Kasautii Zindagii Kay 2 Tv Show

Kasauti Zindagi Ki – Written Update – 13 December 2019

Kasauti Zindagi Ki 6 January 2020 Latest News
Written by Rajeev

Kasauti Zindagi Ki Written Update 13 december 2019 Episode में आप सब देखेंगे कि कैसी है प्रेरणा का एक्सीडेंट कर देता है जिसकी वजह से प्रेरणा की हालत बहुत ज्यादा खराब हो जाती है वहां पर अनुराग अपनी गाड़ी को लेकर आता है और प्रेरणा को संभालने की कोशिश करता है तभी वहां पर सोनालिका अपनी गाड़ी से उतरती हो प्रेरणा को देखने के लिए वहां पर चली जाती है और प्रेरणा को बुरी हालत में देख कर मुस्कुराते हुए अपनी गाड़ी में बैठती है और वहां से घर के लिए निकल जाती है अनुराग कहता है कि हमें प्रेरणा को हॉस्पिटल लेकर जाना चाहिए अनुराग प्रेरणा को गाड़ी में बिठा है और उसे हॉस्पिटल के लिए ले जाता है और उसे हॉस्पिटल में भर्ती कर देता है नर्स अनुराग से कहती है कि आपको फॉर्मेट करना होगा अनुराग उसे कहता है कि मैं अभी थोड़ी देर में आता हूं लेकिन नर्स उसके पीछे-पीछे चली जाती है अनुराग प्रेरणा को भर्ती करवा देता है।

डॉ अनुराग को कमरे से बाहर निकाल देते हैं और उसे कहते हैं कि आपको भारी रुकना होगा अनुराग पहले तो बाहर रुक जाता है लेकिन वह रह नहीं पाता और वह अंदर चला जाता है प्रेरणा को देखने के लिए और जब वह प्रेरणा के पास जाता है डॉक्टर उसे बाहर निकालने की कोशिश करती है अनुराग कहता है कि नहीं मैं कहीं नहीं जाऊंगा प्रेरणा की ऐसी हालत को देखकर मुझे बस यहीं पर रहने दीजिए आप यह बताइए कि प्रियंका की कैसी हालत है उसके बच्चा तो ठीक है डॉक्टर अनुराग को प्रेरणा को चेक करके बताते हैं कि हां बच्चा और मां दोनों ही अच्छे हैं अनुराग वहीं पर रहने की जिद करता है डॉक्टर उस बात को मान लेते हैं।

सोनालिका घर पर पहुंची है मोहिनी और निवेदिता एक दूसरे से बात कर रही होती है सोनालिका इतनी देर वहां पर पहुंच जाती है निवेदिता एक खुशखबरी अपनी मां को दे रही होती है सोनालिका कैसी है कि अगर यह इतनी खुशी की बात है तो हम मुंह मीठा कर लेते हैं सोनालिका की बातों को सुनकर निवेदिता कहती है कि मैं अभी लेकर आती हूं निवेदिता रसगुल्ले लेने के लिए चली जाती है मोहिनी सोनालिका से पूछती है कि क्या हुआ तुम इतनी खुश लग रही हो सोनालिका बताती है कि जो मैं इतने टाइम से चाहती थी फाइनली आज जाकर वह पूरा हुआ है और वह जल्दी वह मुझे मिल जाएगा जो मैं चाहती हूं सोनालिका को खुश देख कर मोहिनी में बहुत ही ज्यादा खुश हो जाती है और सोनालिका से कहती है कि तुम्हें खुश देख कर मैं बहुत ही ज्यादा खुश हूं इतनी देर में रॉनित का फोन सोनालिका पर आ जाता है सोनालिका अकेले में जाकर रॉनित से बात करने लगती है तभी उससे कहती है कि मैंने तुमसे कितनी बार मना किया है कि तुम कभी भी या घर पर फोन मत किया करो।

Also Read – Kasauti Zindagi Ki Latest News

रॉनित सोनालिका को बताता है कि दी आप इतना खुश जो हो रही है ज्यादा खुश मत होइए क्योंकि अनुराग ने प्रेरणा को आईसीयू में बढ़ती कर दिया है प्रेरणा का इलाज चल रहा है और अनुराग फॉर्मेलिटी पूरा कर रहा है सोनालिका इस बात को लेकर बहुत ही ज्यादा परेशान होती है और कहती है कि अनुराग हमेशा प्रेरणा को ही क्यों बचा लेता वहां पर अनुराग को नहीं होना चाहिए था सोनालिका इतने गुस्से में वहां से निकल जाती है मोहिनी निवेदिता उसे पूछती है कि क्या हुआ लेकिन वह कोई भी जवाब बिना दिए ही वहां से निकल जाती है डॉक्टर नर्स से कहते हैं कि जाओ प्रेरणा के लिए ब्लड लेकर आओ हमें ब्लड चढ़ाना ही होगा अनुराग डर जाता है अनुराग डॉक्टर से कहता है कि क्या हुआ ब्लड की क्या जरूरत थी डॉ अनुराग को बताते हैं कि यह प्रेग्नेंट है और इनका खून बहुत ही अलग है चुका है और प्रेगनेंसी में खून की बहुत ही ज्यादा जरूरत होती है इसलिए हमें खून चढ़ाना होगा लेकिन आपको कमरे से बाहर जाना होगा आप कमरे से बाहर जाइए अनुराग को डॉक्टर कमरे से बाहर निकाल देते हैं।

अनुराग जब बाहर की तरफ बैठा होता है तभी वह प्रेरणा को लेकर और उसके बच्चों को लेकर बहुत ज्यादा परेशान होता है और वह सोच में पड़ जाता है कि मैं प्रेरणा और प्रेरणा के बच्चों को लेकर इतना परेशान क्यों हूं प्रेरणा जब भी इतना दुखी होती है मैं क्यों दुखी हो जाता हूं मुझे तो लगता है घर वाले मुझसे कुछ ना कुछ जरूर छुपा रहे हैं कोई भी मुझे कुछ भी बताने के लिए तैयार नहीं है और मुझे इतना डर क्यों लग रहा है इतनी देर में अनुराग के पिता उसे फोन कर देते हैं और उससे पूछते हैं कि आखिर तुम दोनों हो कहां अनुराग डरा हुआ होता है और उनसे कहता है कि मैं बहुत ही डरा हुआ हूं प्रेरणा का एक्सीडेंट हो चुका है मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं प्रेरणा को खो दूंगा अनुराग के पिता कहते हैं कि तुम किस हॉस्पिटल में हूं हमें बताओ हम वहां पर आते हैं अनुराग होने हॉस्पिटल का नाम बता देता है और वह हॉस्पिटल के लिए वहां से निकल जाते हैं।

सोनालिका हॉस्पिटल जब पहुंचती है और उसे प्रेरणा के बारे में पता लगता है तो और भी ज्यादा गुस्से में आ जाती है और रोने पर गुस्सा करने लगती है कि मैंने तुम्हें एक काम दिया था प्रेरणा और उसके बच्चे को खत्म करने का तुम अपना काम ध्यान से भी नहीं कर पाए मुझे प्रेरणा के बच्चे को खत्म करना ही होगा मैं यह बात सुनकर बहुत ही ज्यादा थक गई होगी अनुराग जब जो कहता है कि मुझे प्रेरणा और उसके बच्चे की बहुत ही ज्यादा फिक्र है उसकी जिम्मेदारी है इसलिए मैं प्रेरणा के बच्चे को खत्म करके ही रहूंगी रॉनित कहता है कि इस हॉस्पिटल में मेरा एक दोस्त डॉक्टर है हम उसकी मदद ले सकते हैं सोनालिका कहती है कि ठीक है तो मुझे उसके पास लेकर चलो रॉनित सोनालिका को उसके पास लेकर जाता है और सोनालिका उसके सामने आती है और उससे कहती है कि मैं तुम्हें पैसे देने के लिए तैयार हूं तुम्हें सिर्फ मेरा एक काम करना होगा प्रेरणा को एक गैरों सी का एक्शन देना होगा और उसके बच्चे को मारना होगा ऐसा लगना चाहिए कि एक्सीडेंट के दौरान ही प्रेरणा का बच्चा मरा है।

रॉनित का फ्रेंड इस बात के लिए मान जाता है और सोनालिका से हाथ मिला लेता है सोनालिका रॉनित अपने दोस्त के संग प्रेरणा को मारने के लिए जाते हैं तभी प्रेरणा के कमरे के बाहर अनुराग होता है सोनालिका उससे कहती है कि तुम्हें अंदर जाकर प्रेरणा के बच्चे को मारना होगा मैं यहीं पर खड़ी हूं थोड़ी देर के बाद मैं वहां पर आ जाऊंगी रॉनित का फ्रेंड प्रेरणा के बच्चे को मारने के लिए वहां पर चला जाता है लेकिन अनुराग उसे अंदर जाता हुआ देख लेता है सोनालिका कहती है कि अनुराग ने इसे अंदर जाता हुआ तो देख लिया है कहीं ऐसा ना हो कि यह प्लेन फ्लॉप हो जाए क्रॉनिक का फ्रेंड प्रेरणा को गैरों से का इंजेक्शन दे रहा होता है तभी प्रेरणा को होश आ जाता है और वह इंजेक्शन लेने से मना कर देती है लेकिन रॉनित का फ्रेंड उसे इंजेक्शन गैरों से वाला तो दे देता है तभी वह कहता है कि उसने मुझे अच्छा हुआ बता दिया कि मुझे इसे उसी का इंजेक्शन देना है यह आपने कुछ हाथ पैर कुछ ज्यादा ही मार रही थी ।

प्रेरणा गैरों से क्या हालत में अनुराग को आवाज लगाने लगती है तभी अनुराग को कुछ गलत लगता है और वह प्रेरणा के कमरे में आ जाता है और वहां पर उसे डॉक्टर को देख कर चौक जाता है और उसे डॉक्टर से पूछता है कि आप कौन हैं और यहां पर क्या कर रहे हैं तभी वह कहता है कि मुझे यहां पर डॉक्टर कुमार ने भेजा है प्रेरणा जी को देखने के लिए अनुराग से कहता है कि नहीं प्रेरणा को तो डॉक्टर कुमार ही देख रहे हैं और मैं चाहता हूं कि वह इस केस को देखें और इस केस में शामिल ना हो अगर आपको दिक्कत है तो मैं एक बार उनसे बात कर लेता हूं लेकिन वह डॉक्टर डर जाता है और अनुराग से कहता है कि नहीं मैं चला जाता हूं मैं अथॉरिटी से बात कर लूंगा इतना कहकर वहां से चला जाता है और वह सोनालिका के सामने कहता है कि मैं अब प्रेरणा के बच्चे को नहीं मार सकता क्योंकि वहां पर अनुराग पहरा दे रहा है मैं आपका यह काम नहीं कर सकता जब तक वहां पर वह अनुराग रहेगा यह बस उनका सोनालिका चौक जाती है रॉनित अपने दोस्त पर गुस्सा करता है और उसे वहां से भगा देता है सोनालिका कहती है कि अब यह काम मुझी को करना होगा।

About the author

Rajeev

Rajeev Kumar Saini