लेती है और उसमें दवाई को डाल देती है अनुराग सोनालिका से कहता है कि नहीं मैंने दवाई ले ली है पानी की कोई जरूरत नहीं है सोनालिका अनुराग के पास उस पानी के गिलास को लेकर जाती है और उससे कहती है कि अब तुम आमूलोए कर लो अनुराग कहता है कि नहीं अब मैंने दवाई खा ली है तो मैं सोच रहा हूं कि मैं थोड़ा सा काम कर लेता हूं।

सोनालिका खाने का ड्रामा करती है अनुराग सोनालिका के पास आता है और उससे कहता है कि जो तुम्हारे हाथों में गिलास लग रहा है तो तुम पानी पी लो सोनालिका पानी पीने का नाटक करती है और अनुराग से कहती है कि तुम इस पानी को पीकर देखो यह पानी कड़वा है अनुराग थोड़ा सा पी लेता है और सोनालिका को बताता है कि पानी तुझे बिल्कुल सही है सोनालिका अनुराग से कहती है कि नहीं थोड़ा सा और पीछे देखो यह कड़वा लग रहा है अनुराग उस पानी को पी लेता है जिसकी बात अनुराग यारो सोने लगता है सोनालिका कहती है कि अब मेरा काम हो गया है प्रेरणा और शिवानी रॉनित के घर पहुंचते हैं गाड़ी में बैठकर होने कितनी देर में अपने घर के पास आ रहा होता है वहां पर शिवानी और प्रेरणा को देख लेता है और छुप जाता है प्रेरणा शिवानी से कैसी है कि क्या वह आ गया है शिवानी बताती है कि हां वह आ गया है और गाड़ी से भी उतर कर छुप गया है हम दोनों को देखकर प्रेरणा कहती है कि तुम्हें पता है ना कि आगे क्या करना है प्रेरणा और शिवानी एक दूसरे से झगड़ा करना शुरू कर देती है शिवानी प्रेरणा को रोकती है प्रेरणा गुस्से में होती है और कहती है कि अब मैं सोनालिका को नहीं छोडूंगी उसकी हिम्मत कैसे हुई मुझे चैलेंज करने की क्या लगता है मैं कुछ भी नहीं कर सकती अब मैं सोनालिका को जिंदा नहीं छोडूंगी और प्रेरणा एक गुंडे को नकली फोन कर देती है और उससे कहती है कि मैंने जो तुम्हें काम दिया था अब तुम्हारा वक्त आ चुका है वह काम करने का मैं उस लड़की की फोटो भेज रही हूं जिसको तुम्हें खत्म करना है और मैं एड्रेस भी बता देती हूं प्रेरणा एड्रेस जैसे ही बताती है तभी रॉनित कहता है कि मुझे दी को बचाने जाना ही होगा।

Advertisement