Kasauti Zindagi Ki – Written Update – 17 December 2019

Kasauti Zindagi Ki Written Update 17 december 2019 Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे हैं सोनालिका प्रेरणा के बच्चे को मारने की पूरी पूरी कोशिश करती है तभी वहां पर अनुराग टाइम पर पहुंच जाता है सोनालिका कमरे में ही छुप जाती है और चुप कर उन दोनों को देख रही होती है प्रेरणा अनुराग को अपने पास बुलाती है और उसे कहती है कि मुझे यहां से जाना है अनुराग यह बात सुनकर चौक जाता है और सोनालिका भी इस बात को लेकर परेशान हो जाती है अनुराग पहले तो सौ प्रेरणा को समझाने की कोशिश करता है तुम समझने की कोशिश करो तुम्हारी तबीयत अभी पूरी तरह से ठीक नहीं हुई है तुम यहीं पर रुक जाओ प्रेरणा इस बात को मानने से इंकार कर देती है और कैसी है कि नहीं मुझे घर जाना है उसकी बातों को सुनकर अनुराग प्रेरणा को घर ले जाने के लिए मान जाता है।

Advertisement

अनुराग प्रेरणा को अपनी गोद में उठाता है और उसे हॉस्पिटल के बाहर जब लेकर जा रहा होता है तभी नर्स बीच में मिल जाती है और अनुराग को रोक लेती है और अनुराग से कहती है कि आप पेशेंट को कहां लेकर जा रहे हैं अब समझने की कोशिश कीजिए अभी पेशेंट की हालत ठीक नहीं है अनुराग कहता है कि आप समझने की कोशिश करिए मुझे यहां से ले कर जाना होगा नर्सों अनुरागी की एक भी नहीं सुनती और उसे अंदर जाने के लिए बोल देती अनुराग सोचो प्रेरणा को लेकर कमरे में चला जाता है प्रेरणा को मिटा देता है शिवानी जब रॉनित का पीछा कर रही होती है रॉनित अपने दोस्त के केबिन में चला जाता है और कुछ अपने दोस्त से कहता है कि मेरी बहन का बात का बुरा मत मानना वह हमेशा गुस्से में ऐसे ही व्यक्त करती है तो भी उसका दोस्त कहता है कि नहीं सब खत्म हो चुकी है मैं यहां से जा रहा हूं तो वहां पर रह सकते हो उसका दोस्त इतना कहकर वहां से चला जाता है।

Advertisement

Also Read – Kasauti Zindagi Ki 17 December 2019 Latest News

रॉनित जैसे ही अपने चेहरे पर से मस्कट आता है तो जवानी उसे देख लेती है कि यहां पर रॉनित क्या कर रहा है और डॉक्टर के ड्रेस में प्रेरणा दी यहां पर है जवानी अपनी बहन को लेकर कुछ ज्यादा ही परेशान हो जाती है और अपनी बहन को देखने के लिए वहां से निकल पड़ती है अनुराग सोचता है कि मैं अब यहां से प्रेरणा को कैसे लेकर जाऊंगा सोनालिका प्रेरणा को अंदर आते हुए देखती है तभी वह खुश हो जाती है और कहती है कि अब प्रेरणा को मुझसे कोई भी नहीं बचा सकता जैसे ही अनुराग बाहर जाएगा मैं प्रेरणा को और प्रेरणा के बच्चे को खत्म कर दूंगी अनुराग जब वह बाहर जा रहा होता है सोनालिका वहां से निकलने की कोशिश करती है लेकिन अनुराग फिर से अंदर आ जाता है सोनालिका दोबारा छुप जाती है अनुराग वहां हर एक वीलचेयर को देखता है और अनुराग व्हील चेयर को लेने के लिए बाहर चला जाता है।

Advertisement

अनुराग उस व्हीलचेयर को लेकर अंदर आता है और प्रेरणा को स्विच एयर पर बैठाकर बाहर ले जाता है सोनालिका यह सब देख कर चौक जाती है अनुराग के वकील चेयर पर प्रेरणा को लेकर जा रहा होता है तभी सोनालिका यह सब कमरे में से दिख रही होती है तभी वहां पर शिवानी आ जाती है और अनुराग रूकती है और अनुराग से पूछती है कि तुम दी को कहां लेकर जा रहे हो अनुराग शिवानी को बताता है कि प्रियंका यह चाहती थी कि मैं उसे यहां से घर लेकर जाऊंगा इसलिए मैं उसे यहां से घर लेकर जा रहा हूं तो डॉक्टर को इन्फॉर्म कर देना और उसको भी इन्फॉर्म कर देना अनुराग प्रेरणा को गाड़ी में जब बैठाने के लिए वहां पर ले कर आता है तभी वहां पर नर्स आ जाती है और अनुराग से कहती है कि तुम इन्हें कहां लेकर जा रहे हो मैंने तुमसे कितनी बार मना किया है कि तुम ऐसे पेशेंट को यहां से नहीं लेकर जा सकते अनुराग उनसे कहता है की प्रेरणा को इस हॉस्पिटल में अच्छा नहीं लग रहा है इसलिए मैं प्रेरणा को घर लेकर जा रहा हूं अनुराग बिना नर्स की सुने ही प्रेरणा को गाड़ी में बैठा था और वहां से ले जाता है।

अनुराग प्रेरणा को जब घर ले जाने का होता है तभी रास्ते में प्रेरणा से कहता है कि मुझे तुम्हारी वजह से यह गलत कदम उठाना पड़ा है तुम्हें हॉस्पिटल से जरा बस्ती लेकर आना पड़ा है प्रेरणा यह बात सुनकर हंसने लगती है अनुराग कहता है कि इसका वजह तुम मेरी सारी बातें सुन रही हो प्रेरणा नशे की हालत में होती है अनुराग से कहती है कि तुम मेरे लिए बहुत ही ज्यादा स्पेशल हो अनुराग इस बात को सुनकर मुस्कुराने लगता है अनुराग प्रेरणा को घर पहुंचा देता है और वहां पर डॉक्टर प्रेरणा का वेट कर रही होती है और उसका इलाज करती है और अनुराग से कहती है कि आखिर किस डॉक्टर ने प्रेरणा का इलाज किया था अनुराग उस डॉक्टर का नाम बता देता है डॉक्टर कहती है कि मुझे उनसे जाकर बात करनी होगी क्योंकि प्रेगनेंट लेडी को वह इतना हेवी डोज कैसे दे सकते हैं डॉक्टर इतना कह कर चली जाती है अनुराग जब प्रेरणा के पास बैठा होता है तभी प्रेरणा अनुराग का हाथ पकड़ती है और अनुराग से कहती है कि तुम मुझे छोड़कर कभी मत जाना।

अनुराग कैसा है कि मैं तुम्हें कभी भी छोड़कर नहीं जाऊंगा तभी अपने आप मन में सोचता है कि मैंने प्रेरणा से यह वादा क्यों किया है जबकि मैं जानता हूं कि मैं शादीशुदा हूं और मैं प्रेरणा के संग जिंदगी भर नहीं रह सकता लेकिन क्या हुआ मैं उसके साथ जिंदगी भर नहीं रह सकता लेकिन मैं उसका साथ तो निभा सकता हूं अनुराग जब घर पर पहुंचता है तभी अनुपम अनुराग के पास बैठा होता है अनुपम अनुराग से पूछता है कि तुम आखिर यह बताओ तुम प्रेरणा को लेकर हॉस्पिटल से भाग क्यों गए थे हम जब डॉक्टर से मिलने के लिए गए थे वहां पर हमें पता लगा कि तुम प्रेरणा कोई लेकर भाग गए हो आखिर क्या हुआ था अनुराधा है क्या प्रेरणा ने मुझसे कहा था कि वहां नहीं रहना चाहती वहां से जाना चाहती है इसलिए मुझे वहां से प्रेरणा को लेकर आना पड़ा।

प्रेरणा ने एक्सीडेंट के वक्त मुझे बताया था कि उसे कोई मारना चाहता है इसलिए मैं प्रेरणा की बात मानकर उसे घर पर ले आया था अनुपम कहता है कि जो तुमने मुझे बात बताई है उससे मुझे एक और चीज के बारे में याद आया है जब हम उस टाइम संगीत के फंक्शन में गए थे तो प्रेरणा के ऊपर जो झूमर गिरा था वहां पर एक बेटर था और वह किसी आदमी की तरफ इशारा कर रहा था मुझे तो लगता है प्रेरणा को कोई पहले से ही मारने की कोशिश कर रहा है अनुराग कहना है कि अगर ऐसी बात है तो मैं प्रेरणा को कुछ भी नहीं होने दूंगा और हमेशा उसके साथ ही रहूंगा सोनालिका अनुराग को लेकर बहुत ही अदा परेशान होती है और रॉनित के घर में जाकर रोने लगती है कहती है कि मैं इतनी सुंदर होने के बावजूद अनुराग के दिल में अपने लिए जगह नहीं बना पाई हूं बस वह प्रेरणा की वजह से रॉनित के पास उसी ड्राइवर का फोन आता है जिसमें प्रेरणा का एक्सीडेंट किया था और वह अपने पैसों की मांग करता है रॉनित कहता है कि कौन से पैसे तो मैं तो अपना काम पूरा ही नहीं किया तभी वह कहता है कि नहीं तुम्हें मुझे पैसे तो देने ही होंगे बात काम करने की हुई थी अगर तुमने मुझे पैसे नहीं दिए तो मैं पुलिस स्टेशन के आगे खड़ा हुआ हूं अब तुम ही सोच लेना रोने तो डर जाता है और वह अपनी फोन बहन को फोन लगा देता है।

डिलीवर कहता है कि मुझे अभी भूख लगी है कुछ खाने के लिए चला जाता हूं और वह खाने के लिए अपनी गाड़ी को लेकर बाहर आ जाता है तभी रास्ते में अनुपम से टकरा जाता है अनुपम कि उसे लड़ाई हो जाती है अनुपम देश जैसे उस गाड़ी का नंबर देखता है तभी वह चौक जाता है और अनुपम कहता है कि यह तो वही नंबर है जो अनुराग ने मुझे बताया था अनुपम अनुराग को फोन लगाकर सारी बातें बता देता है अनुराग उस गाड़ी का पीछा करने के लिए उनसे बोल देता है और वह गाड़ी का पीछा करने लगते हैं सोनालिका जब रॉनित से बात कर रही होती है तभी रॉनित सोनालिका को सारी बातें बता देता है सोनालिका कहती है कि ठीक है उस ड्राइवर को आखिरी कम में दूंगी और उसे मेरी कही हुई जगह पर बुलाओ।

Advertisement