Internet Wala Love Serial Hindi Main 7 Nov 2018

 

Advertisement

Internet Wala Love

सीरियल – इंटरनेट वाला लव mai Aadhya घर पहुंचते हैं तो Jai के बारे में सोचती है Jai के गोली लगने के कारण Aadhya परेशान हो जाती है और कमरे से निकल जाती है और Jai दोस्तों के साथ बेटा होता है Jai को छोड़ते हैं और उसकी तारीफ करते हैं लेकिन Jai Aadhya के बारे में सोचता है वहां से जाने की कोशिश करता है तभी Jai के दोस्त उसे रोक लो इतने में Aadhya Jai के घर पहुंच जाती है और Jai की मां नींद से उठ जाती है और कमरे से निकल कर दरवाजे की ओर बढ़ती है

Advertisement

Jai की मां जैसे ही दरवाजा खोलती है तो वहां कोई भी नहीं होता वह इधर उधर देखती है Jai की मां सोचती है किसी ने उसके साथ मजाक किया है और दरवाजे बंद करके चली जाती है Aadhya को उसकी सहेली वहां से ले जाती है और उससे पूछती है उसे क्या हो गया है Aadhya की पहली कहती है मैंने तुझे बालकनी से देख लिया था इसलिए मैं वहां तुरंत आ गई Aadhya की पहेली कहती है की अगर कोई वहां तुझे देख लेता तो क्या सोचता

Aadhya जवाब देती है की मैंने तो कुछ भी नहीं सोचा और और भागते भागते यहां आ गई आपकी सहेली कहती है की जो लड़की हर काम सोच समझ कर करती है वह लड़की बिना सोचे समझे आधी रात को सड़कों पर घूम रही है इतना कहकर Aadhya को ले जाती है

Advertisement

Jai के दोस्त Jai से पूछते हैं की क्या सोच कर Aadhya को अगवा क्या Jai जवाब देता है की कुछ नहीं सोचा जो उस टाइम सही लगा वही मैंने किया Jai गुस्सा मैं कहता है क्या फायदा हुआ यह सब करने का मेरी इस हरकत से कुछ दिन के लिए सगाई तो टल गई लेकिन उसके बाद दोबारा सगाई की डेट फिक्स हो जाएगी Jai कहता है

Aadhya तो कुछ बोले Jai के दोस्त कहते हैं की Aadhya की जगह तू मना कर दे इस सगाई के लिए जब Aadhya को अगवा कर सकता है तो सबके सामने कह भी तो सकता है Aadhya Samrat से शादी नहीं करना चाहती Jai जवाब देता है कि तुम सब पागल हो गए हो मैंने अगर ऐसा किया तो सवालों के लाइन लग जाएगी लोग जाने क्या क्या मेरी बात का मतलब निकालेंगे और वैसे भी Aadhya की मेरी वजह से बहुत बदनामी हो चुकी है अब और कुछ नहीं कर सकता Jai के दोस्त कहते हैं तेरी तबीयत तो ठीक है 3 दिन पहले बिना सोचे समझे ट्रेन के सामने कूद जाता1 था और आज एक बात कहने के लिए अपना इतना सोच रहा है ऐसा 3 दिनों में क्या होगा

Aadhya की सहेली Aadhya से पूछती है ऐसा क्या खिला दिया है गुंडों ने जो इतना बदल गई है Aadhya सोच में पड़ जाती है और मन में सोचती है की इन सारे सवालों के जवाब Jai ही मुझे दे सकता है क्योंकि उसके पास मेरे हर सवाल का जवाब है Aadhya सुस्ती है की सुबह आकर जैसे बात करूंगी इससे सब ठीक हो जाएगा सुबह होते ही Aadhya Jai के घर पहुंचती है और दरवाजे पर Jai की मां मिलती है जैसे ही Jai की मां दरवाजा खुलती है चौक जाती है इतनी सुबह तुम यहां क्या कर रही हो Jai की मां Aadhya के कपड़े देखती है और कहती है कपड़े भी नहीं बदले और सुनाती है Aadhya जवाब देती है की वह कल इन्हीं कपड़ों में सो गई Aadhya कहती है की मेरा कुछ सामान यहां रह गया है तो मैं लेने आई हूं इतना कहकर Aadhya घर में आ जाती है और उसके पीछे Jai की मां आती है और Aadhya सुपर इधर उधर देखती है Jai कि मां को कुछ Aadhya के कपड़ों पर कुछ दिखाई देता है और कौन से से देखती है और कहती है कि यह टैग तो Jai के पॉकेट से बिल गिरा था इसी टैग का था और सोच में पड़ जाती है और सोचती है कि टैग हो दोबारा चेक करें

Aadhya इधर उधर देखती है सोचती है की Jai अभी तक सो रहा है और सुस्ती है की Jai की मां से कैसे पूछें और जैकी मां Aadhya के पीछे पीछे जाती है टैग को देखने के लिए इतने में नौकरानी वहां आ जाती है और नौकरानी जो जूस लेकर आती है Jai की मां उस जूस को उठा कर Aadhya को देती है लेकिन Aadhya जूस लेने से मना करती है लेकिन Jai की मां Aadhya को जबरदस्ती जूस देने की कोशिश करती है और इसी कोशिश में Aadhya के ऊपर किस जूस गिरा देती है और Aadhya से कहती है कि मैं इस ड्रेस को सांप करने की जिद करती है लेकिन Aadhya मना कर देती है Jai की मां कहती है की ड्रेस मैं दाग पड़ जाएगा और ड्रेस खराब हो जाएगी और जिद करके Aadhya को ले जाती है और Aadhya को अपनी एक ड्रेस पहनने के लिए दे देती है और Aadhya ड्रेस को लेकर चेंज कर लेती है और अपनी ड्रेस को लेकर बाहर निकलती है और कहती है की इस ड्रेस को घर पर साफ कर लेगी लेकिन Jai की मां Aadhya के हाथ से ड्रेस को छीन लेती है और कहती है की नहीं यह ड्रेस यही साफ हो जाएगी यह कहकर वहां से चली जाती है

Jai की मां स्ट्रेस के टैग को बिल से मिलाकर देखती है और बिल और टैग मिल जाती है स्कूल सीकर परेशान हो जाती है और कहती है की Jai ऐसा नहीं कर सकता और कैसी है की Jai से मिलकर सब बात क्लियर करने की कहती है और Aadhya Jai को इधर उधर देखती है इतने में Samrat वहां पर पहुंच जाता है और Aadhya से को देख कर रोक लेता है और कहता है कि इस वक्त तुम यहां Samrat Aadhya से कहता है अच्छा हुआ कि तुम ना आ गई मैं तुमसे ही बात करना चाहता था अकेले ना और कहता है कि उस दिन वहां से जब नहीं गुंडों के बीच तुम्हें छोड़कर निकला तो वहां पर तुम्हारे साथ कुछ बतमीजी की इतने में Jai महा पर पहुंच जाता है और Samrat की बातें सुन लेता है

Aadhya Samrat की बातों से हैरान हो जाती है और कहती हैं तुम्हें इतना ही पूछना था इतने में Jai को Aadhya देख लेती है और Samrat भी देख लेता है Aadhya Jai की तरफ देखती है तो Samrat गुस्से में आ जाता है और कैसा है वहां पर क्या देख रही हो और गुस्से में Jai Samrat की ओर बढ़ता है और वहां से चला जाता है Aadhya गुस्से में Samrat को जवाब दीजिए नहीं देना मुझे जवाब खासकर की इस बात का और वहां से चली जाती है Samrat पीछे से बुलाता है लेकिन Aadhya उसकी नहीं सुनती और चली जाती और Jai के पास पहुंचती है और कहती है तुम वहां से क्यों चले आए और पूछती है तुम्हारा हाथ के बारे में Jai लेकिन गुस्से में कोई जवाब नहीं देता और Aadhya पूछती है क्या हुआ Jai जवाब देता है देता है Aadhya से जब तुम्हें जाना चाहिए था जब तो तुमने कुछ कहा नहीं Aadhya Jai को समझाने कोशिश करती है लेकिन Jai नहीं सुनता और कहता है कि Samrat से तू कुछ नहीं कह सकती जब वह इतना वाहियात सवाल कर रहा था

Aadhya और Jai लड़ाई कर रहे हो तुम तभी वहां पर Jai की मां दरवाजे पर आ जाती है और Jai और Aadhya की बातें सुने लेती है इतने में ही Jai की मां का फोन गिर जाता है और Jai बाहर निकल कर देखता है लेकिन Jai को कोई नहीं दिखाई देता लेकिन यह सब Wi-Fi देख लेता है Jai की मां सुनकर वहां से चली जाती है लेकिन Wi-Fi Jai के दादा जी के पास जाता है और मेज पर रखा हुआ चश्मा उठाता है इतने में वहां पर Jai की दादी जी भी पहुंच जाती है Wi-Fi चश्मे को उठाकर वहां से चला जाता है और उसके पीछे पीछे चल पड़ते हैं Jai की मां Samrat कमरे में पहुंचती है और उसे लेकर Jai के कमरे की ओर बढ़ती है

 

Advertisement