Divya Drishti Upcoming Spoilers 17 November 2019 in Hindi

Divya Drishti Upcoming Spoilers 17 November 2019 में आज तक देखेंगे कि कैसे दिव्या को बचाने के लिए सारे घर वाले पिशाचनी की सेवा में लग जाते हैं और पिशाचनी से कहते हैं कि हम तुम्हारी सेवा हमेशा करते रहेंगे एक बार दिव्या को बचा लो सीना यह बात सुनकर खुश हो जाती है सारे घरवालों से कहती है कि ठीक है मैं तुम्हारी बात मान लेती हूं और दिव्या को बचाने के लिए तुम सबकी मदद कर देती हूं सारे घर वाले यह बात सुनकर बहुत ही ज्यादा खुश हो जाते हैं और पिशाचनी की सेवा करने और भी ज्यादा लग जाते हैं तभी जिला कहती है कि मैं दिव्या को बचा तो ली लेकिन उसे उम्र कैद से नहीं बचा पाऊंगी।

Advertisement

सारे घर वाले यह सुनकर हैरान रह जाते हैं और पिशाचनी से कहते हैं कि ऐसा क्यों तभी पिशाचनी बताती है कि मैं उसे उम्र कैद से नहीं बचा पाऊंगी इसलिए उसे अपनी पूरी जिंदगी नरक लोक में ही काटनी होगी सारे घर वाले यह बात सुनकर चौक जाते हैं तभी पिशाचनी पर इल्जाम लगाने के लिए पाताली को सारे घर वाले किडनैप कर लेते हैं पिशाचनी को जब यह पता लगता है कि पाताली गायब हो चुके हैं तभी वह यह सारी खबरें काल देवता को देने के लिए जाती है और सारे घर वालों को वहां पर इकट्ठा करके उन पर इल्जाम लगाते हैं कि सारे घरवालों ने मिलकर पाताली को किडनैप किया है अब आप ही इन सब को सजा दे दीजिए।

Advertisement

सारे घर वाले पाताली के किडनैप होने का इल्जाम पिशाचनी पर लगा देते हैं और काल देता से कहते हैं कि हमने पाताली को किडनैप नहीं किया है बल्कि खुद पिशाचनी ने उसे किडनैप किया है पिशाचनी काल देता से कहती है कि नहीं काल देता मैंने उसे किडनैप नहीं किया है बल्कि यह सब मुझे फंसाने की साजिश रच रहे हैं काल देता है इतना सुनकर गुस्से में आ जाते हैं और सारे घरवालों और पिशाचनी से कहते हैं कि अगर मेरी बेटी को तुम सब में से किसी ने किडनैप किया है तो उसका अंजाम अच्छा नहीं होगा।

Also Read – Divya Drishti Upcoming Spoilers in Hindi

Advertisement

सारे घर वाले पाताली को दुकानें की काफी ज्यादा कोशिश करते हैं और पिशाचनी अपने पास मुरारी को बुलाती है और उसे कहती है कि जो मैंने तुमसे करने के लिए कहा था तुमने किया या नहीं तभी मुरारी कहता है कि मैंने तुम्हारा काम किया था मैंने पाताली को किडनैप करने की कोशिश की लेकिन वह किडनैप नहीं हुई तभी यह बात सुनकर पिशाचनी और भी ज्यादा घबराने लगती है तभी सारे घर वाले मुरारी को ढूंढने के लिए लग जाते हैं इतनी देर वहां पर रोमी मुरारी को ढूंढते हुए वहां पर आ जाता है और पिशाचनी वहां से गायब हो जाती है मुरारी को कमरे में ले जाया जाता है।

रक्षत उससे कहता है कि तुम घर कमरे के बाहर मत जाना तुम्हारे लिए खतरा हो सकता है तभी सारे घर वाले उसे कहते हैं कि हां यह सही कह रहे हैं तुम हम सब की बात मानो और कमरे के बाहर मत जाना सारे घर वाले यह सोचते हैं कि पाताली अगर इस घर में रहेगी तो उसी ने एक न एक दिन इसे ढूंढ ही लेगी लेकिन हमें इस पाताली को घर से बाहर ले जाना ही होगा तभी पाताली को घर से बाहर ले जाने के लिए पिशाचनी के सामने एक ड्रामा खेला जाता है और सिमरन की तबीयत खराब होने का नाटक किया जाता है।

सिमरन पिशाचनी के ऊपर खून की उल्टियां करने लगती है पिशाचनी को यह बात सुनो देखकर बहुत ही ज्यादा गुस्सा आने लगता है तभी सारे घर वाले कहते हैं कि हमें सिमरन को घर से बाहर ले जाना होगा क्योंकि उसकी तबियत कुछ ज्यादा ही खराब है तभी सी लोकोक्ति और कहती है कि कोई घर से बाहर नहीं जाएगा तभी सारे घर वाले कहते हैं कि ठीक है मैं कमरे में लेकर जा रहा हूं तुम वहीं पर डॉक्टर को बुला लो कुछ देर के बाद पिशाचनी वहां पर डॉक्टर को बुला लेती है और डॉक्टर जैसे ही अंदर चेकअप करने के लिए जाता है तभी वह चेक करती है और कहती है कि यह तो बिल्कुल ठीक है ।

पिशाचनी यह बात सुनकर हैरान रह जाती है इतनी देर में सिमरन दोबारा खून की उल्टियां डॉक्टर के ऊपर कर देती है डॉक्टर जैसे उनको देखता है और उससे कुछ कहने वाला होता है तभी रक्षत उसे कमरे से बाहर ले जाता है और कहता है कि तुम्हें इलाज करना नहीं आता है इसलिए तुम यहां से जाओ हम किसी और डॉक्टर को बुला लेंगे रक्षत और दिव्य दृष्टि पाताली को घर से बाहर ले जाने में कामयाब हो जाते हैं इतनी देर में पिशाचनी को पता लग जाता है कि पाताली उन्हीं के पास है और वह घर से बाहर लेकर जा चुकी हैं तभी पाताली इतनी पीछे पीछे सिला भी वहां पर पहुंच जाती है।

और उन सब को रोकने की कोशिश करती है तभी पिशाचनी उनसे कहती है कि तुम सब ने मुझे धोखा देने की कोशिश की है तुम सब मुझे धोखा दे रहे थे असल में तुमने ही पाताली का किडनैप किया था अब मैं यह सारी बातें मैं कल देता को बता कर ही रहूंगी पिशाचनी यह सारी बातें काल देता को बता देती है तभी काल देवता दिव्या को गलत ठहराते हैं और उसे सजा दे देते हैं कि दिव्या को उम्र कैद की सजा सुनाई जाती है और उसे जिंदगी भर इस नरक लोक में ही रहना होगा दिव्या जब सुनती है तो हैरान रह जाती है और दृष्टि के गले लग कर रोने लगती है।

Advertisement