Kasauti Zindagi Ki – Written Update – 10 December 2019

Kasauti Zindagi Ki Written Update 10 december 2019 Episode में आप सब देखेंगे कि कैसे प्रेरणा को जब पुलिस वाले पकड़ने के लिए आगे बढ़ते हैं तभी वहां पर अनुराग पहुंच जाता है और सारे घर वालों से और पुलिस वालों से कहता है कि कोई भी प्रेरणा पर इल्जाम नहीं लगाएगा मोहिनी अनुराग को समझाने की कोशिश करती है कि अनुराग तुम यह क्या कर रहे हो तुम जानती हो कि आखिर हो क्या रहा है अनुराग कहता है कि कोई भी प्रेरणा पर पैसों का इल्जाम नहीं लगाएगा क्योंकि मुझे यकीन है कि प्रेरणा कभी भी ऐसा नहीं कर सकती मोहिनी यह बात सुनकर हैरान हो जाती है और अनुराग को समझाती है कि तुम जानते हो कि सोनालिका खुद कमरे में चेक करके आई है वहां पर पैसे नहीं है इसका मतलब वह पैसे किसी और ने नहीं बल्कि प्रेरणा नहीं चुराए हैं अनुराग से इनकार करता है और पुलिस वालों के पास जाकर प्रेरणा की मां को उन्हें छोड़ने के लिए कहता है तब यह अनुराग वहां पर एक कुर्सी को मंगाता है और प्रेरणा की मां को बैठता है मोहिनी यह सब देखकर और भी ज्यादा गुस्से में आ जाती है।

Advertisement

सोनालिका अनुराग से कहती है कि तुम्हें प्रेरणा पर यकीन है मैं जानती हूं लेकिन मैं जो भी बोल रही हूं सही बोल रही हूं यह पैसे किसी और ने नहीं बल्कि प्रेरणा और उसकी बहन नहीं चुराए हैं तभी उसकी बहन कहती है कि ऐसे नहीं चुराए हैं मेरी कभी भी ऐसा नहीं कर सकती तुम्हें हमारी बात पर यकीन नहीं है तो तुम्हारी गर्म है तो सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं एक बार उस सीसीटीवी कैमरे को चेक कर लो सोनालिका शिवानी से कहती है कि तुम सही कह रही हो हमारे घर में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं और इस बात का पता प्रेरणा को भी है और इसीलिए तो उसने यह काम खिड़की से किया होगा तुम नीचे खड़ी होगी और प्रेरणा ने वह नीचे फेंक दिया होगा और तुमने वह घर-घर में छुपा दिया है शिवानी कहती है कि मैं यहां पर थी ही नहीं मैं तो खुद कॉलेज में थी सोनालिका कहती है कि अगर तुमने यह काम नहीं किया तो जरूर प्रेरणा की मां ने उसका साथ दिया होगा अनुराग और प्रेरणा सोनालिका पर चिल्ला जाते हैं।

Advertisement

Also Read – Kasauti Zindagi Ki Latest News

सोनालिका चिल्लाते हुए अनुराग से कहती है कि अगर ऐसा नहीं है तो इनके घर की तलाशी होने दो अनुराग इस बात से इनकार करता है लेकिन प्रेरणा सोनालिका से कहती है कि हां ठीक है हमारे घर की तलाशी होने दो तभी प्रेरणा अनुराग से कहती है कि अनुराग अगर सोनालिका हमारे घर की तलाशी लेना चाहती है तो उसे लेने दो अनुराग भी प्रेरणा की बात मान जाता है सोनालिका कहती है कि ठीक है तो अब पुलिस वाले प्रेरणा के घर की तलाशी लेंगे मोहिनी कैसी है कि मैं वहां पर कदम भी नहीं रखूंगी लेकिन सोनालिका चलने के लिए राजी हो जाती है और पुलिस वालों के सब वहां से निकल जाती हैं पुलिस वाली प्रेरणा की मां को चलने के लिए कहती है प्रेरणा की मां मोहिनी के पास जाती है और मोहिनी से कहती है कि मैंने आपसे यह बात पहले भी कई है कि आप इस लायक ही नहीं है कि आपकी जिंदगी में कोई एक अच्छा इंसान रहे आपकी जिंदगी में दो कामोलिका जितनी गिरी हुई थी सोनालिका भी उतनी ही गिरी हुई है और आप यही डिजर्ट करती हैं मोहिनी यह बात सुनकर गुस्से में आ जाती है और प्रेरणा की मां से कहती है कि मैं अपने बेटे की जिंदगी में प्रेरणा जैसी और कामोलिका जैसी लड़की नहीं आने दूंगी।

Advertisement

प्रेरणा की मां पुलिस वालों के संग जैसे ही घर पर पहुंचती है तभी प्रेरणा की मां पुलिस वालों को बताती है कि नीचे मेरा कमरा है और नीचे ही मेरे बेटे और बहू का कमरा है और ऊपर की तरफ मेरी दोनों बेटियां होती हैं पुलिस वाले चेक करना शुरू कर देते हैं अनुराग जब वहां पर खड़ा रहता है तभी प्रेरणा की भाभी अनुराग से कहती है कि वैसे तो तुम हमें अपना परिवार मानते हुए लेकिन तुम्हें हम पर इतना भी यकीन नहीं है अनुराग इस बात को सुनकर कुछ भी नहीं कह पाता सोनालिका पुलिस वालों के संग कमरों में चली जाती है और कहती है कि प्रेरणा तुमने घर को चेक करवाने के लिए जो कहा है तुमने गलत कर दिया है क्योंकि मैंने वह पैसे खिड़की से बाहर फेंके थे और वहीं से लेकर मैं तुम्हारे घर चली गई थी और मैंने जब तुम्हारी खिड़की खुला हुआ देखा तो मैं उस खिड़की के जरिए अंदर जा रही थी लेकिन मैंने वहां पर अनुराग को भी देख लिया था और मैं वह पैसे डेरोर में रखकर वहां से चुपचाप आ गई अब तुम्हारे कमरे में ही यह पैसे मिलेंगे तब अनुराग को पता चलेगा कि तुम कैसी हो।

अनुराग सोनालिका के पास आता है और सोनालिका से कहता है कि मुझे तुमसे कुछ बात करनी है सोनालिका अनुराग के संग चली जाती है तभी सोनालिका की नजर प्रेरणा के पापा की तस्वीर पर पड़ जाती है और उसे वो नीचे गिरने वाली होती है लेकिन उस तस्वीर को अनुराग बचा लेता है और सोनालिका को घूरने लगता है सोनालिका अनुराग से कहती है कि मैंने यह जानबूझकर नहीं किया है अनुराग सोनालिका से कहता है कि लेकिन तुम जो प्रेरणा के घर की चेकिंग करवा रही हूं तुम जानबूझकर करवा रही हो सोनालिका अनुराग जी कहती है कि तुम प्रेरणा पर बहुत ज्यादा भरोसा करते हो लेकिन मुझे उस पर शक है क्यों पैसे उसी नहीं चुराए हैं और मैं तुमसे वादा करती हूं कि अगर प्रेरणा के घर से पैसे नहीं मिलते हैं तो मैं इन सब से माफ़ी मांगी अनुराग इस बात के लिए राजी हो जाता है पुलिस वाले कहते हैं कि यहां की तो चेकिंग हो चुकी है।

सोनालिका पुलिस वालों को बता दी है कि लेकिन ऊपर का कमरा तो अभी चेक करने के लिए रह गया है सोनालिका पुलिस वालों के ऊपर के कमरों में चली जाती है पुलिस वाले कमरों में चेक कर रहे होते हैं तभी शिवानी के ऊपर चली जाती है और अनुराग भी उसके पीछे चला जाता है अनुराग कहता है कि जब मैं यहां पर आया था तू मेरे हाथों से यहीं पर एल्बम गिर गई थी अनुराग जब उसे एल्बम को देखता है तभी उसे उठा लेता है और चुपचाप उसे बाहर बालकनी में फेंक देता है सोनाली का जब देख रही होती है और वह बाहर चली जाती है उस एल्बम को उठाती है और उसमें से फोटो निकालकर अपने पर्स में रख लेती है तभी वहां पर शिवानी आ जाती है और सोनालिका से पूछती है कि तुम यहां पर क्या कर रही हो सोनालिका शिवानी से कहती है कि मैं तो यहां पर ऐसे ही आई थी आवा खाने के लिए सोनालिका इतना कहकर कमरे में दोबारा वापस चली जाती है पुलिस वाले अलमारी को चेक करने के लिए आगे बढ़ते हैं तभी शिवानी कहती है कि इसकी चाबी मेरे पास है शिवानी जैसे ही चाबी को लेने के लिए आगे बढ़ती है इतनी देर में कवर खुल जाता है पुलिस वाले कहती है कि यह तो कवर खुला हुआ है प्रेरणा और शिवानी यह सब देख कर चौक जाती है लेकिन कब्र में कुछ भी नहीं मिलता।

पुलिस वाले जब डेरोर को चेक करने के लिए वहां पर आते हैं पुलिस वाली यदि है कि लेकिन यह डेरोर नहीं खुल रहा है अनुराग सोनालिका के पास आता है सोनालिका से कहता है कि अब तुम्हारी चेकिंग हो गई अब तुम बस भी करो पुलिस वालों को वहां से जाने के लिए अनुराग कह देता है तभी सोनालिका अपने हाथों से उस डेरोर को खोल देती है और पुलिस वालों से कहती है कि यह खुल चुका है अब इसे चेक करो वहां पर वही बैग होता है पुलिस वाले को सुबह को देखते हैं सोनालिका नूरा को बुलाती है और कैसी है कि अनुराग देखो यह वही बैग है मैंने कहा था की प्रेरणा ने चोरी की है पुलिस वाले जब वह को खोल कर देखते हैं उसमें कुछ कपड़े रखे होते हैं सोनालिका यह सब देख कर चौक जाती है और कहती है कि इसमें जरूर पैसे कहीं और ही रख दिया होंगे लेकिन पैसे तो इसी बैंक में थी अनुराग सोनालिका से कहता है कि अब तुम्हें परिवार वालों से माफी मांगनी होगी सोनालिका कह दी है कि मैं माफी नहीं मांगी अनुराग करने की वजह से सोनालिका उन सब से माफी मांगती है लेकिन अनुराग सोनालिका से कहता है कि तुम्हें इन सब से हाथ जोड़कर माफी मांग ली होगी सोनालिका जोड़कर माफी मांगने लगती है और वहां से जाने की कोशिश करती है प्रेरणा उसे रोक लेती है और अनुराग को बताती है कि मैंने घर वालों को कहा था कि पैसे वहीं पर रखे होंगे लेकिन किसी ने मेरी बात नहीं सुनी अनुराग तुम्हें एक बार पुलिस वालों से कहो कि वह उस कमरे की तलाशी ले पैसे वहीं पर ही होंगे।

Advertisement